इंटरपोल क्या है?

मार्च 20, 2018

इंटरपोल दुनिया का सबसे बड़ा अंतर्राष्ट्रीय पुलिस संगठन (The International Criminal Police Organization) है जिसे स्थापित करने के पीछे उद्देश्य ये था कि दुनियाभर की पुलिस को इतना सक्षम बना दिया जाए कि पूरी दुनिया रहने के लिए एक सुरक्षित स्थान बन जाए। इस मकसद को पूरा करने के लिए इंटरपोल की स्थापना का विचार सबसे पहले 1914 में मोनाको में आयोजित पहली अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक पुलिस कांग्रेस में रखा गया और उसके बाद इंटरपोल की स्थापना आधिकारिक रूप से 1923 में की गयी और इसका नाम ‘अंतर्राष्ट्रीय अपराध पुलिस आयोग’ रखा गया। बाद में साल 1956 में इसका नाम ‘इंटरपोल’ रखा गया। इसका हेडक्वार्टर लियोन, फ्रांस में है और इसके वर्तमान चेयरमैन “मेन्ग होंगवेई” हैं।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर क्राइम को दूर करने के लिए इंटरपोल सभी सदस्य देशों का सहयोग लेता है और संयुक्त राष्ट्र और यूरोपीय संघ जैसे अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के साथ मिलकर काम करता है। 192 सदस्य देशों वाला ये संगठन मुख्य रूप से तीन प्रकार के अपराधों पर अपनी पकड़ बनाता है और उन्हें दूर करने के लिए अपनी विशेष क्षमताओं को इस्तेमाल करता है-

वैश्विक स्तर पर अपराध से निपटने और उसे दूर करने के लिए इंटरपोल द्वारा किये जाने वाले प्रमुख कार्यों को इस तरह समझा जा सकता है-

वैश्विक अपराधियों के खिलाफ नोटिस जारी करना – इंटरपोल अपने सदस्य देशों के अनुरोधों के आधार पर IPSG (इंटरपोल जनरल सचिवालय) संगठन की चार आधिकारिक भाषाओँ यानी अरबी, अंग्रेजी, फ्रेंच और स्पैनिश में नोटिस जारी करता है।

वैश्विक पुलिस संचार सेवाओं की सुरक्षा करना – इंटरपोल की वैश्विक पुलिस संचार प्रणाली को I-24/7 (सूचना 24×7) के नाम से जाना जाता है। ये संचार सेवा किसी भी सदस्य देश को सुरक्षित तरीके से डेटा प्राप्त करने और जमा कराने की सुविधा देती है। इस संचार प्रणाली से संपर्क ब्यूरो को जोड़ा गया है जिसके जरिये किसी भी देश के प्रमुख अधिकारी इस प्रणाली से जुड़कर इंटरपोल की सेवाएं प्राप्त कर सकते हैं।

पुलिस को डेटा सेवाएं मुहैया करवाना – पुलिस के लिए ऑपरेशनल डेटा सेवाएं और डेटाबेस I-24/7 उपलब्ध कराई गयी हैं जिनके जरिये सदस्य देश जरुरत पड़ने पर सीधे डेटा प्राप्त कर सकते हैं जिनमें डीएनए फिंगरप्रिंट, नकली भुगतान कार्ड, मोटर वाहन की चोरी, विशेष पेंटिंग्स की चोरी और खोया हुआ यात्रा दस्तावेज जैसी जानकारियां प्राप्त की जाती हैं।

अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक एकजुटता – विश्व को अपराध मुक्त करने के प्रयासों में इंटरपोल के विशेष प्रयासों में अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक एकजुटता बनाना भी एक अहम कार्य है और इसके साथ-साथ विश्व की सुरक्षा के लिए रासायनिक, जैविक, रेडियोलॉजिकल, परमाणु और विस्फोटक खतरों से निपटने के लिए तैयार रहना और इन्हें दूर करने के उपाय करना भी शामिल है।

संगठित और नए प्रकार के क्राइम को कम करना – मानव तस्करी को रोकना, अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं को पार करने वाले अपराधियों को पकड़कर गिरफ्तार करना, कमजोर समुदायों की सुरक्षा करना, अवैध बाज़ारों को समाप्त करना और आपराधिक नेटवर्क को तोड़ने और संगठित अपराधों को खत्म करने जैसे कार्य इंटरपोल द्वारा किये जाते हैं।

साइबर क्राइम से निपटना – तेज़ी से बढ़ते जा रहे साइबर क्राइम से दुनिया में पैदा हुयी नयी मुश्किलों और चुनौतियों का पता लगाना और उनकी जांच करना और साइबर क्राइम से होने वाले खतरों से निपटने के लिए लगातार प्रयास करते रहना इंटरपोल के कार्यों का एक हिस्सा है।

दोस्तों, अब आप जान चुके हैं कि पूरी दुनिया में अमन और शान्ति बनी रहे और दुनिया का हर एक शख्स अपनेआप को सुरक्षित महसूस कर सके, इसके लिए दुनिया भर की पुलिस एकजुट होकर मुश्किल से मुश्किल अपराध को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए एकजुट और कटिबद्ध है और इन 192 देशों की पुलिस के आपसी सहयोग से बनी संस्था का नाम ही इंटरपोल है।

आपको यह लेख कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“भारत के रॉ एजेंट किस प्रकार कार्य करते हैं?”

Featured Image Source

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें