क्या आप जानते है की गूगल का लोगो रंगबिरंगा क्योँ है ?

अगर आप इंटरनेट का इस्तेमाल करते है तो ऐसा हो ही नहीं सकता की आपने गूगल का इस्तेमाल नहीं किया हो। मगर क्या कभी आपने सोचा है की गूगल का लोगो इतना रंगबिरंगा क्योँ है ? क्या इसके पीछे कोई तथ्य छुपा है जिस से आप अनजान है। तो चलिए आज हम आपको इस तथ्य के बारे में जानकारी देते है जिस से आपको गूगल के लोगो के रंगों के बारे में पता चलेगा।

1. गूगल के लोगो का रंगबिरंगे होने का कारणों में से एक कारण यह है की इस कंपनी में कोई रूल नहीं है। इसी बात को अलग अलग रंग और इनके पैटर्न्स से बताया गया है। विभिन्न रंग यानि हर्ष उल्लास से काम करने वाली जगह।

2. गूगल के लोगो में हर शब्द का अलग रंग है है इसके पीछे के तत्थ्य को उजागर करते हुए कंपनी ने यह बताया की पहले 1 , 2 , 3, और 4 रंगों को प्राइम के हिसाब से नीला , लाल , पीला और हरा रंग दिया गया है। बाकि के अक्षरों को कम्पोसिट नंबर होने के कारन अलग रंग दिया गया है।

3. सही मायनो में देखा जाये तो आपको यह समझ आएगा की गूगल के लोगो के कलर को RGB के सिद्धांत पर रखा गया जिसमें यह रंग ही आपके कंप्यूटर की स्क्रीन को बाकि रंगों में विभाजित करते है।

4. अभी गूगल के लोगो को निम्न दिए गए रंगों में विभाजित किया गया है।

G = blue

o = red

o = yellow

g = blue

l = green

e = red

5. गूगल का पहला सर्वर ईटों से बनाया गया था इसी वजह से इस सर्वर को भी लोगो के रंग में रंग दिया गया।

हम आशा करते है की यह जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी होगी। आपके द्वारा दिए गए सुझाव हमारे लिए महत्वपूर्ण है।

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment