2000 के नए नोट से जुडी ये बातें हर भारतीय को पता होनी चाहिए

मोदी सरकार ने 500 और 200 रूपए के नए नोट जारी कर दिए हैं और जब ये नए नोट लोगों के हाथ लगे तो इस पर कई तरह की चर्चाएं होने लगी। कोई कह रहा है 2000 रूपए का नया नोट रंग छोड़ता है तो कोई इस पर लिखी भाषा में गलतियां बता रहा है।

तो आइये आज आपको 2000 रूपए के इस नए नोट के बारे में कुछ जरुरी जानकारियां देते हैं जो हर भारतीय को जान लेनी चाहिए ताकि अफवाहों से दूर रहा जा सके।

2000 रूपए के नोट गुलाबी रंग के क्यों हैं

फाइनेंशियल एक्सपर्ट बताते हैं की गुलाबी रंग की एक खास बात ये है की नकली नोट बनाने वाले इसे आसानी से कॉपी नहीं कर पाएंगे अगर कोई ऐसी कोशिश करता है तो उस नोट के गुलाबी रंग में अंतर दिखाई देगा।

कहाँ छापा गया है 2000 रूपए का नोट

आम जनता तक पहुँचने से पहले इसकी डिजाइन और प्रिंटिंग मैसूर के प्रिंटिंग प्रेस में की गई और फिर इन्हें बेंगलुरु लाया गया जहाँ से पूरे देश भर में ये नोट वितरित किये गए।

क्या वाकई 2000 रूपए के नोट में गलतियां हैं ?

2000 रूपए के नोट पर कई भाषाओँ में 2000 रूपए लिखा गया है ऐसे में सवाल ये उठ रहा है की इस पर 2 बार “दोन हजार” लिखा है जो की एक गलती है। लेकिन आपको बता दें की ये गलती नहीं है क्योंकि मराठी और कोंकणी दोनों भाषा में दो हजार को “दोन हजार” लिखा जाता है जो की एक गलती नहीं बल्कि 2 अलग अलग भाषाएँ हैं इसलिए ऐसी अफवाहों पर ध्यान ना दें।

2000 हजार रूपए का नोट रंग छोड़ रहा है

कुछ लोग कह रहे हैं की 2000 हजार रूपए का नोट रंग छोड़ता है तो वो नकली है लेकिन सरकार की तरफ से ये बताया जा चूका है की इस पर इंटेग्लियो इंक से छपाई की गई है और इसे गीले कपडे से रगड़ने पर टर्बो इलेक्ट्रिक इफेक्ट पैदा होता है जिस कारण इस स्याही का रंग कपड़े पर आ जाता है। अगर ऐसा करने पर रंग ना निकले तो समझो वो नोट नकली है।

क्या वाकई 2000 रूपए के नोट में चिप लगी है ?

ऐसी अफवाहें भी खूब आ रही है की इसमें एक नेनो चिप लगी है जिससे इन नोटों को ट्रैक किया जा सकता है लेकिन RBI ने ये साफ कर दिया है की इसमें किसी तरह की कोई चिप नहीं लगी।

News Source

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment