परमाणु हमला हो तो कैसे करें खुद का बचाव

0

आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि अगर परमाणु हमला हो तो कैसे खुद का बचाव कर सकते हैं। पिछले कई दिनों से हम परमाणु हमला और परमाणु बम के बारे में सुन रहे हैं और सभी के मन में यही बात आती है कि इस परमाणु हमले में किसी भी इंसान की जान नहीं बचती यह बहुत ही विनाशकारी हमला होता है।

परमाणु हमला हो तो कैसे करें खुद का बचाव

आप ने आज तक जितनी भी परमाणु विस्फोट से जुड़ी तस्वीरें देखी होंगी उसमें आपने देखा होगा कि यह विस्फोट एक मशरूम के गुब्बारे की तरह निकलता है और अगर आप इस रेडिएशन जोन में है तो आप को तुरंत इस जगह से निकल जाना चाहिए। परमाणु हमले से निपटने का एकमात्र ही उपाय है कि इस जगह से कम से कम समय में निकल जाया जाए और एक सुरक्षित जगह पर शरण ले ली जाए।

परमाणु हमला हो तो कैसे करें खुद का बचाव 1

लंदन के किंग्स कॉलेज में सेंटर फॉर साइंस एंड सिक्योरिटी स्टडीज के प्रोफेसर डेनियल सेलिसबरी इस बात की सलाह देते हैं की सैन्य प्रतिष्ठानों और घनी आबादी वाले क्षेत्रों से दूर रहना ही एकमात्र विकल्प है क्योंकि अधिकतर तौर पर हमले यहीं किए जाते हैं।

अगर आप किसी पहाड़ी क्षेत्र में बनी गुफा में है तो भी आप परमाणु हमले से बच सकते हैं। या फिर परमाणु हमला होने वाली जगह से दूर रहे कम से कम 2 हफ्ते तो इस जगह पर ना जाएं।

एक बहुत बड़े रसायनशास्त्री डॉक्टर रशेल वर्क्स यह बताते हैं कि अंतरिक्ष यात्री जिस तरीके के कपड़े पहनते हैं उसी को ध्यान में रखते हुए नैनो पार्टिकल से बने कपड़े तैयार करने की कोशिश की जा रही है। जिनसे परमाणु बम के दौरान होने वाले रेडिएशन और गर्मी को कम किया जा सकेगा यानी कि यह कपड़े इस दबाव को आसानी से झेल जाएंगे।

अगर आसान शब्दों में समझाए जाए तो यह कपड़े स्टील से भी सौ गुना ज्यादा मजबूत होंगे उन्होंने यह बताया कि अगर परमाणु हमला हो तो अगर कोई भी इंसान 200 फीट गहरी जगह पर चला जाएगा तो उसकी जान बच जाएगी लेकिन सामान्य तौर से यह चीज संभव नहीं है और वैसे भी इतनी गहरी जगह पर जाने के बाद बिजली, पानी और सांस लेने में होने वाली तकलीफों को कैसे हल किया जाएगा यह कोई नहीं जानता।

अगर आप भी हमले का शिकार हो गए हैं तो यह लक्षण हो सकते हैं- चक्कर आना, सर दर्द या बुखार होना, डायरिया ना रूकना, मितली आना, लगातार खून की उल्टी होना, कमजोरी बने रहना, बाल उड़ जाना यह सभी रेडिएशन के लक्षण हैं जो कि परमाणु हमले के बाद होते हैं।

लेकिन हम आपको बता दें कि आपको परमाणु हमले की धमकियों से घबराना नहीं चाहिए क्योंकि परमाणु बम का इस्तेमाल करना इतना आसान नहीं है। किसी भी देश को अगर परमाणु बम इस्तेमाल करना है तो उसके लिए उसको बहुत सारी अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय इजाजत लेनी पड़ती है।

उम्मीद है परमाणु हमला हो तो कैसे करें खुद का बचाव कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

पीने के पानी का टीडीएस कितना होना चाहिए?

जागरूक यूट्यूब चैनल

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here