वर्तमान परिस्थिति में Mutual fund में निवेश Lumpsum या STP?

अगस्त 17, 2018

वर्तमान में बाजार लगभग अपने सर्वोच्च स्तर पर है अगला साल चुनावी वर्ष भी है सो निवेशक भ्रमित है कि अपना पैसा कहॉ व कैसे लगाये। Mutual fund के अलावा अन्य Financial Instrument बहुत ही कम रिर्टन दे रहे हैं सो पैसा तो Mutual fund में ही लगाना चाहिए। प्रश्न यह है कि Lumpsum या STP (Systematic Transfer Plan)?

Lumpsum में निवेशक का पैसा एक साथ Targeted Scheme में लग जाता है। मार्केट Accumulation Zone में होने से नेगेटीव रहने के भी chance रहता है। हॉलाकि long term में कोई दिक्कत नही है। निवेशक हर हालत में पैसा कमायेगा।

लेकिन चुकिं अगले 8 से 12 महिने बिचलन भरे रहने की सम्भावना है। इसलिये निवेशक को STP के द्वारा अपना पैसा निवेश करना चाहिए।

STP में निवेशक का Lumpsum पूरा पैसा पहले Liquid Fund में चला जाता है। फिर वहा से धीरे-धीरे Daily/weekly/Monthly basis पर Targeted Equity/Balanced Scheme में आता रहता है। Business Class STP को ज्यादा prefer करता रहा है। इसमें Liquid Fund में निवेशित राशि पर ब्याज भी मिल जाता है और Equity में Average भी हो जाती है।

उदाहरण – निवेशक ने 100000 (एक लाख) रूपये Liquid Fund में लगाये और इसे 100 दिन की STP में divide कर दिया तो निवेशक को 100 फिर 99 फिर 98 फिर 97 पर (इस तरह धटती दर रकम पर) Interest मिलता रहेगा। वही दूसरी तरफ 1000 रूपये रोजाना Target Equity Scheme में जाता रहेगा। इससे निवेशक को Average का फायदा होने के साथ-साथ कट Interest मिल जायेगा।

जब मार्केट Condition Clear नहीं हो तो STP investment का best माध्यम होता है। मेरी राय में निवेशक को STP पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।

Long Term Investment जो थोडा बहुत Ricks भी ले सकते है। उनको ही Lumpsum में लगाना चाहिए।

ये लेख फाइनेंशियल एडवाइजर श्री राजेश कुमार सोढानी, सोढानी इंवेस्टमेंट्स, जयपुर द्वारा प्रस्तुत है। फाइनेंशियल प्लानिंग पर आधारित ये लेख आपको कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“S.I.P में देरी की लागत”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

शेयर करें