एक ही दिन में पना, छाछ और कोकम के शरबत का सेवन हो सकता है नुकसानदायक, जानिए कैसे

यूँ तो पना, छाछ और कोकम का शरबत तीनों के ही अपने अपने लाभकारी गुण होते हैं और ख़ास तौर पर गर्मियों इनका सेवन करने से लू से बचाव होता है। लेकिन कई बार हम जाने अनजाने में इन तीनों ही चीज़ों का सेवन एक ही दिन कर लेते हैं जो की हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद नुकसानदायक साबित हो सकते हैं। तो आइये जानते हैं पना, छाछ और कोकम के शरबत का एक ही दिन सेवन करने से क्या नुकसान होते हैं और इनके सेवन का सही समय क्या है साथ ही जानते हैं इन तीनों के अपने अपने अलग क्या फायदे होते हैं।

कारण
यूँ तो पना, छाछ और कोकम का शरबत तीनों की ही प्रवृति एक जैसी होती है, ये तीनों ही शरीर को ठंडक पहुंचाने का काम करते हैं लेकिन इनमे पाए जाने वाले तत्व और स्वाद अलग अलग होते हैं। इसके अलावा हर फ़ूड की शरीर को ठंडक और गर्मी पहुंचाने की प्रक्रिया अलग अलग होती है और इसी कारण पाचन क्रिया में भी सभी का अलग अलग प्रभाव पड़ता है। ऐसे में अगर पना, छाछ और कोकम का शरबत एक साथ या एक ही दिन में लिए जाये तो ऐसे में शरीर में एसिड की मात्रा बढ़ने लगती है और एंजाइम्स पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है जिससे शरीर में टॉक्सिन बनने लगते हैं और ऐसे में हमारा शरीर ऐसे प्रभाव को झेल नहीं पाता। आज की बिगड़ी लाइफस्टाइल, फैट युक्त फूड्स और जंक फ़ूड के बढ़ते सेवन के चलते इसका प्रभाव और ज्यादा नुकसानदायक हो जाता है इसलिए आप भी ध्यान रखें कभी भी एक साथ या एक ही दिन में पना, छाछ और कोकम का शरबत तीनों का सेवन ना करें।

इन्हें लेने का सही समय
पना, छाछ और कोकम का शरबत तीनों ही शरीर को ठंडक पहुंचाते हैं और गर्मियों में दिन में काफी तेज धूप और गर्मी होती है ऐसे में दिन के समय इनका सेवन सबसे सही समय होता है साथ ही ध्यान रखें इनका सेवन सूर्यास्त से पहले ही करें इसके बाद नहीं। इसके अलावा दिन के समय शरीर का पाचन तंत्र सबसे ज्यादा सक्रिय रहता है तो इस समय हमारा शरीर इन्हें आसानी से पचा सकता है। दिन में इन तीनों का सेवन करने के पीछे एक मुख्य कारण ये भी है की ये गर्मियों में लू से बचाव करने में बेहद सहायक होते हैं।

क्या हैं इन तीनों के अपने अलग अलग स्वास्थ्य लाभ ?

छाछ
छाछ में प्रोटीन, पोटेशियम, विटामिन बी जैसे लेक्टिक एसिड पाए जाते हैं जो शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में बेहद सहायक होते हैं। इसके अलावा छाछ के सेवन से शरीर का इलेक्ट्रोलाइट स्तर बढ़ता है। छाछ में मौजूद प्रीबायोटिक से ये आँतों के लिए भी बेहद फायदेमंद है। इसके अलावा एक गिलास छाछ हमारे शरीर को करीब 350 मिग्रा कैल्शियम प्रदान करती है और ये वजन कम करने और चर्बी घटाने में भी सहायक है।

कोकम
कोलेस्ट्रॉल और कैंसर से लड़ने में कोकम बेहद फायदेमंद होता है साथ ही इसमें ऐसा तत्व पाया जाता है जो लकवे के प्रभाव को भी कम करता है। इसके अलावा पेट में गैस और एसिडिटी जैसी समस्याओं से निजात दिलाने में भी कोकम बहुत सहायक होता है।

कैरी का पना
कैरी के पने में शरीर को ठंडक पहुँचाने के गुण होते है इसी कारण इसके सेवन से एसिडिटी, सीने की जलन और पेट की गर्मी जैसी समस्याओं में राहत मिलती है। गर्मियों में दिन के समय शरीर में सुस्ती आने लगती है लेकिन इस समय कैरी का पना पिया जाये तो शरीर में तरावट आती है और शरीर की सुस्ती दूर हो जाती है। लिवर और आंतों के बैक्टीरिया नष्ट करने में भी कैरी का पना बेहद सहायक होता है साथ ही गर्मियों में कैरी का पना पीने से लू नहीं लगती। इसके अलावा मुँह की बदबू और दांतों से आने वालो खून को भी रोकता है।

अगर आपको किसी भी तरह के ठंडे या खट्टे फ़ूड के सेवन से किसी तरह की समस्या होती है तो आप किसी भी फ़ूड के सेवन के लिए पहले अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।

“ये छोटी छोटी आदतें हमारे दिमाग के लिए हैं बेहद नुकसानदायक”
“गर्मियों में स्वस्थ रहने के लिए अपनाएं ये आहार”
“वजन घटाने का 1200 कैलोरी तक का शाकाहारी डाइट प्लान”