मुंबई को पुर्तगालियों ने ब्रिटिशर्स को तोहफे में दिया था – क्या आप जानते हैं?

मुंबई को भारत की माया नगरी के नाम से भी जाना जाता है। यहाँ हर वर्ष लाखों लोग अपनी किस्मत आज़माने आते है। कई वर्षों से मुंबई भारत का एक अभिन्न अंग रहा है। मगर मुंबई के बारे में कुछ ऐसी बातें भी है जो शायद आप नहीं जानते होंगे।

बात सन 1534 की है जिस समय पुर्तगालियों का मुंबई पर वर्चस्व था उस समय पुर्तगाली सेना ने बहादुरशाह और गुजरती सल्तनत से संधि कर व्यापर के सभी समझोते तय कर लिए। उस समय से मुंबई को कई नाम दिए गए जिनमे से एक नाम बैम्बियन भी था।

पर कुछ समय बाद सभी क्रिया कलाप बदल से गए सन 1583 में पुर्तगालियों ने ब्रिटिश सेना की वजह से मुंबई पर अपना वर्चस्व खोना शुरू कर दिया था। ब्रिटिश सेना का मुंबई में रूचि दिखाने का मुख्य कारण था यहाँ के पोत जिनकी वजह से व्यापर में काफी आसानी होने वाली थी।

सन 1612 में सूरत में ब्रिटिश और पुर्तगाली सेना के बीच जंग हुई जिसकी वजह से कुछ समय बाद पुर्तगलियों ने भारत पर अपनी पकड़ खोनी शुरू कर दी और भारत पर ब्रिटिशर्स का एक मात्र राज हो गया। इसी बीच मुंबई को किंग चार्ल्स -2 को तोहफे के रूप में दे दिया गया क्योंकि उन्होंने पुर्तगाली रानी कैथरीन से शादी कर ली थी।

हमारे इतिहास में कई ऐसी बातें हैं जिनका मुख्य रूप से उल्लेख कहीं नहीं होता। हमारा मुख्य उद्देश्य यही है की हम आपको इन जानकारियों से अवगत कराते रहें।

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment