सुंदर पिचाई के जीवन से जुड़े रोचक तथ्य जो शायद आप नहीं जानते होंगे

मार्च 31, 2017

सुंदर पिचाई गूगल के सीईओ है और यह बात किसी से छुपी हुई नहीं है। वह भारतीय मूल के हैं और एक बहुत ही अहम शख्सियत वाले इंसान हैं। उन्होंने पूरे विश्व में काफी नाम कमाया है वह पिछले 11 साल से गूगल के साथ जुड़े हुए हैं। सुंदर पिचाई के अलावा, माइक्रोसॉफ्ट, क्रेडिट कार्ड से लेकर गूगल तक सभी के सीईओ भारतीय हैं और इस बात से आप सभी को गौरवान्वित महसूस होना चाहिए। तो चलिए आज हम आपको सुंदर पिचाई के जीवन से जुड़े रोचक तथ्य बताते हैं।

1. सुंदर पिचाई का जन्म तमिलनाडु में हुआ था वह अभी 40 वर्ष के हैं। सुंदर पिचाई का असली नाम पिचाई सुंदरराजन है लेकिन उन्हें सुंदर पिचाई के नाम से जाना जाता है।

2. सुंदर पिचाई को बचपन में टेक्नोलॉजी से बिल्कुल भी लगाव नहीं था और वह अपनी स्कूल की क्रिकेट टीम के कप्तान हुआ करते थे।

3. सुंदर पिचाई के बारे में यह बताया जाता है कि उनकी याददाश्त इतनी तेज थी कि लोग अगर फोन नंबर भूल भी जाया करते थे तो उनसे पूछ लिया करते थे क्योंकि उन्हें हर किसी का फोन नंबर और छोटी-छोटी बातें याद रह जाती हैं।

4. यह बात हर व्यक्ति जानता है कि सुंदर पिचाई ने IIT खड़गपुर से अपनी पढ़ाई पूरी की है लेकिन बहुत कम लोग यह जानते हैं कि कॉलेज के दिनों में वह भयंकर रैगिंग का शिकार हो चुके हैं।

5. सुंदर पिचाई एक बहुत ही सामान्य वर्ग से ताल्लुक रखते हैं वह चेन्नई में दो कमरों वाले घर में रहा करते थे। इंजीनियरिंग के दौरान उन्हें आगे पढ़ाई करने के लिए स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी की स्कॉलरशिप मिली और इस दौरान उनके घर के माली हालात इतने खराब थे कि एयर टिकट के लिए उनके पिता को कर्जा लेना पड़ा था।

6. जब सुंदर पिचाई अमेरिका चले गए तो उनकी पत्नी भारत में ही रहती थी। सुंदर पिचाई के पास इतने पैसे नहीं थे कि वह अपनी पत्नी से बात कर सके इसीलिए वह उन्हें फोन भी नहीं कर पाते थे। कई बार तो ऐसा भी होता था कि वह छह महीनों तक अपनी पत्नी से बात नहीं कर पाते थे।

7. पिचाई ने 2004 में Google ज्वाइन किया था और उस समय प्रोडक्ट और इनोवेशन ऑफिसर हुआ करते थे।

8. सुंदर पिचाई के जीवन में दो बातें मील का पत्थर साबित हुई। पहले उन्होंने Gmail और Google मैप ऐप्स तैयार किए जो रातोंरात लोकप्रिय हो गए। इसके बाद पचाई ने Google के सभी प्रोडक्ट के लिए Android ऐप्स को तैयार किया जिसकी वजह से Google की लोकप्रियता रातोरात बढ़ गई।

9. Twitter में भी 2011 में सुंदर पिचाई को जॉब का ऑफर दिया था और वह इसके लिए तैयार भी हो गए थे। लेकिन गूगल ने नौकरी न छोड़ने के लिए उन्हें 305 करोड रुपए दिए क्योंकि Google को पता था कि इस बंदे में बहुत दम है।

10. 2011 में जब वह Twitter में जा रहे थे तो उनकी पत्नी ने उन्हें सलाह दी कि वह Google में ही रहे। उनकी पत्नी अंजलि भी IIT खड़कपुर से इंजीनियरिंग कर चुकी है और फाइनल ईयर के बाद ही उन्होंने शादी कर ली थी।

11. 2013 के अंत में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ की दौड़ में सुंदर पचाई का नाम सबसे शीर्ष पर था स्टीव बालमर की पसंद भी सुंदर पिचाई थे। लेकिन बाद में सीईओ सत्या नडेला को बनाया गया।

12. पिचाई Google के उन लोगों में शामिल है जिन्हें उभरते बाजार में गूगल को चलाने का अनुभव हासिल है। सुंदर पिचाई को गूगल के फाउंडर लैरी पेज से भी बेहतर माना जाता है।

“स्वामी विवेकानंद के जीवन से जुड़े कुछ प्रेरक प्रसंग”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें