आइये जानते हैं हैदराबाद के पर्यटन स्थल के बारे में। हैदराबाद बेहद खूबसूरत शहर है जिसे ‘मोतियों का शहर’ भी कहा जाता है। इसका निर्माण मुहम्मद कुली कुतुबशाह ने करवाया था और अपनी प्रेमिका भागमती के नाम पर इस शहर का नाम भाग्य नगर रखा था।

जब भागमती का नाम हैदरी बेगम हुआ तो इस शहर का नाम भी बदलकर हैदराबाद रख दिया गया। इस खूबसूरत शहर में चारों तरफ खड़ी पहाड़ियां हैं जिनके बीच में मूसा नदी बहती है।

निज़ामों के इस शहर में पूरे साल मौसम सुहावना रहता है। ऐसे में किसी भी मौसम में आप इस शहर की सैर कर सकते हैं। ऐसे में क्यों ना, आज हैदराबाद के बेहतरीन नज़ारों की सैर की जाए। तो चलिए, आज आपको खूबसूरत हैदराबाद के पर्यटन स्थलों की सैर पर ले चलते हैं।

हैदराबाद के पर्यटन स्थल 1

हैदराबाद के पर्यटन स्थल

चार मीनार – हैदराबाद में फैली भयंकर महामारी प्लेग पर विजय पाने की खुशी में इस मीनार का निर्माण करवाया गया था। 1591 में बनी ये 180 फुट ऊँची मीनार विजय का प्रतीक है और इसका निर्माण नवाब कुली कुतुबशाह ने करवाया था।

श्री वेंकटेश्वर मंदिर (बिड़ला मंदिर) – काल पहाड़ पर बना बिड़ला मंदिर भगवान श्री वेंकटेश्वर को समर्पित है। ये मंदिर दो हजार टन राजस्थानी संगमरमर से बना है। हुसैन सागर झील के पास स्थित इस मंदिर में खूबसूरत नक्काशियां की गयी हैं। इस मंदिर में एक भी घंटी नहीं लगी हुयी है। पहाड़ी से झील और शहर के शानदार नज़ारें देखकर आपका मन खुश हो जाएगा। मंदिर परिसर में चारों तरफ घास के मैदान और रंगीन गुलाब भी मंदिर की आभा को बढ़ाते हैं।

गोलकुंडा का किला – हैदराबाद शहर से 12 किमी. दूर स्थित इस किले की दीवारें ग्रेनाइट से बनी हैं जिन्हें गिराने के लिए मुग़ल शासक औरंगजेब ने अपनी सारी तोपें लगा दी थीं। इस किले का नाम गोलकोण्डा (गोल्ला – गड़रिया, कोंडा- पहाड़ी) इसलिए पड़ा क्योंकि इस पहाड़ी किले को बनाने का सुझाव एक गडरिये ने दिया था। कहा जाता है कि 17 वीं शताब्दी में गोलकोण्डा हीरे-जवाहरातों का प्रसिद्ध बाज़ार हुआ करता था जिनमें भारत का कोहिनूर हीरा भी शामिल था।

मक्का मस्जिद – चार मीनार से थोड़ी दूरी पर स्थित मक्का मस्जिद इस्लामिक कला का अनूठा नमूना है। इस मस्जिद में एकसाथ 10 हजार लोग नमाज अदा कर सकते हैं।

बिड़ला तारागृह तथा विज्ञान संग्रहालय – शहर के बीच में स्थित इस तारागृह में हिंदी, अंग्रेजी और तेलुगु में स्काई शो आयोजित होते हैं।

हुसैन सागर झील – इस झील का निर्माण हज़रत हुसैन शाह वली ने करवाया था। यहाँ झील के बीच में महात्मा बुद्ध की विशाल प्रतिमा स्थित है। यहाँ आकर आपको शांति का अनुभव होगा।

कुतुबशाही मकबरे – गोलकुंडा इलाके में स्थित ये मकबरे कुतुबशाही शासकों के हैं। इन्हें सात मकबरों के नाम से भी जाना जाता है। इनके निर्माण का आधार ईरानी स्थापत्य कला रहा है इसलिए इन्हें देखकर आप ईरानी स्थापत्य शैली को करीब से देख सकते हैं।

पैगाह मकबरे – हैदराबाद में शम्स उल उमराही परिवार पैगाह का शाही परिवार रहा है और ये मकबरे इसी परिवार से सम्बन्ध रखते हैं। चूने और गारे से बने ये मकबरे आपको प्राचीन समय की याद जरूर दिला देंगे।

चेरुवु झील – जुबली हिल के पीछे स्थित ये झील पिकनिक मनाने के लिए बेहतरीन स्पॉट है।

जामा मस्जिद – चारमीनार के पास स्थित ये मस्जिद हैदराबाद की प्राचीन मस्जिदों में से एक है। इसका निर्माण नवाब कुली कुतुबशाह ने करवाया था।

नेहरु चिड़ियाघर – एशिया के सबसे बड़े चिड़ियाघरों में से एक है नेहरू चिड़ियाघर, जहाँ आप लॉयन सफारी और सफेद शेर को देखने का लुत्फ़ उठा सकते हैं। इनके अलावा यहाँ अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया की कई किस्म के वन्य प्राणी भी देख सकते हैं।

उस्मानिया विश्वविद्यालय – इस विश्वविद्यालय की खूबसूरती और इमारतों के गुम्बद और भवन देखने के लिए पर्यटक यहाँ भी जरुर आते हैं। इसकी स्थापना 1918 में हैदराबाद के निज़ाम मीर उस्मान अली खान ने की थी। ये भारत का सातवां सबसे पुराना विश्वविद्यालय है।

रामोजी फिल्मसिटी – रामोजी फिल्मसिटी में बॉलीवुड और टॉलीवुड की बहुत सी फिल्मों की शूटिंग होती है। यहाँ देखने को बहुत सी रोमांचक चीज़ें हैं। इसकी स्थापना 1996 में रामोजी राव ने की थी। ये स्थान पर्यटकों को फिल्मी दुनिया का रोमांच करीब से देखने का मौका देता है।

दोस्तों, मोतियों और नवाबों की ये नगरी अपने लज़ीज ज़ायके के लिए भी मशहूर है। ऐसे में आपको भी एक बार इस शहर की सैर जरूर करनी चाहिए।

उम्मीद है हैदराबाद के पर्यटन स्थल कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल