तनाव को कैसे मैनेज करते हैँ आप?

मई 3, 2016

वर्तमान युग मेँ, स्कूल जाते एक छोटे से बच्चे से लेकर अधेड उम्र तक के व्यक्ति तनावग्रस्त जीवन व्यतीत कर रहे हैँ। किसी को स्कूल के प्रोजेक्ट की चिंता है तो किसी को घर के काम की, कोई ऑफिस के पेंडिंग वर्क के लेकर चिंतित है तो किसी को बच्चोँ के उज्जवल भविष्य का तनाव है। ऐसे मेँ यह तनाव कब मनुष्य को अपनी गिरफ्त मेँ ले लेता है, इसका उसे पता ही नहीँ चलता। थोडा-बहुत तनाव हर मनुष्य के जीवन मेँ होता है। लेकिन एक खुशहाल जीवन जीने के लिए तनाव को सही ढंग से मैनेज करना बेहद आवश्यक है।

करेँ पहचान – तनाव को मैनेज करने से पहले उसके कारणोँ का पता लगाएँ। जब आपको यह पता होगा कि आपके तनाव का वास्तविक कारण क्या है, तभी आप उसे सही ढंग से मैनेज कर पाएंगे। उम्र के हर दौर मेँ मनुष्य की प्राथमिकताएँ बदल जाती हैँ। जिसके कारण तनाव का कारण भी बदल जाता है। जहाँ कुछ लोग अपने कार्योँ व असफलताओँ के कारण तनावग्रस्त होते हैँ तो वहीँ कुछ लोगोँ को रिश्ते मेँ तनाव या बिगडता स्वास्थ्य मानसिक रूप से परेशान करता है।

व्यवस्थित करेँ कार्य – ज्यादातर वही लोग तनावग्रस्त होते हैँ जो अपने कार्योँ को कल पर छोड देते हैँ। आपको यह समझना चाहिए कि कल कभी नहीँ आता। जब आप अपने कार्योँ को सही समय पर व सही ढंग से पूरा कर लेंगे तो आप बहुत सी परेशानियोँ से खुद-ब-खुद निजात पा जाएंगे। अनावश्यक रूप से पेंडिंग कार्य अक्सर मानसिक तनाव का कारण बनता है।

शेयर करेँ परेशानी – आपके तनाव का कारण कोई भी हो लेकिन उससे मुक्ति पाने का एक बेहतरीन उपाय उसे शेयर करना है। कहते भी हैँ कि खुशी बांटने से बढती है और दुख बांटने से कम हो जाता है। इसलिए अपनी परेशानी शेयर करने मेँ हिचकिचाना क्योँ। कभी-कभी ऐसा ही होता है कि हमारे तनाव व परेशानी को दूर करने का रास्ता हमारी आंखोँ के सामने ही होता है लेकिन अपनी मानसिक स्थिति के कारण हम उसे देख ही नहीँ पाते। ऐसे मेँ जब हम किसी से बात करके अपना दिल हल्का करते हैँ तो न सिर्फ यह हमेँ खुशी देता है, बल्कि कई बार इससे हमेँ मुसीबत से बाहर आने का रास्ता भी मिल जाता है।

व्यायाम को देँ तवज्जो – तनाव को आप तभी मैनेज कर सकते हैँ, जब आप शारीरिक रूप से स्वस्थ हो। व्यायाम न सिर्फ हमारे भीतर ऊर्जा का संचार करता है, बल्कि इससे जीवन मेँ एक सकारात्मकता भी आती है। मानसिक शांति प्राप्त करने के लिए आप योग निद्रा, शवासन, प्रणायाम, मेडिटेशन व लाफ्टर थेरेपी अपना सकते हैँ।

“तनाव से मुक्ति कैसे मिले?”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें