आमतौर पर हर माँ की यही शिकायत होती है कि उसका बच्चा खाना नहीं खाता या घर का खाना छोडकर बाहर के फास्ट फूड को ही तवज्जो देता है। ऐसे में बच्चे को घर का पौष्टिक खाना खिलाना किसी जंग को जीतने से कम नहीँ है।

अगर आपका नाम भी उन्हीँ माँओ में शुमार है, जो अपने बच्चे की ईटिंग हैबिट्स से परेशान है तो शायद यह लेख आपकी काफी मदद करेगा।

खाना नहीं खाता आपका बच्चा

बच्चा खाना नहीं खाता तो यह उपाय अपनाएं

प्रेजंटेशन को देँ प्रेफरेंस – जब बच्चे को होममेड फूड खिलाने की बात हो तो प्रेजंटेशन पर खास ध्यान देने की आवश्यकता होती है। चूंकि आजकल के बच्चे काफी चूजी होते हैँ, इसलिए उन्हेँ खाना खिलाने का तरीका भी अनोखा होना चाहिए।

आप बच्चे को खाना खिलाने के लिए उनकी मनपसन्द शेप, या खाने के उपर किसी प्रकार का डिजाइन या डिफरेंट डिजाइन के बाउल में खाना परोस सकती हैँ। इससे यकीनन बच्चे खाने की तरफ आकर्षित होंगे।

मिक्स न करेँ टेस्ट – देखने में आता है कि अक्सर माँ बच्चे को खाना खिलाने के लिए बहुत सारे मसाले व घी मिक्स कर देती हैँ। इससे खाना अनहेल्दी तो बनता ही है, साथ ही बच्चे के लिए भी उसे खाना काफी मुश्किल हो जाता है।

बच्चे के लिए खाना बनाते समय एक बार में दो से ज्यादा टेस्ट मिक्स न करेँ। आप अपने बच्चे की ईटिंग हैबिट्स को ध्यान में रखकर एक बार में मीठा और चरपरा या मीठा और नमकीन टेस्ट सर्व कर सकती हैँ।

रिक्रिएट करेँ नाम – जब आप बच्चोँ के लिए पुरानी डिशेज को नए अन्दाज में रिक्रिएट करेँ तो उन्हेँ नए नाम देना बिल्कुल भी न भूलेँ। आप डिशेज के नाम बच्चोँ के फेवरेट कार्टून कैरेक्टर या पसन्दीदा शो के आधार पर रख सकते हैँ।

इस तरह आप उन्हेँ बोरिंग सब्जियाँ भी खिला सकती हैँ। जैसे पालक की सब्जी को पापाया स्पिनच या वेजीटेबल से बने कट्लेट को डोराकेक जैसे नाम दिए जा सकते हैँ।

यकीन मानिए, इसके बाद बच्चे आपसे बार-बार वही डिश बनाने की मांग करेंगे।

बच्चोँ को करेँ इनवाल्व – अगर आप बच्चोँ को खाना बनाने की प्रक्रिया मेँ इनवाल्व करेंगी तो उनका आकर्षण खाने की तरफ खुद ब खुद होने लगेगा। आप संडे या किसी हॉलिडे पर उनके साथ मिलकर हेल्दी स्नैक्स तैयार कर सकते हैँ।

इससे खाना खिलाना तो आसान होगा ही, साथ ही बच्चे और आपके बीच बॉंडिंग भी बनेगी। इसे कहते हैँ एक पंथ दो काज। लेकिन ध्यान करेँ कि तैयारी करते समय उन्हेँ ऐसा ही काम सौँपे, जिससे उन्हेँ किसी प्रकार की चोट न लगे।

दोस्तों, उम्मीद है बच्चा खाना नहीं खाता तो यह उपाय अपनाएं कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

“पीने के पानी का टीडीएस कितना होना चाहिए?”

जागरूक यूट्यूब चैनल