आइये जानते हैं कीबोर्ड का आविष्कार किसने किया। इस कंप्यूटर फ्रेंडली वर्ल्ड में की-बोर्ड के महत्त्व को आप बखूबी जानते हैं, जिसके जरिये हम बड़ी आसानी से कंप्यूटर डेटा फीड करते हैं।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस कीबोर्ड का आविष्कार कैसे और कब हुआ? ऐसे में आज आपको बताते हैं कीबोर्ड के आविष्कार के बारे में।

कीबोर्ड का आविष्कार किसने किया? 1

कीबोर्ड का आविष्कार किसने किया?

की-बोर्ड का आविष्कार अमेरिका के क्रिस्टोफर लैथम शोलेज (Christopher Lathom Sholes) ने किया। उन्हें ‘father of the typewriter’ और ‘ inventor of the QWERTY keyboard ’ के नाम से जाना जाता है।

शोलेज द्वारा बनाये गए पहले टाइपराइटर में सभी अक्षर एक सीधी लाइन में लगे हुए थे यानी A,B,C,D .. के क्रम में। इस तरह के टाइपराइटर को इस्तेमाल करने पर बहुत सी ग़लतियाँ हो जाया करती थी जैसे एल्फाबेट्स का आपस में उलझ जाना, टाइपिंग स्पीड बहुत कम रहना और बटन दबाने में दिक्कत होना।

उस टाइपराइटर में बैकस्पेस बटन भी नहीं था, ऐसे में आप अंदाज़ा लगा सकते हैं कि उसका इस्तेमाल करना कितना मुश्किल रहा करता होगा।

क्रिस्टोफर इन सारी कमियों को दूर करना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने सभी Keys को नए तरीके से व्यवस्थित किया। की-बोर्ड के इस नए रुप को QWERTY Keyboard कहा गया क्योंकि इस की-बोर्ड की पहली लाइन QWERTY से शुरु होती है।

इस की-बोर्ड को इस्तेमाल करना बहुत आसान हो गया क्योंकि QWERTY की-बोर्ड में टाइपिंग स्पीड तेज हो गयी और ग़लतियाँ भी कम होने लगी। क्रिस्टोफर लैथम शोलेज का QWERTY की-बोर्ड इतना लोकप्रिय हुआ कि आज भी कंप्यूटर की-बोर्ड के रुप में इसका इस्तेमाल किया जाता है।

उम्मीद है जागरूक पर कीबोर्ड का आविष्कार किसने किया कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल