वजन कम करना एक ऐसा टास्क है जो हमेशा से एक चुनौती रहा है और बढ़े हुए वजन को कम करने के लिए लोग हर तरह की मेहनत करने को तैयार भी हो जाते हैं और ऐसी ही एक डाइट है कीटो डाइट जो तेजी से वजन कम करने में मददगार साबित होती है। ऐसे में आपको भी इस डाइट के बारे में जरूर जानना चाहिए। तो चलिए, आज बात करते हैं कीटो आहार के बारे में।

Today's Deals on Amazon

कीटोजेनिक डाइट या कीटो डाइट कार्बोहाइड्रेट्स की कम मात्रा वाला आहार होता है। इस डाइट से लीवर में कीटोन्स बनने लगते हैं जिनका इस्तेमाल शरीर ऊर्जा बनाने में करता है। इस डाइट को “लो कार्ब और हाई फैट डाइट” के नाम से भी जाना जाता है।

जब डाइट में ज्यादा कार्बोहाइड्रेट्स लिए जाते हैं तो शरीर में ग्लूकोज और इन्सुलिन बनने लगते हैं। इन्सुलिन ग्लूकोज को ब्लड के जरिये पूरे शरीर में पहुंचाने का काम करता है और ग्लूकोज को ऊर्जा में बदलना शरीर के लिए बहुत आसान होता है। जब शरीर को ग्लूकोज के जरिये पर्याप्त ऊर्जा मिलने लगती है तो शरीर फैट का इस्तेमाल ऊर्जा के रूप में नहीं करता है और फैट शरीर में जमने लगता है।

ऐसे में वजन कम करने के लिए कम कार्बोहाइड्रेट्स युक्त आहार लेना कीटोसिस की स्थिति उत्पन्न करता है। इस स्थिति में शरीर कीटोन्स का उत्पादन करता है जो लीवर में फैट बर्न होने से बनते हैं।

कीटो आहार ना केवल वजन कम करने में कारगर साबित होती है बल्कि-

  • एकाग्रता को बढ़ाने में भी सहायक होती है
  • मिर्गी के इलाज में असरदार होती है
  • कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल करती है
  • इन्सुलिन का स्तर सामान्य बनाये रखती है
  • मुहांसों को दूर करके त्वचा को साफ बनाती है

इस कीटो आहार से कुछ नुकसान भी हो सकते हैं जैसे-

  • शारीरिक क्षमता में कमी महसूस होना
  • कब्ज की समस्या होना
  • दिल की धड़कन असामान्य होना
  • घबराहट महसूस होना
  • शरीर में ऐंठन होना

दोस्तों, कीटो आहार फिट रहने का एक अच्छा विकल्प है लेकिन इसे अपनाने से पहले अपने शरीर की क्षमता और आवश्यकता को समझना बहुत जरुरी है।

“आँख का वजन कितना होता है?”