धरती के सबसे कम आबादी वाले 10 शहर

कहा जाता है धरती गोल है जिसका कोई छोर नहीं लेकिन उत्तर को देखकर ऐसा लगता है मानो धरती यहीं खत्म हो रही है क्योंकि यहां के शहरों में लोगों की बसावट किसी कॉलोनी से भी कम है। यहां के शहरों में बहुत ही ज्यादा ठंड पड़ती है साथ ही यहां का मौसम और हालात रहने लायक नहीं हैं जिस कारण यहां बहुत कम आबादी है। आइए जानते हैं इन सबसे कम आबादी वाले शहरों के बारे में और इनकी आबादी के बारे में –

1. ने-अलेजुंड, नॉर्वे, आबादी: 35

नॉर्वे के ने-अलेजुंड शहर में सिर्फ 35 लोग रहते हैं। यहां इतनी ठंड पड़ती है कि यहां रहना लगभग नामुमकिन है।

2. पिरामिडेन, नॉर्वे, आबादी: 4-15

नॉर्वे के एक और शहर पिरामिडेन में भी जबरदस्त ठंड होती है। यहां पर भारी बर्फबारी भी होती है इसी कारण यहां रहना हर किसी के बस की बात नहीं। आपको जानकर आश्चर्य होगा इस शहर की आबादी सिर्फ 4 से 15 लोगों की है।

3. लॉन्गईयरबायन, नॉर्वे, आबादी: 2075

नॉर्वे का एक और शहर है जहां हद से ज्यादा ठंड होती है इसी कारण यहां रहना हर किसी के लिए संभव नहीं है। यहां की आबादी है सिर्फ 2075।

4. बारेंट्सबुर्ग, नॉर्वे, आबादी: 470

नॉर्वे का ही एक और शहर है बारेंट्सबुर्ग जहां सिर्फ 470 लोग रहते हैं।

5. कानाक, डेनामार्क, आबादी: 656

डेनामार्क के कानाक शहर की आबादी सिर्फ 656 है।

6. ग्रीजे फियोर्ड, कनाडा, आबादी: 130

कनाडा के ग्रीजे फियोर्ड नाम के शहर में इतनी बर्फबारी और ठंड होती है कि यहां रहना किसी के बस की बात नहीं है इसी कारण यहां की आबादी सिर्फ 130 है।

7. रेजॉल्यूट, कनाडा, आबादी: 229

कनाडा का ही एक और शहर है रेजॉल्यूट और यहां भी भारी बर्फबारी होती है और इतनी ठंड के कारण ही यहां सिर्फ 229 लोगों की ही आबादी रह गई है।

8. डिक्सन, रूस, आबादी: 676

रूस का डिक्सन शहर बिल्कुल भी रहने के अनुकूल नहीं है। यहां जबरदस्त ठंड और बर्फबारी होती है और इसी कारण यहां सिर्फ 676 लोग ही रहते हैं।

9. आर्कटिक बे, कनाडा, आबादी: 823

कनाडा के आर्कटिक बे शहर में रहना भी हर किसी के बस की बात नहीं है। यहां जबरदस्त ठंड और बर्फबारी होती है और इसी कारण यहां अब सिर्फ 823 लोगों की ही आबादी बची है।

10. उपरनाविक, डेनमार्क, आबादी: 1182

डेनमार्क का उपरनाविक शहर भी रहने लायक नहीं है इसी कारण यहां अब सिर्फ 1182 लोगों की आबादी रह गई है।

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment