दोबारा रक्तदान कितने समय बाद किया जा सकता है?

अक्टूबर 1, 2018

रक्तदान को महादान कहा जाता है। एक बार रक्तदान करके तीन लोगों की जान बचायी जा सकती है और रक्तदान करने वाले के स्वास्थ्य पर इसका कोई विपरीत प्रभाव भी नहीं पड़ता है। आज हम आपको बताएँगे एक स्वस्थ व्यक्ति एक बार रक्तदान करने के बाद वापस दोबारा रक्तदान कितने समय के बाद कर सकता है। उससे पहले हम आपको रक्त और रक्तदान से जुड़ी कुछ जानकारियाँ देते हैं-

14 जून को कार्ल लैंडस्टीनर का जन्मदिन आता है जिन्होंने ABO ब्लड ग्रुप सिस्टम की खोज की थी। उन्हें सम्मान देने के लिए हर साल 14 जून को ‘विश्व रक्तदान दिवस’ के रूप में मनाया जाता है ताकि पूरी दुनिया को ब्लड डोनेट करने के प्रति जागरूक किया जा सके और उन ब्लड डोनर्स को धन्यवाद भी दिया जा सके जिन्होंने समय-समय पर ब्लड डोनेट करके बहुत से लोगों को जीवन दान दिया है।

रक्त एक तरल संयोजी ऊतक है जो हमारे शरीर में ऑक्सीजन और पोषक पदार्थों का परिवहन करता है। एक स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में लगभग 5 से 6 लीटर ब्लड पाया जाता है जो हमारे शरीर के कुल वजन का 7% होता है।

ब्लड डोनेट करने वाले व्यक्ति को भी इस रक्तदान से फायदा मिलता है क्योंकि डॉक्टर्स के अनुसार, ब्लड डोनेट करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और ब्लड पतला होता है जिससे हार्ट पर दबाव नहीं पड़ता है और हार्ट अटैक का ख़तरा कम हो जाता है। ब्लड डोनेट करने से शरीर में ब्लड बनने की प्रक्रिया में तेजी भी आती है।

ऐसा व्यक्ति रक्तदान कर सकता है जिसका-

रक्तदान के प्रकार – Whole blood, Platelets, Plasma Donation, Double Red cells. इनमे से सामान्यतया Whole blood donate किया जाता जाता है। इसमे लगभग 1 घंटे का समय लगता है।

अगर कोई व्यक्ति स्वस्थ है और दोबारा रक्तदान करता है तो-

हमने आपसे सिर्फ ज्ञानवर्धक जानकारी साझा की है। दोबारा रक्तदान से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर ले। सदैव खुश रहे और स्वस्थ रहे।

“सेब का सिरका के फायदे”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें