जानिए आखिर क्यों फड़कती हैं आंखें

कई बार अचानक हमारी आँख फड़कने लगती है लेकिन हम उसे शुभ अशुभ संकेतों से जोड़कर देखते हैं। यूँ तो आँखों का फड़कना एक आम बात है लेकिन आम लोगों का ऐसा मानना है की अगर किसी पुरुष की दाईं आँख और किसी महिला की बाईं आँख फड़के तो वो एक शुभ संकेत होता है जबकि इसके विपरीत अगर किसी पुरुष की बाईं आँख और किसी महिला की दाईं आँख फड़के तो वो एक अशुभ संकेत माना जाता है। जबकि आंखों के फड़कने के पीछे एक वैज्ञानिक कारण भी है। क्यों फड़कती हैं आंखें, आइये जानते हैं आँखों के फड़कने के पीछे की असली वजह क्या है।

तनाव – तावान भी आँखों के फकड़ने का एक कारण होता है जब आपकी ऑंखें बहुत तनाव में हों या दृष्टि सम्बन्धी परशानी हो तो ऑंखें फड़कने लगती है।

थकान – जब आप तनाव या किसी दूसरी वजहों से अगर आप नींद पूरी नहीं ले पाते और या आप बेहद थके हुए होते हैं तब भी आँखों का फड़कना स्वाभाविक है। ऐसे में पर्याप्त नींद लें इससे आपकी आँखों का फड़कना बंद होगा।

आंखों की कमजोरी – अगर आपकी ऑंखें कमजोर हैं और आपकी आँखों पर नजर का चश्मा लगा है लेकिन फिर भी आपकी आँखों में तनाव बना रहता है तो इस वजह से भी आपकी आँखों का फड़कना स्वाभाविक है इसके लिए आपको अपने चश्मे को बदलने की जरुरत है हो सकता है आपकी दृष्टि सम्बन्धी समस्या के लिए आपका चश्मा सही ना हो।

कैफीन – कैफीन का ज्यादा मात्रा में सेवन करने से भी आंखे फड़कती है। ऐसे में अगर आपकी ऑंखें भी अक्सर फड़कती हैं तो आपको ज्यादा कॉफ़ी, चाय और चॉकलेट जैसी कैफीन वाली चीज़ों का त्याग करना पड़ेगा।

एलर्जी – आंखों में एलर्जी के कारण भी आँखों में खुजली, पानी आना और आंख फड़कने जैसी समस्या होती है ऐसे में डॉक्टर से सलाह लें और इसका सही इलाज करवाएं, आँखों का फड़कना बंद हो जायेगा।

शराब – अगर आप ज्यादा मात्रा में शराब का सेवन करते हैं तो भी आँखों के फड़कने की सम्भावना हो सकती है ऐसे में अधिक मात्रा में शराब या किसी भी तरह के नशे से बचें।

पोषक तत्वों की कमी – मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्वों की कमी होने पर आँखों की पलकों में ऐंठन होने लगती है ऐसे में हमारी ऑंखें फड़कने लगती है। इससे निजात पाने के लिए भरपूर मात्रा में मैग्नीशियम युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें।

कम रोशनी – कम रोशनी में पढ़ने या कंप्यूटर पर काम करने से आँखों पर जोर पड़ता है और ये भी आँखों के फड़कने का एक मुख्य कारण होता है। ऐसे में पढ़ते समय या कंप्यूटर पर काम करते समय हमेशा पर्याप्त रौशनी रखें।

बचाव – ऊपर बताये सभी कारणों से आँखों के फड़कने की सम्भावना होती है ऐसे में हमेशा पर्याप्त नींद लें और आँखों को ठन्डे पानी से धोएं। इसके अलावा जब भी आंख फड़के अपनी आँखों को लगातार 30 सेकण्ड तक झपड़ें।

“क्यों हो जाती है हमारी आंखें कमजोर, जानिए मुख्य कारण”
“हम अपनी आंखें क्यों झपकाते हैं ?”
“अपनाएं ये 10 टिप्स, कंप्यूटर के सामने बैठने पर नहीं होगा आँखों में तनाव”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment