कड़ी मेहनत के बावजूद भी क्या कारण है कि हम सफल नहीं हो पाते?

बचपन से कितनी ही बातें सीखते हुए आप बढ़े हुए हैं। हर छोटी से छोटी बात में सही और ग़लत की समझ के साथ बढ़ते हुए, एक सीख आपने भी ज़रूर ली होगी कि ‘कड़ी मेहनत करोगे तो ही सफल हो पाओगे’ और आपने इसे सच मानते हुए ही अपना हर लक्ष्य भेदने की कोशिश भी की होगी। काफी हद तक ये बात सही भी है लेकिन इसे पूरी तरह सही कहना थोड़ा मुश्किल है और सिर्फ कड़ी मेहनत करते जाने के बाद भी जब आप सफल नहीं हो सके, तब आपने भी यही सोचा होगा कि – कड़ी मेहनत करने के बाद भी मुझे सफलता क्यों नहीं मिली?

अगर आप इस सवाल का जवाब चाहते हैं तो आपको खुद से कुछ और सवाल भी करने होंगे, जो आपको ये बता पाएंगे कि कड़ी मेहनत के साथ जिन बातों का ध्यान रखना ज़रूरी था, उन पर तो आपने गौर ही नहीं किया। तो चलिए, आज करते हैं खुद से ये चंद सवाल –

1. क्या आपका लक्ष्य स्पष्ट था?
आपको ये सोचना है कि जिस लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर पाने के कारण आप असफल महसूस कर रहे हैं और जिस लक्ष्य को भेदने के लिए आपने कड़ी मेहनत की थी, क्या वो लक्ष्य स्पष्ट था ? क्या आप उस लक्ष्य से स्पष्ट रूप से परिचित थे ? क्या आप पूरी तरह उसी लक्ष्य पर केंद्रित थे ? क्या आपको लक्ष्य तक पहुँचने का सही रास्ता पता था ? इसका अर्थ ये है कि सिर्फ कड़ी मेहनत करते जाने से सफलता नहीं मिलती बल्कि सही दिशा में सही प्रयास करना भी बेहद ज़रूरी होता है।

2. क्या लक्ष्य का निर्धारण आपने किया था?
ये सवाल बहुत अहम है कि जिस लक्ष्य को पाने के लिए आपने कड़ी मेहनत की, क्या वो लक्ष्य आपने चुना था ? या किसी ओर के चुने गए लक्ष्य को पूरा करने का प्रयास आप कर रहे थे ? इस बात पर गौर करिये कि अगर लक्ष्य आपकी रुचियों, क्षमताओं और सपनों से जुड़ा होता है तो उसे प्राप्त करने के लिए आप हर समय प्रेरित रहते हैं और किसी बाहरी प्रेरणा की ज़रूरत भी आपको नहीं पड़ती।

आपका पूरा फोकस अपने उसी टारगेट पर केंद्रित रहता है। ऐसे में अगर लक्ष्य आपने स्वयं नहीं चुना है तो भले ही कितनी भी कड़ी मेहनत कर ली जाए, वो लक्ष्य आपके लिए उतना महत्व नहीं रख पाता और इसी वजह से आप असफल होते चले जाते हैं इसलिए सफलता के लिए ज़रूरी है कि आपके जीवन के लक्ष्य का चुनाव आपने किया हो।

3. क्या आप अपना पसंदीदा काम करते हैं?
बात अगर स्टूडेंट लाइफ की करें तो अगर आप अपने पसंदीदा सब्जेक्ट्स पढ़ते हैं तो उनमें अच्छे मार्क्स आना तय है लेकिन अगर आप ऐसे सब्जेक्ट्स का चुनाव करते हैं जो भले ही आसान हो लेकिन आपको पसंद ना हो, तो आपका रिजल्ट उतना अच्छा नहीं आता। इसका कारण है कि आपने अपनी पसंद को चुनने की बजाए फायदा पहुंचाने वाले ऑप्शन को चुना है।

इसी तरह करियर का चुनाव करते समय अगर आपने अपनी हॉबी को अपना करियर बनाया है तो आपका सफल होना तय है लेकिन अगर आपने अपनी रूचि से अलग, ऐसे फील्ड को करियर बनाया है जिसमें फायदा बहुत मिल सकता है पर आपका उसमें इंटरेस्ट बिलकुल भी नहीं है, तो कड़ी मेहनत करने के बाद भी आप वो सफल मुकाम नहीं पा सकेंगे जिसकी आपको चाह है।

4. क्या आप खुश हैं?
लाइफ में आप कोई भी कार्य करिये, उसे करते समय अगर आप ख़ुशी महसूस करते हैं और उस काम को करने में आपको ना थकान होती है और ना ही समय का ध्यान रहता है तो समझ लीजिये कि यही वो काम है जो आपको जीवनभर ख़ुशी दे सकता है। ऐसे काम को अगर आप करियर के तौर पर अपनायेंगे तो आपकी सफलता निश्चित है।

इतना ही नहीं, ऐसे मनपसन्द काम को करने में आपको कड़ी मेहनत करने की भी ज़रूरत नहीं पड़ेगी इसलिए ऐसे काम और ऐसे लक्ष्य चुनिए जो आपको ख़ुशी देते हों, यकीन मानिये आपकी सफलता इतनी बड़ी होगी जितनी आपने कल्पना भी नहीं की होगी।

5. क्या आप सिर्फ कड़ी मेहनत करते हैं?
अगर आप किसी भी काम को अंजाम देने के लिए सिर्फ कड़ी मेहनत के विकल्प पर ही गौर करते हैं तो ये आपको सफल बनाएगा, ये निश्चित रूप से नहीं कहा जा सकता। दरअसल कड़ी मेहनत से भी ज़्यादा ज़रूरी होता है सही समय पर सही काम को अंजाम देना।

जब तक ‘स्मार्ट वर्क’ को ‘हार्ड वर्क’ के साथ नहीं जोड़ेंगे, सफलता आपसे दूर ही रहेगी इसलिए समय और हालात के अनुसार वो काम करिये जो उस समय जरुरी है, ना कि अनावश्यक कड़ी मेहनत में लगे रहिये।

उम्मीद है कि इन सवालों के जवाब देकर, आप अपने इस सवाल का जवाब पा सके होंगे कि –‘कड़ी मेहनत करने के बाद भी आप सफल क्यों नहीं हुए।‘ लेकिन आप ऐसा सोचकर रुकिए नहीं कि – ‘अब सफल होने के लिए, सही दिशा में प्रयास करने के लिए बहुत देर हो चुकी है’, क्योंकि सफलता तो आप के इंतज़ार में ही बैठी है, बस आपके सही रास्ते पर चलने की देर है इसलिए बिना देरी किये, सही राह पकड़ लीजिये और सफल हो जाइये क्योंकि कोशिश करने वालों के लिए कभी देर नहीं होती।

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“ऐसे शख्स जिन्होंने असफलताओं को चुनौती दी और पाई अपार सफलता”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।