जानिए राज्यों को कैसे मिला उनका नाम

3464

भारत अनेकता में एकता का एक उत्तम उदाहरण है। यहाँ भांति भांति के लोग एवं भाषाएँ हैं जो कई राज्यों में विभाजित हैं। क्या कभी आपने सोचा है ये राज्यों के नाम कैसे और क्यों मिला?

चलिए आज हम विस्तारपूर्वक आपको इन राज्यों के नाम का अर्थ समझते हैं।

1. आंध्र प्रदेश – इस राज्य का नाम “दक्षिण प्रदेश” की भाषा को वहां की छेत्रिय भाषा में परिवर्तित करके रखा गया।
2. अरुणाचल प्रदेश – इस राज्य का नाम संस्कृत के शब्द “अरुणाचल” जिसका अर्थ होता है “पहाड़ों की ज्योतिर्मय सुबह” पर रखा गया क्योंकि यहाँ प्राकृतिक सम्पदा की कोई कमी नहीं है।
3. असम – असम का नाम “अहोम्स” के नाम पर रखा गया है जो असम के शासक थे।
4. बिहार – बिहार का अर्थ होता है निवास, इसका मूल नाम बिहार इसलिए रखा गया क्योंकि यहाँ बोध भिक्षुओं का निवास रहा है।
5. छत्तीसगढ़ – छत्तीसगढ़ यह नाम इसलिए दिया गया क्योंकि इस राज्य में कुल मिला कर 36 किले हैं।
6. गोवा – गोवा का यह नाम मूल रूप से गाय के नाम पर रखा गया इसका मूल वहीँ से माना गया था।
7. गुजरात – गुजरात का नाम वहां के 8वीं शताब्दी में शासक रहे गूजरों के नाम पर रखा गया।
8. हरियाणा – इस राज्य के नाम के दो अर्थ है पहला “प्रभु का निवास ” और दूसरा हरा जंगल।
9. हिमाचल प्रदेश – इस राज्य का नाम इसके पहले अक्षर जो की संस्कृत का शब्द “हिमांचल” है पर रखा गया जिसक अर्थ होता है “बर्फ की पहाड़ियों का घर”।
10. जम्मू और कश्मीर – इस राज्य के नाम में जम्मू वहां के राजा जम्मू लोचन के नाम पर रखा गया और कश्मीर का मतलब होता है जलाशयों से भरपूर धरती।
11. झारखण्ड – इस राज्य के नाम का अर्थ होता है “झार” यानि घना जंगल और “खंड” मतलब धरती का टुकड़ा।
12. कर्नाटक – इस राज्य का नाम कर्नार्ड शब्द पर रखा गया है जिसका अर्थ होता है बुलंद। इसको मूल तौर पर डेक्कन के पठार के नाम पर रखा गया है।
13. केरल – ये मान्यता है की इस राज्य को परसुराम भगवान ने समुद्र में से निकाला था जिसे बाद में केरल कहा गया।
14. मध्य प्रदेश – भारत के मध्य में होने की वजह से इस राज्य का नाम मध्य प्रदेश रखा गया।
15. महाराष्ट्र – महाराष्ट्र राज्य के नाम का अर्थ है “महा” यानी के महान और “राष्ट्र” शब्द यहाँ राज करने वाले राष्ट्रिका जनजाति से लिया गया था।
16. मणिपुर – संस्कृत शब्द पर पड़े इस राज्य के नाम का अर्थ है आभूषण युक्त राज्य।
17. मेघालय – संस्कृत शब्द से उत्पन्न इस राज्य के नाम का अर्थ है बादलों के वास वाला राज्य।
18. मिजोरम – मिजोरम राज्य को वहीँ की भाषा के शब्दों में रूपांतरित किया गया है जिसका अर्थ होता है “मी” मतलब लोग “जो” मतलब ऊँची जगह।
19. नागालैंड – इस राज्य का शाब्दिक अर्थ है “नागा” जो की शब्द नका से लिया गया है जिसका अर्थ होता है ऐसे व्यक्ति जिनके नाक कान छिदे हुए हों।
20. ओडिशा – इस राज्य का नाम यहाँ रहने वाले ओद्रा लोगों के नाम पर रखा गया।
21. पंजाब – पंजाब का हिन्दी शाब्दिक अर्थ है पांच नदियों वाला राज्य।
22. राजस्थान – इस राज्य के नाम का शाब्दिक अर्थ है ऐसी जगह जहाँ राजा का वास हो।
23. सिक्किम – सिक्किम का नाम वहीँ की प्रादेशिक भाषा में रखा गया है जिसका अर्थ है “सी ” मतलब नया और “खिम” मतलब जगह।
24. तेलंगाना – इस राज्य के नाम का शाब्दिक अर्थ है तीन शिवलिंग वाली जगह।
25. तमिलनाडु – इस राज्य को तमिल बहुल लोग होने की वजह से तमिलनाडु नाम दिया गया।
26. त्रिपुरा – इस राज्य का शाब्दिक अर्थ है “त्रि ” यानि पानी और प्र यानि नज़दीक।
27. उत्तर प्रदेश – उत्तर में होने की वजह से इस राज्य का नाम उत्तर प्रदेश पड़ा।
28. वेस्ट बंगाल – इस राज्य का नाम यहाँ पर बहुल बंगाली लोगों की वजह से वेस्ट बंगाल पड़ा।

“रहने के लिहाज से बेस्ट हैं ये भारत के 10 शहर”
“भारत की ख़ुफ़िया एजेंसी RAW की कुछ ख़ुफ़िया जानकारियां”
“भारत के 10 महान वैज्ञानिक”

Add a comment