बाला साहेब ठाकरे से जुड़े अनसुने तथ्य

भारत में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जो बाला साहब ठाकरे को नहीं जानता हो। वह एक ऐसे आदमी थे जो पूरे मुंबई को अपने इशारों पर नचा सकते थे। वह चाहे सरकार ना हो लेकिन सरकार से कम भी नहीं थे। आज हम आपको उनके जीवन से जुड़े कुछ ऐसे तथ्य बताएंगे जो शायद आप नहीं जानते।

1. बाला साहब का बचपन का नाम बाल केशव ठाकरे था जो वक्त के साथ-साथ बाला साहब ठाकरे बन गया क्योंकि लोग उनकी बहुत ज्यादा रिस्पेक्ट करते थे।

2. आपको यह बात शायद ना पता हो लेकिन बाला साहब ठाकरे एक कार्टूनिस्ट थे और बाद में वह राजनीतिज्ञ के रूप में उभरे। 1950 के आसपास वह टाइम्स ऑफ इंडिया के संडे एडिशन में कार्टून बनाया करते थे और यह नौकरी उन्होंने 1964 में छोड़ दी थी।

3. बाला साहेब ठाकरे को हिंदू हृदय सम्राट भी कहा जाता था वह हमेशा बिना देखे ही भाषण दिया करते थे और उन्हें सुनने के लिए लाखों में भीड़ उमड़ा करती थी।

4. बाला साहब ठाकरे चांदी के सिंहासन पर बैठते थे जहां पर विरोधी भी उनके सामने उनसे नीचे बैठा करते थे और वह किसी को भी खुले आम धमकी देने में माहिर थे।

5. 19 जून 1966 में बाला साहब ठाकरे ने शिवसेना नामक पार्टी बनाई थी जो आज तक चल रही है।

6. बाला साहब ठाकरे को कट्टर मुस्लिम विरोधी नेता माना जाता था और वह हमेशा मुसलमानों के खिलाफ भड़काऊ भाषण दिया करते थे।

7. बाला साहेब ठाकरे को कुछ स्पेशल शॉक थे वह सिगार वाइट वाइन बहुत ज्यादा पसंद करते थे उन्हें पाइप सिगार पीने का बहुत शौक था 1995 में दिल का दौरा पड़ने के बाद उन्होंने यह सारी लताएं छोड़ दी।

8. बाला साहब ठाकरे ना तो मुख्यमंत्री थे और ना सांसद फिर भी उनके मरने के बाद 21 तोपों की सलामी दी गई थी जो कि राष्ट्रपति प्रधानमंत्री को मिलती है इसी से आप इनके रुतबे का पता लगा सकते हैं।