करेले के जूस के फायदे

जनवरी 22, 2018

करेले का नाम सुनते ही भले ही आपकी त्योरियाँ चढ़ जाती हों और शायद इसके कड़वे स्वाद के कारण आप इसे नापसंद भी करते हों लेकिन करेले को पसंद करने वाले लोग भी कम नहीं हैं। सेहत के प्रति जागरूक लोगों की पसंदीदा सब्जियों में से एक है करेला, क्योंकि ये बहुत-सी बीमारियों को हमसे दूर रखता है। इसमें मौजूद औषधीय गुणों के कारण होमियोपैथी औषधि का मूल तत्व करेला ही है और इसमें फाइबर, प्रोटीन, कैल्शियम और फॉस्फोरस पाया जाता है। इस कड़वे स्वाद वाले करेले का सेवन हमारी सेहत में मिठास घोलता है। करेले को खाने की बजाए अगर आप करेले के जूस को पीना चाहे तो ये भी एक बेहतरीन विकल्प है और करेले के जूस को खाली पेट पीने से शरीर द्वारा इसे अच्छी तरह अवशोषित कर लिया जाता है। ऐसे में क्यों ना आज, इस करेले के जूस से होने वाले फायदों को जानें। तो चलिए, आज आपको बताते हैं करेले के जूस से सेहत को मिलने वाले फायदों के बारे में–

मधुमेह में फायदेमंद – मधुमेह में अगर करेले का जूस पीया जाए तो शरीर में इन्सुलिन का स्राव बढ़ने लगता है क्योंकि इसमें इन्सुलिन पर्याप्त मात्रा में होता है और ये इन्सुलिन यूरिन और रक्त दोनों की शुगर को कण्ट्रोल कर सकता है। ऐसे में सुबह खाली पेट करेले का जूस पीकर डायबिटीज को कण्ट्रोल किया जा सकता है।

भूख बढ़ाता है – सही समय पर भूख लगना अच्छी सेहत की निशानी होती है लेकिन अगर भूख समय पर ना लगे तो सेहत से जुड़ी कई समस्याओं से सामना करना पड़ता है। ऐसे में करेले का जूस पीकर भूख को बढ़ाया जा सकता है और डाइजेशन को भी बेहतर बनाया जा सकता है।

मोटापा दूर करे – मोटापा दूर करने में भी करेला काफी मदद करता है। इसके लिए आधा कप करेले के रस में आधा कप पानी और नींबू मिलाकर सुबह खाली पेट पीना चाहिए।

लीवर से विषैले पदार्थों को बाहर निकाले – रोज़ाना एक गिलास करेले का जूस पीने से लीवर से विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और पीलिया जैसी लीवर से जुड़ी बीमारियां भी दूर हो जाती हैं। ऐसा होने पर लीवर स्वस्थ बना रहता है और सुचारु रूप से अपना काम करता है।

खून को साफ करे – करेले का जूस एक प्राकृतिक रक्त शोधक की तरह कार्य करता है। इसे पीने से जहरीले तत्वों और फ्री-रेडिकल्स से होने वाले नुकसानों से बचाव होता है और खून साफ हो जाता है।

आँखों की रोशनी बढ़ाये – नियमित रूप से सुबह खाली पेट करेले का जूस पीने से होने वाले फायदों में एक फायदा आँखों की रोशनी से भी जुड़ा है। करेले में मौजूद बीटा-कैरोटीन और विटामिन-ए आँखों की रोशनी को बढ़ाता है और आँखों से जुड़े विकार भी दूर होने लगते हैं।

सोराइसिस के लक्षणों को दूर करता है – त्वचा पर सोराइसिस होने की स्थिति में, कुछ महीने तक अगर एक कप करेले के जूस में एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर सुबह खाली पेट पिया जाए तो सोराइसिस प्राकृतिक रूप से सही होने लगता है और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ जाती है।

अग्नाशय के कैंसर के उपचार में सहायक – करेले में एंटी-कैंसर कॉम्पोनेंट्स मौजूद होते हैं जो अग्नाशय का कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं में ग्लूकोस का पाचन रोक देते हैं। ऐसा करने से उन कोशिकाओं की शक्ति समाप्त हो जाती है और वो कोशिकाएं ख़त्म हो जाती है।

करेले का जूस ना केवल इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है बल्कि गठिया के दर्द में भी आराम दिलाता है। त्वचा पर होने वाले फंगल इन्फेक्शन को दूर करना हो या फिर बवासीर में राहत पानी हो तो इसके लिए करेले का जूस पीना चाहिए।

इसके अलावा नशे के प्रभाव को कम करने और ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल रखने में भी करेले का जूस काफी फायदेमंद साबित होता है। शरीर को कई इन्फेक्शन से सुरक्षित रखने वाला करेले का जूस शरीर में ऊर्जा और ताज़गी भी बनाये रखता है। ऐसे में आप जान गए होंगे कि सेहत को पूरी तरह दुरुस्त रखने के लिए करेले का जूस पीना एक बेहतरीन विकल्प है।

लेकिन करेले के जूस का सेवन करने के दौरान भी इस बात का ध्यान रखना ज़रूरी है कि आप इसकी ज़्यादा मात्रा का सेवन ना करें ताकि आपको इसकी अति से होने वाले नुकसान ना उठाने पड़े।

हमने यह लेख प्रैक्टिकल अनुभव व जानकारी के आधार पर आपसे साझा किया है। अपनी सूझ-बुझ का इस्तेमाल करे। आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“एलोवेरा जूस पीने से होते हैं ये अविश्वसनीय स्वास्थ्य लाभ”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

शेयर करें