जिंदगी में वही लोग सफल होते हैं, जो गलतियां करते हैं

424

गलतियों का ज्यादातर लोगों के जीवन पर जबरदस्त प्रभाव पड़ता है। स्कूल में, आपको सवालों के जवाब देना सिखाया गया था, घर पर आपको अनुशासित और व्यवहार को बेहतर बनना सिखाया जाता था और कार्यस्थल पर आपसे बिना किसी गलती के परिणाम की उम्मीद की जाती है।

इन सभी स्थितियों में एक बड़ी समस्या यह है कि इसमें आपको सजा मिलती है। अगर आप गलत जवाब देते हैं, तो टीचर आपको डांटता या मारता है, घर में आपको पेरेंट्स की डांट सुननी पड़ती है और ऑफिस में बॉस की। इसमें कोई शक नहीं है कि कम उम्र से लोगों को गलतियां करने को लेकर बुरा महसूस करना सिखाया जाता है। यानि गलती करने वाले को यह एहसास करना सिखाया जाता है कि उसने कोई पाप कर दिया है। कुछ लोग गलती को एक विफलता के रूप में ले लेते हैं। वास्तव में गलतियों को लेकर समाज में एक ऐसा परिवेश बन गया है कि लोग अपने जीवन को बिना गलतियों के जीने की कोशिश करते हैं। यह एक तरह की मजबूरी बन गई है। इससे लोग अपनी गलतियों को छिपाने या झूठ बोलने की कोशिश कर सकते हैं। लेकिन सच तो यह है आप जितनी गलतियां करते हैं आपका कॉन्फिडेंस उतना ही बढ़ता है।

आपको मजबूत बनाती हैं गलतियां
सच यह है कि जब हम गलतियों से बचने की कोशिश करते हैं, तो हमसे उतनी ही ज्यादा गलतियां होती हैं। आपको गलतियों को एक अलग नजरिये से देखने की जरूरत है। ये कोई राक्षस नहीं है बल्कि यह आपको उभारती हैं। गलतियों से आपको व्यक्तिगत विकास में सुधार लाने आपको मजबूत बनाने में मदद करती हैं।

गलती करने से कभी-कभी अच्छा भी हो जाता है
अगर आप हमेशा गलती करने से बचते हैं, तो इससे आपको एक बनी बनाई योजना से हटकर कुछ करने का मौका मिल जाता है। कल्पना कीजिए किसी विदेशी स्थान की यात्रा के दौरान किसी कारण आपकी फ्लाइट मिस हो गई है और आपको चौबीस घंटे एयरपोर्ट पर गुजारना पड़े, जिसकी उम्मीद आपने पहले नहीं की थी। लेकिन इसी बीच अगर आपको अगली फ्लाइट से पहले निकटतम शहर देखने को मिल जाए और वो आपको पसंद आ जाए, तो आपको कभी अपनी इस गलती पर पछतावा नहीं होगा।

बेहतर फैसले लेने सिखाती हैं
जीवन में सबसे गलतियां होती हैं। आपके ना चाहते हुए भी कभी-कभी ऐसी स्थितियां पैदा हो जाती हैं, जहां आपसे गलतियां हो जाती हैं। लेकिन आपकी समझ को बेहतर करती हैं और भविष्य में बेहतर फैसले लेना सिखाती हैं।

आपको सफल बनाती हैं गलतियां
असफल लोग गलतियों से बचने के लिए अपनी एनर्जी और फोकस पर अधिक बल देते हैं लेकिन सफल लोग अपनी एनर्जी और फोकस को अपने लक्ष्यों को पाने के लिए निरंतर प्रयास करने पर लगाते हैं।

जिम कैरी को भला कौन नहीं जानता है। आपने इनकी कई कॉमेडी मूवी देखी होंगी। अपनी पहली स्टैंड-अप कॉमेडी करते समय इनसे मंच पर गलती हो गई थी जिससे इन्हें सफलता नहीं मिली। लेकिन अपनी इस हार को उन्होंने एक सबक के रूप में लिया। इसके बाद दूसरी बार भी उन्हें असफलता मिली। इसके बाद उन्होंने अपना कॉन्फिडेंस और हिम्मत को हारने नहीं दिया और साल 1994 में इन्हें ब्लॉकबस्टर मूवी ‘एस वेंचुरा’ में काम करने का मौका मिला।

अमेरिका के मशहूर बास्केटबॉल माइकल जॉर्डन को कौन नहीं जानता है। अपने एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा, ‘मेरे करियर में मुझसे कम से कम 9000 शॉट्स मिस हुए। मुझे करीब 300 गेम्स में हार का सामना करना पड़ा। 26 मौकों पर मुझे खेल जीतने का शॉट खेलने का मौका मिला लेकिन मैं विफल रहा। मैं अपने जीवन में बार-बार विफल रहता हूं।’ मुझे लगता है अगर आज मैं सफल हूं, तो इसके पीछे कहीं न कहीं मेरी असफलताओं का हाथ है।

विफल होना तब विफल माना जाता है जब आप उससे कुछ नहीं सीखते
किसी भी काम में गलती होना स्वाभाविक है। आप जानते हैं कि विकल्प जोखिमों के साथ आते हैं और जोखिमों से गलतियां हो सकती हैं। लेकिन अगर आप बार-बार उस गलती को दोहराते हैं, तो इसका मतलब है कि आप उससे कुछ सीख नहीं ले रहे हैं। इसलिए अपनी गलतियों से सबक लें और सुधार करके जीवन में आगे बढ़ें।

“इन वजहों से भी हो जाती है उम्र कम, कहीं आप तो नहीं करते ये गलतियां”
“अगर लंबी जिंदगी जीना चाहते हैं तो ना करें ऐसी गलतियां”
“शास्त्रों के अनुसार कभी ना करें ये गलतियां, दूर हो जाएगा बेड लक”

Add a comment