इन 10 लक्षणों से जानें कि कहीं आप एचआईवी के शिकार तो नहीं

एचआईवी एड्स आज के समय में विश्व में एक बहुत ही गंभीर बीमारी के रूप में उभरता जा रहा है कई विकासशील और अविकसित देश इन बीमारी की चपेट में आ चुके हैं। लेकिन इसमें बात सिर्फ अविकसित देशों की ही नहीं है यह बीमारी विकासशील और विकसित देशों में भी अपने पैर जमाती जा रही है। मुख्य तौर पर यह बीमारी यौन संबंध और दूषित खून के इस्तेमाल से होती है, यह एक जानलेवा बीमारी है।

एचआईवी संक्रमित होने के बाद कई लोग इसके बारे में पता नहीं लगा पाते। लेकिन हमारा शरीर हमें इसके लक्षण पहले से ही बताने लग जाता है, यदि आप थोड़ी सावधानी बरतें तो आप इसके शिकार होने से खुद को बचा सकते हैं। तो चलिए आज हम आपको इस बीमारी से जुड़े कुछ लक्षण बताते हैं।

अगर आप को लंबे समय तक बुखार है तो आपको अपने खून की जांच करा लेना अनिवार्य हो जाता है। इससे आप इस बारे में संतुष्ट हो जाएंगे कि आपको एचआईवी संक्रमण नहीं है। बुखार एक सामान्य बीमारी है लेकिन कभी-कभी यह किसी गंभीर बीमारी का लक्षण भी हो सकता है इसीलिए एचआईवी की जांच कराना भी अनिवार्य हो जाता है।

यह बात आपको जान लेनी चाहिए कि HIV के विषाणु हमारे शरीर की कार्य क्षमता पर बहुत खराब प्रभाव डालते हैं। इसकी वजह से आपको हमेशा थकान महसूस होगी और आप अपना कार्य तयशुदा समय पर पूरा नहीं कर पाएंगे। अगर आप भी ऐसा महसूस करते हैं तो अन्य टेस्टों के अलावा HIV का टेस्ट भी अवश्य कराएं।

अगर आपकी मांसपेशियों में जकड़न रहती है तो यह हो सकता है कि आप एचआईवी संक्रमित है क्योंकि एचआईवी ग्रसित हर व्यक्ति अक्सर मांसपेशियों में जकड़न की समस्या से जूझता रहता है।

एचआईवी संक्रमित होने पर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत कम हो जाती है। जिसका हमारे सर और गले पर प्रभाव पड़ता है जिस वजह से सर में दर्द और गले में खराश रहती है।

यह बात सब जानते हैं कि हमारी त्वचा हमारे शरीर से जुड़ी कई बीमारियों के बारे में बता देती है। एचआईवी संक्रमण में हमारी त्वचा पर धब्बे पड़ जाते हैं और साथ ही खुजली भी होती है।

संक्रमित व्यक्ति का वजन काफी तेजी से कम होता है। HIV ग्रस्त होने के बाद भूख भी कम लगती है जिस वजह से इंसान का वजन तेजी से गिरता है।

इस बीमारी से संक्रमित होने के बाद व्यक्ति रात को चैन से सो नहीं पाता। पीड़ित इंसान को दम घुटने या बेचैनी जैसे लक्षण होना एक आम बात है।

एच आई वी से संक्रमित व्यक्ति के नाखून में पीलापन पड़ जाता है। पीले पड़ चुके नाखूनों में से खून आने लग जाता है यह एड्स की चेतावनी होती है।

एचआईवी से ग्रसित व्यक्ति एकाग्रता से काम नहीं कर सकता फिर चाहे वह पढ़ाई हो या कंप्यूटर पर काम करना। यदि आप इन लक्षणों से जूझ रहे हैं तो किसी चिकित्सक की सलाह अवश्य लें। अगर अन्य किसी भी टेस्ट में बीमारी का पता नहीं लग पा रहा है तो HIV टेस्ट अवश्य करवाए क्योंकि सुरक्षा ही बचाव है।

“बच्चों को डे-केयर में भेजने से पहले फायदे और नुकसान को जानें”
“जानें क्यों होता है घुटनों में दर्द और कैसे करे इसकी देखभाल”
“अगर किसी से अच्छा रिश्ता रखना चाहते हैं तो पहले खुद में लाएं ये 5 बदलाव”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment