दुनिया की टॉप 10 फार्मा कंपनियां

85

शरीर में कोई भी परेशानी होने पर आप तुरंत मेडिकल स्टोर जाकर दवाई खरीद लेते हैं लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि कौनसी फार्मा कंपनियां इन दवाइयों को बनाती हैं उनका बिजनेस कितना बड़ा है। बहुत कम लोगों को फार्मा कंपनियों और उनके टर्नओवर के बारे में पता होता है। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि कई दवा कंपनियां किसी सॉफ्टवेयर या आईटी कंपनी से कई गुना ज्यादा बिजनेस करती हैं।

इस आर्टिकल में हम आपको दवा उद्योग से जुड़ी दुनिया की 10 बड़ी कंपनियों के बारे में बता रहे हैं। आइये जानते हैं उन कंपनियों के नाम और कितना है उनका टर्नओवर।

1. जॉनसन एंड जॉनसन: जॉनसन एंड जॉनसन 1986 में स्थापित अमेरिका की मल्टीनेशनल फार्मा कंपनी है। इसमें 126,500 कर्मचारी काम करते हैं। इस कंपनी की आय लगभग 74.3 बिलियन अमेरिकी डॉलर है। जॉनसन एंड जॉनसन मुख्य रूप से एड्स, गठिया, पेट और हेपेटाइटिस सी से सम्बंधित दवाइयां बनाती है।

2. नोवार्टिस: नोवार्टिस विश्व की बड़ी फार्मा कंपनियों में से एक है। नोवार्टिस स्विट्जरलैंड की 1996 में स्थापित फार्मा कंपनी कंपनी है। इसकी आय लगभग 57.99 यूएस डॉलर है। इसमें लगभग एक लाख से ज्यादा कर्मचारी हैं और लगभग सौ से अधिक देशों में इसका बिजनेस है।

3. फाइजर: फाइजर इस समय दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी फार्मा कंपनी है और इसकी आय लगभग 49.61 बिलियन डॉलर है। यह 1849 में स्थापित यूएस बेस्ड कंपनी है। वैक्सीन बनाने में फाइजर का विश्व फार्मा मार्केट में बहुत नाम है।

4. रॉश: रॉश कैंसर के इलाज संबंधी दवाइयां बनाने के लिए जानी जाती है। यह स्विट्जरलैंड बेस्ड 1896 में स्थापित फार्मा कंपनी कंपनी है। इसकी आय लगभग 47 बिलियन डॉलर है और यह दुनिया की चौथी सबसे बड़ी फार्मा कंपनी है। रॉश का 80 से अधिक देशों में बिजनेस है।

5. बायर: बायर की स्थापना वर्ष 1863 में जर्मनी में हुई थी। यह कंपनी मनुष्य की दवाइयां बनाने के अलावा कृषि के क्षेत्र में भी कई तरह के केमिकल्स यानी रसायन का उत्पादन करती है। इसकी आय लगभग 45 बिलियन डॉलर है।

6. मर्क एंड कंपनी: यह 1891 में स्थापित अमेरिका की कंपनी है। इसकी आय लगभग 42 बिलियन डॉलर है। इसमें 60,000 से ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं और 70 से अधिक देशों में इसका व्यापार है।

7. सनोफी: सनोफी वर्ष 2004 में स्थापित फ्रांस की कंपनी है। इसमें एक लाख से ज्यादा लोग काम करते हैं और इसकी सालाना आय लगभग 36.73 बिलियन डॉलर है। सनोफी का व्यापार सौ से अधिक देशों में होता है।

8. ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन (जीएसके): ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन मुख्य रूप से पेट, डायबिटीज, सांस की बीमारी और ह्रदय संबंधी दवाइयां बनाती है। यह 2000 में स्थापित यूनाइटेड किंगडम की कंपनी है। इसकी आय लगभग 34.50 बिलियन डॉलर है। सौ से अधिक देशों में बिजनेस करने वाली यह कंपनी एक समय नंबर एक की श्रेणी में होती थी लेकिन अभी यह आठवें स्थान पर है।

9. एस्ट्राजेनेका: एस्ट्राजेनेका वर्ष 1999 में स्थापित हुई थी। यह ब्रिटेन की कंपनी है और इसकी वार्षिक आय लगभग 26 बिलियन यूएस डॉलर है। इसमें लगभग 50,000 कर्मचारी काम करते हैं। यह लगभग 90 से अधिक देशों में फैली हुई फार्मा कंपनी है।

10. गिलीड साइंस: यह 1987 में स्थापित हुई यूएसए की कंपनी है। यह मुख्य रूप से एचआइवी, हेपेटाइटिस बी और हेपेटाइटिस सी से सम्बंधित दवाइयां बनाती है। हेपेटाइटिस सी की दवा सोवाल्दी की बिक्री की वजह से यह शीर्ष दस कंपनियों में शामिल हुई है। इसकी आय लगभग 24 बिलियन डॉलर है।

“दिग्गज कंपनियां जो हो गई दिवालिया”
“सबसे ज्यादा हथियार बेचने वाली कंपनियां”
“घर बैठे ऑनलाइन पैसे कमाना चाहते हैं तो ये तरीके अपनाएं”

Add a comment