दुनिया के 8 सबसे खतरनाक रेल रूट जहां से गुजरना खतरे से खाली नहीं

यूँ तो ट्रेन में सफर करना सबसे आरामदायक और मजेदार सफर होता है, लंबा सफर, खूबसूरत नजारे और अपनों के साथ बैठकर गपशप करना बहुत ही मजेदार अनुभव होता है। लेकिन कई बार ट्रेन का यह मजेदार सफर बेहद खतरनाक भी साबित होता है। जब भी किसी अंधेरी टनल से ट्रेन गुजरती है तो लोगों की सांसे थम जाती है या फिर किसी गहरे पुल के ऊपर से जब ट्रेन गुजरती है तो लोगों मन में डर बना रहता है।

आज हम आपको दुनिया के कुछ ऐसे ही खतरनाक रेल रूट के बारे में बताएंगे जहां से गुजरते समय लोगों की सांसें थम जाती है और लोग ऐसे रास्तों को सही सलामत पार करने की दुआ करते रहते हैं। आइए जानते हैं दुनिया के इन सबसे खतरनाक रेल रूट के बारे में।

चेन्नई-रामेश्वरम रूट, भारत

1914 में बनाया गया यह पुल चेन्नई और रामेश्वरम को जोड़ता है। यह पुल एक विशालकाय समुद्र के ऊपर बना है और इस पुल की लंबाई है 2.06 किमी। जब इस ब्रिज के नीचे से जहाज गुजरते हैं तो इस ब्रिज को खोल दिया जाता है। यहां की बड़ी-बड़ी समुद्री लहरें और समुद्री तूफानों के कारण इस पर हमेशा खतरा मंडराता रहता है। यह ब्रिज कंक्रीट के 145 स्तंभों पर टिका हुआ है। इस पुल के ऊपर से ट्रेन पर सफर करना रोमांचकारी तो होता है लेकिन साथ ही लोगों में डर भी बना रहता है।

ट्रेन ए लास नुबेस, अर्जेंटीना

ये ट्रैन रुट एंडीज पर्वतमाला से होकर गुजरते हुए उत्तर पश्चिमी अर्जेंटीना से होता हुआ चिली की सीमा तक जाता है। ये ट्रैन रुट 1948 में बनाया गया था जिसे बनाने में करीब 27 सालों की मेहनत लगी थी। ये ट्रैन रुट जिगजैग आकार में बना है जिस पर 29 पुल, 21 सुरंगें और 13 इनलैंड ब्रिज बनाये गए हैं। 4,220 मीटर की ऊंचाई पर बने इस ट्रैन रुट को बनाते समय इंजीनियरों और कामगारों को हमेशा जान जाने का खतरा बना रहता था।

जॉर्जटाउन लूप रेलरोड, अमेरिका

होने में तो ये ट्रैन रुट सिर्फ 7.2 किलोमीटर का ही है लेकिन ये रास्ता बेहद संकरा है जिस पर चलते समय हर वक्त डर बना रहता है। 640 फुट की खड़ी चढ़ाई के बीच बना ये ब्रिज 1877 में बनाया गया था। यहाँ से ट्रैन गुजरते समय लोग नीचे देखने की हिम्मत भी नहीं कर पाते। इस रस्ते में कई घुमावदार और तीखे मोड़ हैं जिन पर बहुत ही सावधानी से गुजरना होता है वरना हादसा होने की सम्भावना बनी रहती है।

व्हाइट पास, अलास्का, अमेरिका

ये रेल रुट भी काफी खतरनाक है क्योंकि इसके एक तरफ चट्टान है तो दूसरी तरफ गहरी खाई। सन 1900 में बनाये गए इस रेल रुट की कुल लंबाई है लगभग 176 किलोमीटर। लेकिन 1982 में यहाँ एक कोयला उद्योग के धंसने के कारण इसे बाद में बन्द कर दिया गया। हांलाकि 1988 में इसे पर्यटन के लिए फिर से खोल दिया गया लेकिन यहाँ से गुजरते समय पर्यटकों की सांसें अटकी रहती हैं।

कुरैंडा सीनिक रेलरोड, ऑस्ट्रेलिया

विश्व धरोहर बैरन नेशनल पार्क और मैकएलिस्टर रेंज को जोड़ने वाले इस रास्ते की लंबाई है करीब 34 किलोमीटर जो घने उष्णकटिबंधीय वर्षावन से होकर गुजरता है। इस रास्ते में कई खूबसूरत प्राकृतिक नज़ारे और झरने देखने को मिलते हैं लेकिन साथ ही इस रास्ते में कई तीखे मोड़ और गहरी खाइयां भी आती हैं जहाँ से होकर गुजरना काफी भयावय होता है, इन रास्तों से होकर गुजरते समय लोगों की सांसें अटकी रहती हैं।

डेविल्स नोज, इक्वाडोर

यह ट्रैन रुट एंडीज पर्वतमाला में अलाउसी और सिबाम्बे के बीच बना है और होने में ये सिर्फ 12 किलोमीटर लंबा है लेकिन यहाँ से गुजरते समय लोगों की सांसें थम जाती है क्योंकि ये रास्ता समुद्र तल से 9,000 फुट ऊपर बना है और इस रास्ते में कई ऊंची खड़ी चढ़ाई, तीखी ढलान और खतरनाक घुमावदार रास्ते आते हैं जहाँ से गुजरते समय लोग भयभीत रहते हैं।

लिंटन एंड लिनमाउथ क्लिफ, यूके

यह रेलवे लाइन लिनमाउथ और लिंटन कस्बे को जोड़ती है और ये लाइन बहुत ही ज्यादा संकरी है। 862 फुट ऊंचाई पर बनी इस लाइन से जब ट्रैन गुजरती है तो यात्रियों की सांसें थम जाती हैं। इस लाइन को 1990 में बनाया गया था जो वाकई एक बेहतरीन इंजीनियरिंग का नमूना है।

कम्ब्रेस एंड टोलटेक सीनिक रेलरोड, न्यू मेक्सिको

यह रेलवे लाइन 1880 में बनाई गई थी जो अमेरिका की सबसे ऊंची रेलवे लाइन है। अमेरिका के न्यू मेक्सिको प्रांत में बना ये रेल रुट रॉकी पर्वतमाला से होकर गुजरता है और इस रुट पर चलने वाली ट्रेनों की ख़ास बात ये है की यहाँ आज भी कोयले और भाप इंजन से चलने वाली ट्रेनें चलती हैं।

“भारत का सबसे खतरनाक राज्य है नागालैंड, जानिए क्यों”
“दुनिया के सबसे खतरनाक रासायनिक हथियार”
“दुनिया की 10 सबसे खतरनाक महिला गैंगस्टर्स”