हिन्दी हैं हम। हिन्दी में है दम।

हिन्दी दिवस हर वर्ष 14 सितंबर को मनाया जाता है। 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा में सभी ने एकमत होकर ये निश्चित किया और हिन्दी को राष्ट भाषा का दर्जा दिया गया। इस महत्वपूर्ण निर्णय को हर क्षेत्र में अग्रसर करने और हिन्दी को आगे बढ़ाने के लिए “राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा” के कहने पर सन् 1953 से पूरे भारतवर्ष में 14 सितंबर को हर वर्ष हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। हिन्दी दिवस पर पूरे भारतवर्ष में बहुत से आयोजन व कार्यक्रम होते हैं।

हिन्दी भाषा का जन्म संस्कृत से हुआ है जो की सबसे प्राचीन और पौराणिक भाषा है। नये शब्द बनाने के लिए हिन्दी के पास संस्कृत की शक्ति है, जिससे किसी भी विषय पर शब्द बनाए जा सकते हैं। हिन्दी संसार की सर्वश्रेष्ठ वैज्ञानिक लिपि देवनागरी में लिखी जाती है।

वर्तमान समय में हिन्दी का उपयोग निरंतर बढ़ रहा है। तकनीकी क्षेत्र में भी हिन्दी उपयोग में आने लगी है। आज विश्व स्तर पर भी बहुत सारी वेबसाइट्स हिन्दी में बनने लगी है। यह हम सभी के लिए बहुत ही प्रसन्नता और गौरव का विषय है। अब हमें ज़्यादा से ज़्यादा जागरूक और सतर्क रह कर हिन्दी को अंतराष्ट्रीय ख्याति दिलाने में योगदान करना चाहिए।

दसवें विश्व हिन्दी सम्मेलन का सुभारंभ करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा की डिजिटल की दुनियाँ में तीन भाषाओं का ही दबदबा रहने वाला है – अँग्रेज़ी, चीनी और हिन्दी। प्रधानमंत्री ने कहा की हिन्दी भाषा पे बल देने का प्रयास किया है। हिन्दी का महत्व बढ़ने वाला है।

इंटरनेट का प्रयोग करने वाला हर इंसान हिन्दी के प्रचार प्रसार में अपना योगदान दे सकता है। आप फ़ेसबुक पे कुछ लिखें तो हिन्दी का ही प्रयोग करें। फ़ेसबुक पर हिन्दी के समूहों से जुड़ें या खुद हिन्दी समूह शुरू करें। हिन्दी वेबसाइट्स पर लेख, कहानी, वीडियो को लाइक और टिप्पणी करें। अच्छे ब्लॉग्स और वेबसाइट्स के बारे में अपने मित्रों को बताएँ।

सभी हिन्दी प्रेमियों को हिन्दी दिवस पर जागरूक.इन की शुभकामनाएँ। पूर्ण आत्मविश्वास के साथ हिन्दी का प्रयोग करें। आज भी करोड़ों लोग हिन्दी का प्रयोग करना चाहते हैं लेकिन झिझकते हैं। आप अगर आत्मविश्वास के साथ हिन्दी का प्रयोग करेंगे तो और भी लोगों को प्रेरणा मिलेगी और हिन्दी प्रयोग की हिचक कम होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिन्दी का प्रयोग करके बहुत लोगो को प्रेरित किया है।

हमारी वेबसाइट जागरूक.इन का भी यही प्रयास है की हम हिन्दी भाषा के प्रयोग को प्रोत्साहित करें और ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी लेख, कहानियों और वीडियो के माध्यम से उपलब्ध कराएँ।

“हिंदी भाषा से जुड़े बेहद रोचक तथ्य”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।