रसीले आम के स्वास्थ्य लाभ – जानिए आम के फायदे

गर्मियों का मौसम यानि कि छुट्टियों का मौसम और ऐसे में बिना आम के छुट्टियाँ और गर्मी का मजा स्वादहीन सा लगता है। जबकि आम का सिर्फ तीन या चार महीनों का ही सीजन होता है और इस सीजन में आम के सेवन से हम पूरे साल स्वास्थ्य का लाभ उठा सकते है। आम का नाम जितना आम है उतना ही आम हमारे स्वास्थ्य के लिए खास भी है और शायद इसी वजह से आम को ‘फलों का राजा’ कहा जाता है। विश्व में लगभग पन्द्रह सौ से अधिक प्रकार के आमों की किस्में पाई जाती है। जिनमे से 1000 से ज्यादा तरह के आम तो केवल भारत में ही पाए जातें है जो हमारे लिए बहुत गर्व की बात है। स्वास्थ्य के लिहाज से आम में गुणों का भंडार है जो इसे फलों में खास बना देता है। आइए आम के फायदे जानते हैं।

इसके सेवन से स्तन और गर्भाशय कैंसर, हृदय संबंधी बीमारियां, मोतियाबिंद, तनाव और अर्थराइटिस जैसी बीमारियों से निजात संभव है। आम में विटामिन ए, बी, सी, कार्बोहाइड्रेट, पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, प्रोटीन, वसा, फाइबर, सोडियम, कॉपर, फॉस्फोरस और लौह जैसे पौष्टिक तत्व बहुतायत में पाए जाते हैं जो हमारी सेहत के लिए बहुत आवश्यक है, क्योंकि इनकी आवश्यक मात्रा से हमारा शरीर जाने अंजाने कई बीमारियों से बचता है।

आम को कई तरह से खाया जाता है. गर्मी के मौसम में कच्चे हरे आम को रस या पने के रूप में खाया जाता है जो शरीर को लू से बचाकर शीतलता प्रदान करता है। कच्चे आम से बने अचार, चटनी, मुरब्बा तो लोग बड़े चाव से खाते है। आम के पके हुए रूप से मैंगो शेक, आइसक्रीम, जैम, जैली, आमरस, आम की लस्सी, आम की बर्फी आदि स्वादिष्ट व्यंजन बनाये जाते है। अधिकांश लोग इसे काटकर प्रत्यक्ष रूप से खाना अधिक पसंद करते है। अगर आप मोटापे से ग्रस्त है और आम खाने के शौकीन है तो आपके लिए एक अच्छी खबर यह है की आप आम खाकर अपना वजन कम कर सकते है। तो आइए आम के फायदे और आम के बारे में कुछ और गुणकारी बातें भी जानें।

1. मोटापा – आम की गुठली में घुलनशील रेशा और वसा पाया जाता है। जो शरीर से अतिरिक्‍त चर्बी को कम करने में बहुत सहायक है। आम खाने से भूख कम लगती है और शरीर से अतिरिक्त कैलोरी भी बर्न हो जाती है। आम में लेप्टिन नामक केमिकल होता है जिससे भूख कम लगती है।

2. कैंसर – रिसर्च के अनुसार आम में एंटीऑक्सीडेंट्स पाया जाता है जो कई तरह के कैंसर जैसे की कोलोन कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर, ल्यूकेमिया और प्रोस्टेट कैंसर से बचाव करने में सहायक है। इसमें मौजूद क्यूर्सेटिन, एस्ट्रागालिन, फिसेटिन जैसे कई ऐसे तत्व है जो कैंसर की संभावनाओं को कम करने की क्षमता रखता है और कैंसर सेल्स निर्माण की संभावना को कम करता है। कैंसर निरोधक प्रक्रिया में विटामिन-सी एक प्रभावी एंटिऑक्सिडेंट का काम करता है।

3. कब्ज – यदि आपका कब्ज किसी भी उपाय से सही नहीं हो रहा है तो ऐसे में कच्चे आम का सेवन फायदेमंद है। इस समस्या के निदान के लिए कच्चा आम को काटकर उसमें नमक और शहद मिलाकर सेवन करें।

