इस अस्पताल में बेटी होने पर नहीं ली जाती फीस

भारत में कई सालों से यह देखा गया है की बेटियों को माँ की कोख में ही मार दिया जाता है। बेटी बचाओ के लिए भारतीय सरकार ने कई कार्यक्रम चला रखे है एवं कानून में भी बेटी को मारना करना दंडनीय अपराध है। मगर आज हम आपको एक ऐसे अस्पताल के बारे में बताने जा रहे है जहां बेटी होने पर फीस नहीं ली जाती है।

डॉ. गणेश राख पुणे में प्रैक्टिस करते है और यही पर डॉ. राख मेडीकेयर जनरल व मैटरनिटी हॉस्पीटल चलाते है। इस अस्पताल की नींव 2007 में रखी गयी थी जिसका उदेश्य था गरीब माता पिताओं की सहायता करना था।

इसी बात को ध्यान में रखते हुए अगर यहाँ किसी भी लड़की का जन्म होता है तो मिठाई बांटी जाती है और कोई भी फीस नहीं ली जाती है। डॉ. राख द्वारा किये गए इस सराहनीय कार्य को हमारा सलाम यह कार्य पूरे देश के लिए एक बहुत बड़ी मिसाल है।

“औरतों के लिए सुरक्षित नहीं है भारत के ये शहर”
“दुनिया की सबसे धनी मुस्लिम महिलाएं”
“दुनिया की इन जगहों पर महिलाओं की नो एंट्री है”

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment