दुनिया की ये जगहें, जहाँ लोगों का मरना है मना … जानिये क्यों ?

365

आपने ये तो ज़रूर सुना होगा कि डरना मना है, लेकिन क्या आपने ये सुना है कि मरना मना है? कहा जाता है कि जन्म और मरण किसी के हाथ में नहीं होता। चाहे कोई कितना भी शक्तिशाली हो या फिर दुर्बल, जीवन और मृत्यु का नियम सभी के लिए एकसमान है। किसी भी इंसान की इच्छा या किसी भी देश की सीमा इस जीवन मृत्यु के बीच नहीं आ सकती लेकिन ये जान कर आप ज़रूर चौंक जाएंगे कि दुनिया में ऐसी भी कुछ जगहें मौजूद है जहाँ अलग अलग कारणों के चलते मरने की इजाज़त नहीं है। तो चलिए, आज आपको बताते है दुनिया की ऐसी हैरतअंगेज़ जगहों के बारे में –

लॉन्गयेरब्येन, नॉर्वे
नॉर्वे के लॉन्गयेरब्येन शहर में कड़ाके की ठण्ड पड़ती है। यहाँ केवल दो हज़ार लोग ही निवास करते हैं। यहाँ पिछले 70 सालों में किसी की मौत नहीं हुई और यहाँ इतने वर्षों में कोई अंतिम संस्कार नहीं किया गया है। अगर किसी की मृत्यु होती भी है तो उसका शव नष्ट नहीं होता बल्कि जस का तस रहता है। वर्ष 1917 में यहां एक आदमी की इन्फ्लुएंजा से मौत हो गई थी जिसके वायरस उसके शव में वर्षों तक जमे रहे । इसके बाद से ही प्रशासन ने निर्णय लिया कि इस शहर में किसी की मृत्‍यु नहीं होनी चाहिए और इसलिए इस शहर में जब भी कोई व्यक्ति मरणासन्‍न होता है तो उसे हेलिकॉप्‍टर से दूसरी जगह ले जाया जाता है जहाँ उसका अंतिम संस्‍कार किया जाता है।

सरपौरेक्स, फ्रांस
फ्रांस का एक खूबसूरत शहर है सरपौरेक्स, लेकिन यहाँ भी किसी को मरने की इजाज़त नहीं है और इसके पीछे कारण रहा कब्रिस्तान के बढ़ने पर रोक लगना। शव को दफ़नाने के लिए कब्रिस्तान में जगह नहीं बच पाने के कारण यहाँ की सरकार ने ये कानून बना दिया कि ना तो कब्रिस्तान का विस्तार किया जायेगा और ना ही यहाँ किसी को मरने की इजाज़त दी जाएगी।

बिरिरिबा-मिरिम, ब्राजील
पर्यावरण के प्रति चिंता व्यक्त करते हुए, ब्राज़ील के इस शहर के मेयर ने 2005 में एक पब्लिक बिल पास कर दिया जिसके तहत पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए, इस शहर के लोगों के यहाँ मरने पर प्रतिबंध लगा दिया गया।

ले लवेंडौ, फ्रांस
फ्रांस के इस शहर में भी मरने की अनुमति नहीं हैं। इसका कारण ये रहा कि जब यहाँ के महापौर को समुद्र किनारे कब्रिस्तान बनाने की अनुमति नहीं दी गयी तो उन्होंने एक बिल पारित करके यहाँ के निवासियों के मरने पर रोक लगा दी। यहाँ मरने वाले लोगों को उनके पैतृक स्थान ले जाया जाता है।

कग्नौक्स, फ्रांस
फ्रांस के इस स्थान पर जगह की कमी होने के कारण मरने पर रोक लगायी गयी है।

सेलिया, इटली
इटली के इस द्वीप पर 500 से ज़्यादा लोग निवास करते हैं जिनमें से अधिकांश लोगों की उम्र 60 साल से ज़्यादा हो चुकी है। यहाँ के मेयर ने जनता के स्वास्थ्य के प्रति चिंता जताते हुए नियमित हेल्थ चेकअप अनिवार्य कर दिया है। लोग अपनी सेहत का ख़्याल रखे और बीमार न पड़े, इसलिए यहाँ मरने पर प्रतिबन्ध लगाया गया है।

फाल्सीआनो डेल मैसिको
इस शहर की समस्या भी कम आबादी का होना ही है, इसलिए यहाँ भी मरने पर रोक लगायी गयी है और यहाँ के लोग मरने के लिए दूसरे शहर चले जाते हैं।

इत्‍सुकुशिमा, जापान
जापान के इस द्वीप पर 1878 के बाद से जन्म और मृत्यु पर प्रतिबन्ध है। इस द्वीप को शिंटोज्मि धर्म में सबसे पवित्र स्‍थान माना जाता हैं और इसकी पवित्रता बनी रहे, इसके लिए इस धर्म के अनुयायी ये प्रबंध करके रखते हैं कि यहाँ किसी की मृत्यु न हो।

लंजारोन, स्पेन
स्पेन में स्थित लंजारोन के एंडलूसियन गांव में लगभग 4000 लोग निवास करते हैं और यहाँ के लोगों के सामने भी इन दिनों यहीं समस्या खड़ी है कि अंतिम संस्कार और दफनाने के लिए जगह कहाँ से लाए और इस समस्या का समाधान मिलने तक, प्रशासन ने यहाँ मरने पर रोक लगा दी है।

आज तक आप ये ही सोचा करते थे ना कि जीना बड़ा ही मुश्किल होता है लेकिन इन चौंका देने वाली जगहों के बारे में जानने के बाद आप ये समझ ही गए होंगे कि मरना भी आसान नहीं है। तो बस, अब ज़िन्दगी को एक नए और बेहतर नज़रिये से देखना शुरू कर दीजिये क्यूँकि खुश रहना मना नहीं है।

“दुनिया की इन जगहों पर महिलाओं की नो एंट्री है”
“दुनिया की 10 सबसे हैरतअंगेज जगहें”
“दुनिया की 9 रहस्यमयी जगह जहां हम नहीं जा सकते”

Add a comment