4. नेत्रदोष – आम में बीटा कैरोटीन प्रचूर मात्रा में पाया जाता है जिसे विटामिन ए कहते है जो नेत्रदोष निवारक है। इसके उपयोग से आँख संबंधी विकार दूर होते हैं जैसे – रंतौंधी, आंखों की जलन, खुजली, आंखों में सूखापन, आंखों से पानी आना आदि।

5. रक्तचाप – आम में पोटेशियम और मैग्नीशियम पाया जाता है, जो उच्च रक्तचाप के मरीजों के लिए प्राकृतिक उपचार का काम करते है। यह दिल की धड़कन और रक्तचाप का संतुलन बनाए रखने में मददगार है। विटामिन बी, सी और ई मस्तिष्क के भीतर गाबा हार्मोन का उत्पादन करने में सहायक हैं, जिससे मांसपेशिया टोन होती है। नतिजनन सीएडी (कोरोनरी धमनी रोग) और स्ट्रोक से हृदय की रक्षा होती है।

6. पाचक तंत्र – आम में प्रचुर मात्रा में एंजाइम पाए जाते हैं जो पाचन तंत्र को ताकत प्रदान करता है। आम प्रोटीन, वसा, कार्बोहाइड्रेट को पचाकर शरीर को आवश्यक तत्वों की कमी की पूर्ति करता है।

7. मधुमेह – कच्चा आम मधुमेह की बिमारी में भी फायदेमंद है। शुगर लेवल को कम करने के लिए कच्चे आम को दही और चावल के साथ ले सकते हैं। अब यह सिद्ध हो चुका है कि न सिर्फ आम बल्कि इसकी पत्तियां भी मधुमेह से निजात दिला सकती है।

8. मिनरल्स की पूर्ति – गर्मी के दिनों में ज्यादा पसीने के कारण हमारे शरीर में आयरन, सोडियम क्लोराइड जैसे मिनरल्स कम हो जाते है। लेकिन कच्चे आम का रस इन मिनरल्स के कमी की पूर्ति करता है। यानी की यह शरीर में पानी की कमी को पूरा करता है। कच्चे आम का यह एक स्वास्थ्य लाभ है।

9. खून की कमी – आम का सेवन करने से शरीर में खून की कमी दूर होती है। आम में आयरन, फोलेट, मैंग्नीशियम जैसे खनिज प्रचुर मात्रा में होते है, ये सभी तत्व एनीमिया से पीड़ित, गर्भवती और बच्चों के स्वास्थ्य विकास में सहायक है। साथ ही यह खून में होमोसिस्टीन के लेवल को संतुलित करता है जो रक्त की कोशिकाओं के लिए काफी नुकसानदायक होते है।

10. दाँत – दाँत शरीर का वह महत्वपूर्ण भाग है जिसे खासतौर पर नजर अंदाज किया जाता है। कच्चे आम मसूड़ों के लिए बहुत ही लाभकारी है। यह मसूडों से खून आना, मुह से बदबू आना, दांतों की सड़न आदि को रोकने में कारगर है। आम की गुठलियां सुखाकर उसके अंदर की गिरी को निकालकर अच्छी तरह से कूट-पीसकर चूर्ण बना लें। उस चूर्ण से दाँतों पर मंजन करने से दाँतों के विभिन्न रोगों से छुटकारा मिलता है, साथ ही पायरिया जैसी गंभीर समस्या भी दूर होती है।

11. रोग-प्रतिरोधक क्षमता – आम में प्रचुर मात्रा में विटामिन ए और विटामिन सी पाया जाता हैं। जो शरीर के अंदर कोलाजेन प्रोटीन के निर्माण में सहायक है। कोलाजेन ब्लड वेसल और शरीर के कनेक्टिव टिशू को सुरक्षित रखता है, जिससे त्वचा की उम्र ढलने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है। यह त्वचा को स्वस्थ और सुंदर बनाए रखता है। कच्चा आम आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर आपको जवां और स्वस्थ रखता है। यह हरे आम का खास लाभ है जिससे लोग अंजान हैं।

12. स्मरण शक्ति – आम में ग्लूटामिक नामक एमिनो एसिड पाया जाता है जो मस्तिष्क को सुदृढ़ कर एकाग्रता और स्मरण शक्ति में वृद्धि करता है। इससे आत्मविश्वास में भी वृद्धि होती है. यह गुण बच्चों के लिए बेहद फायदेमंद है।

13. हृदय रहे दुरुस्त – आम में प्रचुर फाइबर की मात्रा होती है जिस वजह से रक्त में ट्राइग्लिसराइड्स भोजन का काम करता है। यह तंत्रिका तंत्र में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है और हृदय घात के खतरे को कम करता है।

14. शारीरिक कमजोरी – सामान्य और गर्भवती महिलाओं में रक्त की कमी और कमजोरी मुख्य तौर पर देखी जाती है। जो आम में पाये जाने वाले आयरन और विटामिन सी से दूर किया जा सकता है। यह लाल रक्त कणों में वृद्धि करता है। आम में मौजूद विटामिन-सी एक आदर्श एन्टीऑक्सिडेंट की तरह काम करता है।

15. लू की समस्या में – गर्मियों में तेज धूप के कारण शरीर में पानी एवं खनिज लवण की कमी से होने वाले रोगों में एक जानलेवा रोग लू भी है। इस रोग में कैरी को भूनकर या उबालकर उसके गूदे को निकाल लें, फिर उसमें आवश्यकता अनुसार मिश्री या शक्कर, काला नमक, सूखा पौदिना मिलाकर ठंडा पेय तैयार कर लें। दिनभर में एक-एक गिलास तीन-चार बार पिएं, इससे लू का दुष्प्रभाव दूर होता है. यह लू से बचाव का अचूक उपाय है।

आम गर्मियों का मुख्य और लोकप्रिय फल है। फल के रूप में इसका भरपूर स्वास्थ्य लाभ उठाए। आम के फायदे और संपूर्ण गुणों का बखान करना बहुत ही असंभव सा है। आम के फायदे और इतने गुणों के कारण ही आम को श्रेष्ट फलों की श्रेणी में रख गया है। आम के सिजनल सेवन से मुहाँसे, बालों की समस्या, कान दर्द, नकसीर, दाद, कोलेस्ट्रॉल आदि कई समस्याओं से बचा जा सकता है। आयुर्वेदिक मतानुसार आम के पंचांग (पाँच अंग) काम आते हैं। कई समस्याओं में आम के पत्ते और गुठलियों का प्रयोग किया जाता है जैसे कान दर्द, बालों के लिए, नकसीर आदि। शौध के अनुसार पके आम की तुलना में कच्चे आम में कैलोरी की मात्रा कम होती है, इस दृष्टि से कच्चा आम स्वास्थ्य के लिए अधिक लाभकारी है। स्वाद और सुगंध से भरपूर आम का मजा लें और स्वस्थ रहे।

अगर आपको किसी भी तरह के खट्टे फलों को खाने की मनाई है या खट्टे फलों से एलर्जी है तो अपने आहार चिकित्सक के संपर्क में रहकर आम का सेवन करें। हमारा उद्देश्य आपका सामान्य ज्ञान बढ़ाना है। संपूर्ण आम के फायदे जानने के लिए आप अपने आहार चिकित्सक से परामर्श ज़रूर करे।

आम के फायदे से संबंधित आपके पास कोई जानकारी हो तो कॉमेंट्स के माध्यम से शेयर करें।

“गर्मियों में तरबूज खाने के होते हैं ये कमाल के फायदे”
“इलायची आपकी सेहत को बना सकती है तंदुरुस्त – इलाइची के फायदे”
“अजवाइन के फायदे जो आपको रोजमर्रा की तकलीफ से दिलाएंगे निजात”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।