देश की सबसे बड़ी रसोइयां जहाँ हर रोज बनता है हजारों लोगों का खाना

741

भारत देश में एकता का सबसे बड़ा सबूत है खाना। भारत के हर हिस्से में आपको खाने का अलग स्वाद मिलेगा लेकिन ऐसा नहीं है की किसी ख़ास जगह का खाना आपको देश में कहीं और नहीं मिलेगा, भारत के हर हिस्से में हर तरह का खाना मिल जायेगा। इसी कारण देश की हर रसोई का अपना अलग ही महत्व और सम्मान है। तो आइये आज आपको देश की कुछ सबसे बड़ी रसोइयों के बारे में बताते हैं जहाँ हर रोज हजारों लोगों के लिए खाना बनाया जाता है।

1. धर्मस्थला, कर्नाटक

धर्मस्थला में स्थित भगवान शिव के इस मंजुनाथ मंदिर में हर रोज लगभग 50 हज़ार लोग दर्शन करने आते हैं और यहाँ की रसोई में हर रोज इतने लोगों के लिए खाने का इंतजाम किया जाता है।

2. शिरडी, महाराष्ट्र

शिरडी साईं बाबा के मंदिर में हर रोज लगभग 40 से 50 हजार लोग दर्शन के लिए आते हैं और इन सभी भक्तजनों के लिए यहाँ की रसोई में खाने का इंतजाम होता है। यहाँ की रसोई सबसे अलग इसलिए भी है क्योंकि ये देश की सबसे बड़ी सोलर रसोई है।

3. TajSATS, दिल्ली

ये रसोई भी देश की सबसे बड़ी रसोइयों की लिस्ट में आती है क्योंकि ये ताज होटल और सिंगापुर एयरपोर्ट की साझा रसोई है जहाँ से कोलकाता, चेन्नई, अमृतसर, मुंबई और दिल्ली के एयरपोर्ट्स के लिए खाना बनकर जाता है।

4. IRCTC, नोएडा

IRCTC की नोएडा स्थित रसोई देश की सबसे बड़ी और आधुनिक रसोई है जहाँ हर रोज लाखों लोगों का खाना तैयार किया जाता है।

5. अक्षय पात्र, हुबली

अक्षय पात्र एक NGO है और आपको जानकर आश्चर्य होगा की यहाँ की रसोई में Mid Day Meal के तहत हर रोज करीब 15 मिलियन बच्चों के लिए खाना तैयार किया जाता है जो बहुत ही गर्व की बात भी है।

6. स्वर्ण मंदिर, अमृतसर

अमृतसर स्थित स्वर्ण मंदिर सिक्ख समाज का सबसे पूज्यनीय मंदिर है। यहाँ का ‘गुरु का लंगर’ बेहद मशहूर है जहाँ प्रतिदिन लगभग एक लाख लोग प्रसाद लेते हैं और इस लंगर में खाने के लिए किसी से भी कोई शुल्क नहीं लिया जाता। इस मंदिर की रसोई को विश्व की सबसे बड़ी रसोई माना जाता है।

7. जगन्नाथ मंदिर, पुरी

भगवान जगन्नाथ के इस मंदिर में हर रोज 56 भोग का प्रसाद चढ़ाया जाता है। इस 56 भोग को इस मंदिर की रसोई में तैयार किया जाता है जो देश की सबसे विशाल रसोई में से एक है।

8. ISKON मंदिर

इस ट्रस्ट के मंदिर भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में फैले हुए हैं। इन मंदिरों में हर रोज हजारों भक्तजन दर्शन करने आते हैं। वैसे तो इन मंदिरों की रसोई में हजारों लोगों के लिए प्रसाद प्रतिदिन बनता ही है लेकिन जन्माष्टमी के समय तो रसोई में बनने वाले प्रसाद की मात्रा कई गुना बढ़ जाती है।

“भारत की 10 सबसे बड़ी नदियां”
“ये हैं दुनिया की 10 सबसे बड़ी मस्जिद”
“भारत का सबसे अनोखा शहर जहाँ न धर्म है न पैसा और न सरकार”

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment