अमीर कैसे बने – अमीर बनने के लिए सबसे जरुरी नियम

1775

आज के समय अमीर कौन नहीं बनना चाहता, सभी चाहते हैं कि वह करोड़पति बनें और अपनी सभी जरूरतों को पूरा करें और एक आलीशान जिंदगी जियें। लेकिन हर किसी का यह सपना पूरा नहीं होता, एक सफल व्यक्ति बनने के लिए काबिलियत के साथ साथ कुछ ऐसी आदतें भी होनी चाहिए जो हमें सही राह पर ले जाएं। आप किसी भी करोड़पति की कहानी उठाकर देख लीजिए उसमें आपको कई ऐसी आदतें मिलेंगी जो उनमे कॉमन होती है और हम उनसे प्रेरणा लेकर सफलता की राह पकड़ सकते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसी ही आदतों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप भी सफल बनने की राह पर चल सकते हैं और अगर राह सही हो और हम मेहनत करें तो हमें अमीर बनने से कोई नहीं रोक सकता। आइए जानते हैं अमीर कैसे बने और अमीर बनने के लिए ज़रूरी आदतें।

काम को कभी कल पर मत टालो

कई सफल व्यक्तियों ने यह बात कही है कि अपने काम को कभी भी कल पर नहीं टालना चाहिए क्योंकि समय हम किसी कार्य को करने में जितनी देर करेंगे उसका फल भी हमे उतनी ही देरी से मिलेगा। कई बार हम काम को करने के लिए सही समय का इंतजार करते हैं और ऐसे में हम वह मौका खो देते हैं जिस समय हम उस काम को सफल बना सकते थे। अगर आप किसी व्यापार या किसी अन्य जगह निवेश करने की सोच रहे हैं तो अपनी प्लानिंग के साथ उसे समय पर निवेश कर दें क्योंकि अगर आप निवेश करने में देरी करेंगे तो आपको उसका फायदा भी देरी से ही होगा।

कमाई के एक से ज्यादा जरिए बनायें

आप चाहे किसी भी अमीर व्यक्ति पर नजर डालिये उन सभी ने अपने एक से ज्यादा व्यापार विस्तृत कर रखे हैं और वह इसलिए ताकि अगर किसी एक व्यापार में थोड़ा घाटा हो तो उसकी भरपाई वह अपने दूसरे व्यापार से कर सकते हैं। इससे उनके बिजनेस डूबने का रिस्क भी काफी कम हो जाता है। अगर आप हमेशा किसी एक बिजनेस पर ही निवेश करेंगे तो बुरे समय में जब आप को घाटा होगा तो आप उससे उबर नहीं पाएंगे। लेकिन अगर आपके पास व्यापार का दूसरा विकल्प भी होगा तो आपको अपने घाटे में जा रहे व्यापार को संभालने का समय मिलेगा और दूसरे व्यापार के जरिये आप उसमे ज्यादा मुनाफा कमाकर घाटे की भरपाई कर सकेंगे। इसलिए अपना सारा निवेश सिर्फ एक ही व्यापार में ना करें बल्कि अपनी कमाई के दूसरे जरिए भी खोजें लेकिन इसका मतलब यह नहीं है की आप उधार की पूंजी लेकर अपने कई व्यापार बढ़ाएं क्योंकि ऐसे में आप कर्जदार हो जायेंगे और मुसीबत के समय आप आर्थिक परिस्थिति से उबर नहीं पाएंगे। पहले एक व्यापार में अपनी पूंजी लगाएं और उसके मुनाफे से दूसरे व्यापार की शुरुआत करें।

फिजूलखर्ची से बचें

कोई भी व्यक्ति रातों रात करोड़पति नहीं बनता, आप किसी भी बड़े करोड़पति की जीवनी उठाकर देख लीजिए उन्होंने एक एक पैसे जोड़कर अपना मुकाम हासिल किया है। अगर आप कमाई हुई राशि को सिर्फ अपनी विलासिता के लिए खर्च करते रहेंगे तो आप कभी भी अमीर नहीं बन पाएंगे। इसके लिए आपको कमाई के साथ-साथ बचत की भी जरूरत है। कहते हैं “1 रुपए की कीमत कुछ नहीं है लेकिन अगर वह 100 में से निकल जाये तो 100 फिर 100 भी नहीं रहता” इसलिए हर एक रुपए की कीमत पहचानें और जितना हो सके व्यर्थ का खर्च बंद कर बचत शुरू करें। अगर आपको कहीं निवेश भी करना है तो ऐसी जगह करें जहां से या तो मुनाफा हो या फिर आपके पैसे वापस आ सके। अगर आप इसे कंजूसी कह रहे हैं तो यह गलत भी नहीं होगा लेकिन कई बार कंजूसी भी हमारे लिए लाभकारी होती है। आप अपनी जरूरतों को पहचाने और उसी हिसाब से उन पर खर्च करें और बाकी के पैसों को जमा करें जो आपको भविष्य में काफी आर्थिक लाभ पहुंचाएगी।

समय के साथ-साथ खुद में भी बदलाव करें

जैसे आर्थिक मजबूती के लिए कई व्यापारों में निवेश करना जरूरी है वैसे ही समय के साथ-साथ खुद में भी बदलाव और सुधार लाना बेहद आवश्यक है। इसलिए अपने व्यापार के साथ साथ खुद को भी थोड़ा समय दें और नई-नई तकनीक और कार्यशैली सीखें ताकि जमाने के साथ साथ आप में खुद में सुधार आ सके जो आपके व्यापार को भी फायदा पहुंच जाएगा। आपके व्यापार में तो फिर भी कभी घाटा हो सकता है लेकिन समय के साथ कमाए आपके ज्ञान और तकनीक आपसे कोई नहीं छीन सकता।

अपनी मंजिल खुद चुनें

कभी भी किसी दूसरे की नकल कर कोई काम नहीं करना चाहिए क्योंकि सबकी परिस्थिति, काबिलियत और रूचि अलग अलग होती। आप हमेशा वही काम करें जिसमे आपकी रूचि हो और आप उसे करने में काबिल हों फिर चाहे जमाना आप का कितना भी उपहास करे आपको अपनी राह पर दृढ संकल्प के साथ चलना है क्योंकि दुनिया में कई ऐसे उदहारण हैं जिन्होंने अपनी एक अलग राह पकड़ी और अपने नए विचारों पर काम किया। शुरुआत में उनकी भी खूब निंदा हुई लेकिन आगे चलकर वो सफल हुए और दुनिया ने उन्हें आदर्श माना। इसलिए अपनी मंजिल खुद चुनें और दुनिया की परवाह ना करते हुए उस पर दृढ संकल्प के साथ हिम्मत ना हारते हुए आगे बढ़ते रहें आगे चलकर आपको सफलता जरूर मिलेगी।

खुद बनें अपने मालिक

देश के सबसे बड़े व्यापारी मुकेश अंबानी के पिता धीरूभाई अंबानी ने एक खूबसूरत पंक्ति कही थी “अगर आप खुद अपने सपनों का निर्माण नहीं करेंगे तो कोई दूसरा आपका उपयोग खुद के सपनों को पूरा करने के लिए करेगा”। इसका अर्थ यह है की जब आप नौकरी करते हैं तो आप किसी और के लिए कड़ी मेहनत करते हैं जिसके बदले आप को हर महीने तनख्वाह मिलती है लेकिन आपके काम का असली मुनाफा वह काम आता है जो आपसे काम करवा रहा है। इसलिए हमेशा खुद के लिए काम करें अगर, आप किसी के यहां नौकरी करेंगे तो आप चाहे कितनी भी मेहनत कर लें आपको महीने के अंत में एक सिमित तनख्वाह ही मिलेगी लेकिन अगर आप उतनी ही मेहनत खुद के लिए करते हैं तो जो मुनाफा आप किसी और को मेहनत कर दे रहे हैं वह मुनाफा आपका होगा। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है किसी को नौकरी नहीं करनी चाहिए, अगर आपके पास कोई बेहतर प्लानिंग है और आप उसे करने में खुद को सक्षम समझते हैं तो ही खुद का व्यापार करें वरना अगर आप उसमे विफल हुए तो आप अपनी कमाई का हर जरिया खो देंगे।

“पर्सनल लोन लेने से पहले जरूर जान लें ये जरुरी बातें”
“एक कुशल समय प्रबंधक कैसे बनें”
“औरतों को क्यों अच्छे लगते हैं घर का काम करने वाले मर्द”

Add a comment