फास्ट फूड खाएं या ड्रग्स लें बराबर है, जानिए इनके दुष्प्रभाव

फास्ट फूड आजकल लोगों का फैशन सा बन गया है। घर का खान कम और फ़ास्ट फ़ूड ज्यादा लेते हैं लोग। लेकिन ये फास्ट फूड हमारे शरीर के लिए कितना नुकसानदायक है इसका शायद आपको अंदाजा भी नहीं है। क्या आपको पता है अगर आप फास्ट फूड खाते हैं तो ये आपको उतना ही नुक्सान पहुंचता है जितना ड्रग्स। आप भी जानिए फास्ट फूड से होने वाले नुक्सान।

डोपेमाइन – ड्रग्स की तरह जंक फ़ूड भी ब्रेन हार्मोन डोपेमाइन रिलीज करते हैं, इससे ब्रेन में हैप्पी सिग्नल्स जाते हैं और जंक फ़ूड को बार बार खाने का मन होता है।

छोड़ने पर तकलीफ – जैसे ड्रग्स छोड़ने पर सिरदर्द, पेट दर्द और जैसे लक्षण होते हैं उसी तरह जंक फ़ूड पूरी तरह छोड़ने से भी झल्लाहट और दांत पीसने जैसे लक्षण दिखाई देते हैं।

फिजिकल हेल्थ – जंक फ़ूड में मौजूद शूगर और रिफाइंड आयल दिल की बिमारियों और डायबिटीज के लिए जिम्मेदार होते हैं। इसी तरह ड्रग्स का भी पूरी बॉडी पर नेगेटिव असर होता है।

क्रेविंग – भूख नहीं लगने पर या पेट भर जाने पर भी जंक फ़ूड खाने का मन होता है जैसे ही जैसे ड्रग्स में होता है। जंक फ़ूड ब्रेन में क्रेविंग के सिग्नल भेजते हैं जिससे भूख लगने जैसा फील होता है।

सेटिस्फेक्शन नहीं – बहुत ज्यादा मात्रा में जंक फ़ूड खाने से ब्रेन को इसकी आदत पड़ जाती है और फिर कम खाने से सेटिस्फेक्शन नहीं मिलता और इसे बार बार खाने का मन करता है।

मेडिकल क्राइटेरिया – ड्रग एडिक्शन का पता लगाने के लिए सिम्पटम्स पर आधारित जो मेडिकल क्राइटेरिया होता है, जंक फ़ूड एडिक्ट्स भी उस क्राइटेरिया पर फिट होते हैं।

ब्लड सर्कुलेशन – ड्रग लेने से दिमाग के जिस भाग का ब्लड सर्कुलेशन तेज हो जाता है उसी भाग का सर्कुलेशन जंक फ़ूड लेने से भी तेज होता है।

“इन 5 फूड को खाने से होती है गंजेपन की शिकायत”
“10 फ़ूड जो आपके शरीर को कर देंगे निकोटिन मुक्त”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।