71 वर्षीय ये व्यक्ति खुद अपने लिए बनाता है बिजली

227

आज जहाँ लोग आधुनिक वस्तुओं के इस्तेमाल की तरफ भाग रहे हैं वहीँ 71 वर्षीय डॉ. सुरेश ने अपने लिए एक ऐसा ख़ास घर बनाया है जिसमे किसी भी आवश्यकता के लिए किसी और पर निर्भर नहीं रहना पड़ता।

डॉ. सुरेश का ये घर बायोगैस प्लांट, छत पर सोलर पॉवर प्लांट, और सब्जियों के एक बगीचे से लैस है। इन्हें ना तो बिजली जाने की चिंता है और ना सब्जियों की ये सोलर प्लांट से खुद ही घर के लिए बिजली बना लेते हैं और घर के पीछे की तरफ बनाये गए बगीचे में अपनी जरुरत की सभी सब्जियां उगा लेते हैं।

डॉ. सुरेश अपने परिवार के साथ चेन्नई के किल्पौक में रहते हैं। डॉ. सुरेश ने आईआईटी मद्रास और आईआईएम-ए से स्नातक हैं और ये अपने लिए ऐसा इको-फ्रेंडली घर बनाकर दूसरे लोगों के लिए प्रेरणा का एक स्त्रोत बने हैं।

डॉ. सुरेश ने जॉब के समय ही अपने लिए ऐसा घर बनाने का निर्णय ले लिया था, और इन्हें ये आईडिया तब आया जब ये अपनी जॉब के चलते ऑफ़िशियल ट्रिप्स पर जर्मनी गए थे तब वहां इन्होंने देखा की लोग सोलन पैनल का इस्तेमाल करते हैं ताकि खुद के लिए जरुरत की बिजली पैदा की जा सके और इसके लिए दूसरों पर निर्भर ना रहना पड़े।

इस सोलर पैनल को लगाने की कुल लागत आई मात्र 2.5 लाख रूपए जिसमे 80000 सब्सिडी चार्ज था। इन्होंने अपने घर पर 2kw का सोलर पैनल प्लांट लगा रखा है जिससे इनके घर के 11 पंखे और 25 लाइट्स, एक रेफ्रिजरेटर, 2 कंप्यूटर, 1 वाटर पम्प, 2 टीवी, 1 मिक्सर ग्राइंदर, 1 वाशिंग मशीन और एक इनवर्टर एसी आराम से चल जाते हैं। डॉ. सुरेश के अनुसार सोलर पैनल लगाने के बाद उन्हें कभी भी बिजली से सम्बंधित कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा।

Source

Add a comment