जीएसटी क्या है और इसके फायदे और नुकसान

जून 12, 2017

आज जीएसटी को लेकर पूरे देश भर में चर्चा हो रही है और जीएसटी 1 जुलाई से लागू होना है ऐसे में सभी के मन में कई सवाल हैं की आखिर ये जीएसटी क्या है और क्या ये आम जनता के लिए मुनाफे का सौदा होगा या इससे घरेलु बजट पर और भार बढ़ जायेगा? आइये आज आपको विस्तार पूर्वक समझाते हैं आखिर जीएसटी क्या है और क्या होंगे इसके फायदे और नुकसान।

फिलहाल किसी भी प्रोडक्ट के बनने से लेकर ग्राहकों तक पहुँचने तक उसकी कीमत कई गुना बढ़ जाती है क्योंकि उस पर बिक्री के समय तक कई तरह के टैक्स लागू होते हैं जिससे सामान की कीमत काफी ज्यादा हो जाती है। जब कोई सामान फैक्ट्री में बनता है तो वहां से निकलते ही उस पर एक्साइज ड्यूटी लगती है इसके बाद जब वो सामान एक राज्य से दूसरे राज्य में पहुँचता है तो उस पर एंट्री टैक्स लागू होता है इसके बाद राज्य में पहुँचने के बाद उस पर वैट यानी सेल्स टैक्स भी लगाया जाता है जो हर राज्य का अपना अलग टैक्स होता है। इसके अलावा कई सामानों के लिए परचेज टैक्स भी देना होता है। अगर बात अलग अलग सेवाओं की करें जैसे एंटरटेनमेंट, रेस्टॉरेंट में खाना, मोबाइल बिल या क्रेडिट कार्ड का बिल आदि पर 14.5 फीसदी तक टैक्स लागू होता है।

किसी किसी प्रोडक्ट पर तो 50% तक टैक्स लग जाता है लेकिन अब जीएसटी यानि गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स लागू होने के बाद सभी अलग अलग तरह के टैक्स से छुटकारा मिल जायेगा और प्रोडक्ट्स पर लगने वाले भारी भरकम टैक्स घटकर 12 से 16 प्रतिशत तक रहने की उम्मीद है। फिलहाल प्रोडक्ट्स पर वैट, एक्साइज और सर्विस टैक्स सहित अलग-अलग 18 टैक्स लगते हैं। लेकिन जीएसटी आने के बाद ही हर सामान और हर सेवा पर सिर्फ एक टैक्स लगेगा और वो है जीएसटी यानी पूरे देश में एक सामान की एक ही कीमत होगी और सभी लोगों को एक सामान पर एक जैसा ही टैक्स चुकाना होगा।

जीएसटी लागू होने के फायदे

जीएसटी लागू होने के नुकसान

“जानिए SIP क्या है और क्या हैं इसके फायदे नुकसान”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें