भारत के सबसे अमीर मंदिर

भारत संस्कृति, पूजा-पाठ, आस्था, भगवान और मंदिरों का देश है। भारत के मंदिरों में इतनी संपत्ति है की कोई अंदाज भी नहीं लगा सकता। भारत के बड़े बड़े मंदिरों में हर रोज लाखों रूपए का चढ़ाव आता है। तो आइये आपको बताते हैं भारत के सबसे अमीर मंदिर जिनमे हर दिन आता सबसे ज्यादा चढ़ाव और इन मंदिरों की है अनगिनत संपत्ति।

श्री पद्मनाभस्वानी मंदिर, तिरुवनंथपुरम, केरल – विष्णु भगवान का ये श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर केरल में स्थित है और ऐसा कहा जाता है की भगवान् विष्णु की प्रतिमा इसी जगह पर मिली थी। ऐसा भी कहा जाता है की इस मंदिर के तहखानों में अनगिनत धन है जिसका किसी को अंदाजा भी नहीं।

तिरुपति वेंकटेश्वर मंदिर, तिरुमला, आंध्र प्रदेश – आंध्र प्रदेश स्थित भगवान विष्णु के इस तिरुपति वेकटेश्वर मंदिर में हर रोज लगभग 60 हजार श्रद्धालु आते हैं और श्रद्धालुओं द्वारा हर साल अंदाजन 650 करोड़ रूपए का चढ़ाव चढ़ाया जाता है। इस आंकड़े से ही आप इस मंदिर की संपत्ति का अंदाजा लगा सकते हैं।

शिरडी साईं बाबा मंदिर, शिरडी, महाराष्ट्र – महाराष्ट्र स्थित साईं बाबा का ये सबसे बड़ा और मान्यता प्राप्त मंदिर है जहाँ प्रति दिन करीब 20 हजार श्रद्धालु दर्शन करने आते हैं। अगर साई बाबा के गहनों की बात की जाये तो उनकी कीमत है लगभग 100 करोड़ रूपए। मंदिर के नाम करीब 625 करोड़ से ज्यादा की एफडी भी है।

पुरी जगन्नाथ मंदिर, पुरी, ओडीशा – चार धामों में से एक ओडीशा स्थिति इस जगन्नाथ मंदिर में भगवान् जगन्नाथ, बालभद्रा और सुभद्रा की आराधना की जाती है। उत्तर-पूर्व भारत का ये सबसे अमीर मंदिर कहलाता है क्योंकि यहाँ श्रद्धालु करोड़ों अरबों रूपए का चढ़ावे के साथ साथ आभूषण और गहने भी दान करते हैं।

सिद्धिविनायक मंदिर, मुंबई, महाराष्ट्र – मुंबई स्थित ये भव्य सिद्धिविनायक मंदिर में गणेश भगवान को पूजा जाता है। इस मंदिर के लिए ऐसा कहा जाता है की यहाँ दिल से जो भी माँगा जाता है वो पूरा हो जाता है। यहाँ बड़े बड़े नेता और अभिनेता भी दर्शन के लिए आते हैं। इस मंदिर में हर साल करीब 100-150 करोड़ रूपए का चढ़ावा चढ़ाया जाता है।

वैष्णों देवी मंदिर, कटरा, जम्मू और कश्मीर – जम्मू और कश्मीर स्थित माँ वैष्णों देवी का ये मंदिर देश का सबसे ऊँचा मंदिर है जहाँ देश से ही नहीं बल्कि विदेश से भी हर रोज हजारों-लाखों श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं। इस मंदिर में लोग दिल खोल कर दान देते हैं यहाँ सालाना अरबों रूपए का चढ़ावा आता है।

सोमनाथ मंदिर, सौराष्ट्र, गुजरात – गुजरात का सोमनाथ मंदिर भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है यहाँ श्रद्धालुओं का ताँता लगा रहता है और इस मंदिर की संपत्ति खरबों रूपए में है।

मीनाक्षी मंदिर, मदुरै, तमिलनाडु – तमिलनाडु स्थित मीनाक्षी मंदिर देवी पार्वती के लिए पूजा जाता है रोजाना यहाँ हजारों श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं और हजारों लाखों रूपए का दान चढा कर जाते हैं। इस मंदिर में 33000 से भी ज्यादा मूर्तियां हैं।

स्वर्ण मंदिर, अमृतसर, पंजाब – अमृतसर के इस स्वर्ण मंदिर में सिक्ख ही नहीं बल्कि हर धर्म के लोग आते हैं इस मंदिर के चारों तरफ अमृत का सरोवर है। उत्तर भारत के इस सबसे अमीर मंदिर में हर रोज लगभग 35,000 लोग आते हैं और यहाँ हजारों लोग प्रतिदिन लंगर में खाना खाते हैं। ये मंदिर सोने की परत से बना है।

काशी विश्वनाथ मंदिर, वाराणसी, उत्तर प्रदेश – वाराणसी को भगवान् शिव की नगरी कहा जाता है ये मंदिर भी भगवान् शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। इस मंदिर के शिखर पर 15.5 मीटर की सोने की प्लेटिंग की गई है। यहाँ हर समय श्रद्धालुओं का ताँता लगा रहता है और यहाँ हर साल अरबों रूपए का चढ़ावा आता है।

“स्वर्ण मंदिर से जुड़े रोचक तथ्य”