श्रीमद्भागवत गीता से जुड़े रोचक तथ्य जो शायद आप नहीं जानते होंगे

1388

श्रीमद् भगवतगीता हिंदुओं के पवित्र ग्रंथों में से एक है। यह माना जाता है कि इस ग्रंथ में जीवन का पूरा सार आ गया है। आज हम आपको इस ग्रंथ से जुड़ी कुछ ऐसी जानकारी देंगे जो आपके जीवन में बहुत महत्वपूर्ण योगदान निभाएंगी तो चलिए इसे विस्तार पूर्वक जानते हैं।

* गीता एक ऐसा ग्रंथ है जिसमें महाभारत के छंदों का महत्वपूर्ण संग्रह है। यह आपको कहीं और देखने को नहीं मिलेगा।

* पूरे विश्व में हर व्यक्ति लगभग यह बात मानता है कि हिंदुओं के लिए भगवत गीता एक सबसे अहम ग्रंथ है और हमारी पीढ़ियों की महानता इस ग्रंथ में दर्ज है।

* आपको बता दें कि यह ग्रंथ भगवान कृष्ण द्वारा अर्जुन को दिए गए उपदेशों की श्रंखला है जिसमें जीवन के अर्थ को विस्तारपूर्वक समझाया गया है।

* अगर आसान शब्दों में कहा जाए तो यह राजकुमार अर्जुन और उनके सारथी बने भगवान कृष्ण के बीच का संवाद है जिसमें जीवन का अर्थ बताया गया है। इसमें उन उल्लेखों के बारे में बताया गया है जो शायद आपने कभी समझने की कोशिश नहीं की होगी।

* महाभारत इस बात की पुष्टि करता है कि भगवान कृष्ण 3137 ईसा पूर्व थे और 35 साल चली इस लड़ाई के बाद कलयुग की शुरुआत हुई थी।

* 18 अंक का प्रयोग महाभारत में कई बार किया गया है जिसका शाब्दिक अर्थ बलिदान से है। 18 यौहार गीता में भी 18 अध्याय होते हैं और 18 अंक का महाभारत में बहुत महत्व है।

* अलबर्ट आइंस्टाइन ने अपने आखिरी दिनों में भगवत गीता पढ़ना शुरू किया था और वह यह कहते थे कि उन्हें भगवत गीता अपने प्रारंभिक दिनों से ही पढ़नी शुरु कर देनी चाहिए थी जिसका उन्हें जिंदगी भर मलाल रहेगा।

* आपको बता दें कि सिर्फ अर्जुन ही नहीं संजय, हनुमान और बर्बरीक ने भी श्री कृष्ण से गीता का उपदेश सुना था।

* मूलतः भगवत गीता को संस्कृत में लिखा गया था लेकिन इसे अब तक 175 भाषाओं में अनुवादित किया जा चुका है क्योंकि इसे पढ़ने वाले लोगों की संख्या बहुत अधिक है।

* आपको बता दें कि फिल्मों में दिखाई जाने वाली कोर्ट की प्रक्रिया में गीता की कसम खाई जाती है लेकिन असलियत में ऐसा कुछ भी नहीं होता। ना तो कोर्ट में गीता की कसम खाई जाती है और ना कुरान की, यह सब 170 साल पहले खत्म हो चुका है। लेकिन आज भी यह सिलसिला फिल्मों में चला आ रहा है यह सब अंग्रेजो के द्वारा किया गया था क्योंकि वह मानते थे कि हिंदू ज्यादा भावुक हैं इसीलिए उन्हें धर्म के प्रति कसम खिलाकर सच्चाई को उगलवाया जा सकता है।

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“बौद्ध धर्म से जुड़े अनसुने रोचक तथ्य”
“जानिए मौत से पहले इंसान के दिमाग में क्या विचार आते हैं”
“विज्ञान से जुड़ी कुछ हैरान कर देने वाली जानकारियां”

Add a comment