जानिए कैसे बचें मोबाइल की लत से

290

तकनीक ने हमारी ज़िन्दगी को आरामदायक बना दिया है और कुछ ऐसे उपकरण दिए हैं जो किसी करीबी दोस्त से कम नहीं लगते। जी हाँ, मोबाइल फोन और उसमें मौजूद इंटरनेट ने एक अच्छे दोस्त की भूमिका बखूबी निभायी है, ऐसा दोस्त जिससे आप हर छोटी बड़ी बात पूछ सकते है। लेकिन जब आप इसके इस्तेमाल में इतने मशगूल हो गये कि अपने असली दोस्तों और परिवारजनों की सुध लेना ही भूल गए तो यही तकनीकी दोस्त आपके लिए मुश्किल बनने लगा। फोन पर हमेशा कुछ न कुछ देखते रहना, रिंग नहीं बजने की स्थिति में भी बार बार फोन को चैक करते रहने की आदत अगर आपको भी लग गयी है तो थोड़ा संभल जाइये!! क्यूँकि ये मोबाइल की लत है और आपको इस लत को दूर करने की जरुरत है। तो चलिए, आज आपको बताते हैं मोबाइल की लत को दूर करने के आसान से उपाय –

स्वयं को व्यस्त रखें – आजकल हर किसी को अपने मोबाइल फोन में बिजी देखा जा सकता है और अगर आपस में बातें भी करनी हो तो आप अपने मोबाइल के फीचर्स के बारे में ही बात करते है न । मोबाइल की लत से बचना चाहते है तो अपने आप को दूसरे तरह के कामों में व्यस्त करने की कोशिश करें, ऐसे काम जिनके लिए आपको अपने फोन की मदद न लेनी पड़े।

मोबाइल की सीमित आवश्यकता को समझें – आपका फोन केवल जरुरी कॉल करने और मैसेज भेजने का एक उपकरण मात्र है, इसका महत्व सीमित है। इसे इतना महत्व न दे जितना आप अपने मित्रों और परिवारजनों को भी नहीं दे पाते हैं।

नोटिफिकेशन्स को बंद कर दें – मोबाइल फोन में नोटिफिकेशन की आवाज़ आने के साथ ही आप तुरंत अपना फोन हाथ में लेकर चेक करने लगते हैं और फिर फोन में ही कुछ और देखने में बिजी हो जाते हैं। इससे बचने के लिए आपको नोटिफिकेशन्स को ऑफ कर देने की जरुरत है ताकि जल्दी जल्दी फोन को चेक करने की आदत से छुटकारा मिल सके।

सोशल मीडिया ऐप्स को हटाएं – एक रिसर्च के मुताबिक एक यूजर दिन में 25 से 100 बार सोशल मीडिया देखने के लिए अपना फोन चेक करता है। ऐसे में अगर आप मोबाइल की लत को दूर करना चाहते हैं तो इन ऐप्स को फोन से हटा दें।

फोन के इस्तेमाल को सीमित करें – आजकल ये आम बात हो गयी है कि आप चाहे खाना खा रहे हो या फिर बाथरूम में हो, या फिर किसी पार्टी में गए हो, आपके साथ आपका फोन ज़रूर रहेगा और अपना ज्यादा से ज्यादा वक़्त आप उसे देखने में ही बिताएंगे। ऐसी स्थिति में आप अपना कोई भी काम ढंग से नहीं कर पाते हैं इसलिए फोन को हमेशा हर जगह साथ रखने की इस आदत को बदलिए।

हर काम के लिए फोन पर निर्भर न रहें – आजकल आप अपने हर एक काम के लिए फोन पर निर्भर रहते हैं। चाहे सुबह का अलार्म लगाना हो या फिर समय देखना हो और दोस्तों के जन्मदिन याद रखने के लिए भी आप रिमाइंडर की मदद लेते हैं। फोन पर इतनी निर्भरता आपको एडिक्ट बना देती है। इस लत से दूरी बनाने के लिए अलार्म क्लॉक का इस्तेमाल कीजिये और रिस्ट वॉच से समय देखने की आदत डाल लीजिये और दोस्तों के जन्मदिन याद रखने के लिए आप डायरी की मदद भी तो ले सकते है न।

दोस्तों के साथ समय बिताएं – पूरा समय मोबाइल में कुछ न कुछ देखते रहने से अच्छा है कि आप दोस्तों के बीच जाए और उनके साथ खेलकूद और बातचीत में अच्छा समय बिताएं।

मनोवैज्ञानिक शोधों से पता चला है कि मोबाइल में इंटरनेट देखते रहने की ये लत ड्रग्स या शराब की लत जितनी खतरनाक और नुकसानदायक है। बच्चे और युवा वर्ग इंटरनेट एडिक्‍शन डिसऑर्डर से पीड़ित है। रिसर्च के अनुसार इंटरनेट की बुरी लत आपके दिमाग और प्रतिरोधक तंत्र को कमजोर कर देती है जिसके कारण आपकी बीमारियों से लड़ने की क्षमता में कमी आ सकती है।

ऐसी स्थिति में मोबाइल की लत से बचना कितना ज़रूरी है, ये आप समझ ही गए होंगे। तो बस देर किस बात की, अब से जब भी फोन के पास जाने का मन करे, आप इन सारी बातों को याद कर लेना और फिर धीरे-धीरे इस लत से छुटकारा पाने में आप सफ़ल हो जाएंगे।

“एक शोध में आये चौंकाने वाले परिणाम, कहीं आपको भी तो नहीं मोबाइल की ऐसी लत”

Add a comment