इज़राइल से जुड़ी कुछ रोचक बातें

456

दुनिया के मानचित्र पर आपने बहुत से देशों के नाम पढ़े होंगे और उनमें से कुछ देशों की सैर भी शायद आपने की हो। हर एक देश की अपनी कुछ विशेषताएं होती हैं जो उसे बाकी देशों से अलग पहचान दिलाती है जैसे किसी देश का पहनावा, रहन सहन, खानपान, बोली और वहाँ की मान्यताएं। आज एक ऐसे ही देश का ज़िक्र करेंगे जो एशिया महाद्वीप में मौजूद है और इसकी उम्र अभी काफी कम है और ये देश है इज़राइल। तो चलिए, आज आपको बताते है इज़राइल से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें –

* इज़राइल दुनिया के सबसे नए देशों में से एक हैं क्यूँकि इसकी स्थापना 1948 में हुयी है।

* इज़राइल दुनिया का अकेला यहूदी देश है और इसकी एक अनोखी नीति है कि पूरी दुनिया में कहीं भी, किसी भी देश में रहने वाले यहूदी इज़राइल के नागरिक माने जाएंगे।

* इसकी जनसँख्या लगभग 90 लाख है जो भारत के दिल्ली शहर की जनसँख्या से भी कम है।

* इज़राइल की राष्ट्र भाषा हिब्रू है जो मध्यकाल में अपना अस्तित्व खो चुकी थी लेकिन इज़राइल के निर्माण के बाद राष्ट्रप्रेमी यहूदियों ने अपनी भाषा हिब्रू को इज़राइल की आधिकारिक भाषा बनाया और इस तरह एक नए राष्ट्र ने अपनी पुरानी भाषा को पुनर्जीवित किया। यहाँ हिब्रू के अलावा अरबी भाषा को भी आधिकारिक भाषा का दर्ज़ा प्राप्त है।

* इज़राइल के क्षेत्रफल की बात करें तो इज़राइल के आकार का अंदाज़ा आप इस बात से लगा सकते है कि तीन इज़राइल मिल कर भी राजस्थान राज्य के बराबर नहीं हो सकते।

* इज़राइल का एक ख़ास नियम ये है कि इसके हर नागरिक का एक बार सैन्य सेवा में शामिल होना अनिवार्य है चाहे वह महिला हो या पुरुष, आम नागरिक हो या फिर विशेष पद पर आसीन व्यक्ति।

* इज़राइल की वायुसेना अमेरिका, रूस और चीन के बाद चौथे पायदान पर है जो हर हमले का कड़ा जवाब देने में समर्थ है।

* इज़राइल वो अकेला देश है जो पूरी तरह से एंटी बैलिस्टिक मिसाइल डिफेन्स सिस्टम से लैस है यानि इज़राइल के किसी भी इलाके में हमला करने वाली मिसाइल रास्ते में ही ख़त्म हो जाती है।

* इज़राइल ना केवल मिसाल के मामले में समृद्ध है बल्कि हरियाली रखने में भी काफी आगे है। ये दुनिया का ऐसा एकमात्र देश है जिसके क्षेत्र में 21वीं सदी में पिछली सदी से ज़्यादा वृक्ष थे।

* इज़राइल देश सबसे ज़्यादा खर्चा रक्षा क्षेत्र पर करता है और अब तक 7 लड़ाइयाँ लड़ चुका ये देश ज़्यादातर लड़ाइयों में जीता ही है।

* टेक्नोलॉजी में भी इज़राइल ने अपनी पहचान बनायीं है। पहली वॉइस मेल तकनीक इज़राइल में ही विकसित की गयी और माइक्रोसॉफ्ट कम्प्यूटर्स के लिए पहला पेंटियम चिप भी इजरायल में ही बना था। इसके अलावा घरेलू कम्प्यूटर उपयोग के मामले में भी दुनिया में पहले स्थान पर है इज़राइल।

* अमेरिका द्वारा 1952 में अल्बर्ट आइंस्टीन को इज़राइल का राष्ट्रपति बनने की पेशकश की गयी क्यूँकि आइंस्टीन एक यहूदी थे लेकिन आइंस्टीन की इसमें कोई रूचि नहीं होने के कारण उन्होंने ये प्रस्ताव ठुकरा दिया।

* इज़राइल ही वो देश था जिसमें सबसे पहले एंटीवायरस बना और माइक्रोसॉफ्ट और सिस्को ने अमेरिका के बाहर अपने रिसर्च सेंटर सिर्फ इजरायल में ही बनाए।

* शिक्षा के क्षेत्र में भी इज़राइल अग्रणी रहा है। जनसंख्या के अनुसार सबसे ज़्यादा विश्वविद्यालय इज़राइल में ही हैं। यहाँ किताबों के मामले में प्रति व्यक्ति के हिसाब से सर्वाधिक किताबें छपती हैं।

* इज़राइल भले ही छोटे देशों में गिना जाता है लेकिन यहाँ राजनीतिक पार्टियों की संख्या काफी है और मध्य पूर्व के देशों में इज़राइल अकेला देश है जहाँ महिलाओं को पुरुषों के बराबर अधिकार हासिल है।

* इज़राइल में सोलर एनर्जी का इस्तेमाल बहुत अधिक किया जाता है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि 10 में से 9 घर सोलर एनर्जी का इस्तेमाल करते हैं।

* व्यावसायिक स्तर पर दुनिया में तीसरे पायदान पर खड़ा ये देश हीरों के थोक व्यापार का केंद्र भी है।

* दुनिया में सर्वाधिक शरणार्थियों को आश्रय देने वाले इस देश ने अपने सामर्थ्य और अपनी क्षमता के दम पर दुनिया में अपनी अलग पहचान बनायीं है जिसके बारे में जान कर आपको भी हैरानी जरूर हुयी होगी।

“मेक्सिको देश से जुड़े कुछ रोचक तथ्य”
“ये हैं वो देश जहाँ महिलाऐं ज्यादा हैं पुरुष कम”
“इन देशों के पासपोर्ट हैं सबसे ताकतवर”

Add a comment