क्या आपने कभी सोचा है की पेन के ढक्कन में छेद क्योँ होता है ?

पेन एक ऐसी चीज़ है जिसे हर इंसान ने इस्तेमाल किया है पर उसको इस्तेमाल करते समय हम सभी ने एक चीज़ पर गौर फ़रमाई होगी वो है पेन के ढक्कन में ऊपर की तरफ हुआ एक छेद। हम में से शायद ही कुछ लोग होंगे जिन्हे इस बात का पता होगा की ऐसा क्यों है।

एक आम अवधारणा के अनुसार लोग यह मानते हैं की यह छेद इसलिए दिया जाता है ताकि पेन के निब की इंक ना सूखे। पर इस बात को सही नहीं माना जा सकता क्योँकि इस तथ्य को इंक सूखने और न सूखने दोनों ही अवधारणा में बताया जा सकता है। तो शायद यह वो कारण नहीं है जिस वजह से यह छेद पेन की कैप में दिया जाता है।

एक और अवधारणा यह है की यह छेद पेन के बंद होने और खुलने पर वायु के दबाव को सामान रूप से बनाये रखता है। मगर यह बात सिर्फ उन पेन में सही बैठती है जिन के ढक्कन दबा के बंद होते हैं, घुमा के बंद होने वाले पेन में यह बात तर्क संगत नहीं लगती है।

तो आप सब यह सोच रहे होंगे की इस छेद की असली वजह क्या है ??

इसका मूल कारण है की पेन को ढक्कन समेत कुछ लोग अपने मुह में डाल लेते हैं और अगर यह गलती से मुह में चला जाये और चूँकि इसमें छेद न हो तो हवा पास नहीं होगी जिस वजह से जान भी जा सकती है। इसी वजह से पेन के निर्माताओं ने इसके ढक्कन में एक छेद रखा जिस वजह से अगर कोई बच्चा या बड़ा इसको निगल भी जाये तो उससे जान जाने का खतरा कुछ हद तक काम हो सकता है। हम आशा करते हैं ये जानकारी आपके लिए ज्ञान वर्धक होगी अगर आपको हमारा यह लेख पसंद आया तो अपनी प्रतिक्रिया अवश्य दें।