एनीमिया क्या है?

हमारी बदली लाइफस्टाइल ने हमारी खानपान की आदतों को भी काफी हद तक बदल दिया है जिसके कारण पौष्टिक आहार से दूरी और जंक फूड जैसी चीज़ों का ज़्यादा सेवन करने से शरीर को आवश्यक तत्व नहीं मिल पाते हैं जिसके चलते खून की कमी होना यानि एनीमिया रोग होना एक सामान्य सी बात हो गयी है। ऐसे में ये जान लेना बेहतर होगा कि एनीमिया क्या है और इसके लक्षण क्या-क्या होते हैं। तो चलिए आज बात करते हैं खून की कमी से होने वाले रोग यानि एनीमिया के बारे में।

Visit Jagruk YouTube Channel

एनीमिया कोई गंभीर बीमारी नहीं है बल्कि बहुत से रोगों का कारण हैं क्योंकि शरीर में खून की कमी से बहुत सी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं।

एनीमिया क्या है – शरीर के लिए आवश्यक अनेक पोषक तत्वों में से एक होता है आयरन जिसका कार्य बेहद महत्व का होता है क्योंकि आयरन शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करता है और ये लाल रक्त कोशिकाएं ही हीमोग्लोबिन बनाती हैं। हीमोग्लोबिन का कार्य होता है फेफड़ों से ऑक्सीजन लेकर रक्त में पहुँचाना। लेकिन अगर शरीर में आयरन की कमी हो जाती है तो हीमोग्लोबिन भी कम हो जाता हैं जिसके कारण ऑक्सीजन की कमी होने लगती हैं और ऐसा होने पर थकान और कमज़ोरी महसूस होती है। शरीर की इसी स्थिति को एनीमिया कहते हैं।

महिलायें होती है ज़्यादा प्रभावित – एनीमिया रोग से ज़्यादा प्रभावित होने वालों में महिलायें अधिक होती हैं क्योंकि पीरियड्स के दौरान ज़्यादा रक्त स्राव होने से भी शरीर में खून की कमी होने लगती है और प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में आयरन की कमी होने से भी एनीमिया होने की सम्भावना बढ़ जाती है। इसके अलावा डाइटिंग करने के दौरान भी लौह तत्व की कमी से एनीमिया हो सकता है और पाइल्स और अल्सर होने पर भी इसकी सम्भावना बनी रहती है।

एनीमिया के लक्षण-

  • थकान रहना
  • चक्कर आना
  • सिर दर्द रहना
  • सीने में दर्द होना
  • त्वचा का पीला पड़ना
  • आँखों के नीचे काले घेरे होना
  • शरीर का तापमान कम हो जाना
  • हथेलियों और तलवों का ठंडा पड़ना

एनीमिया कई बीमारियों की जड़ है इसलिए इसे जड़ से दूर करना ज़रूरी है। ऐसे में अगर अपने आहार में इन पौष्टिक चीज़ों को शामिल कर लिया जाए तो एनीमिया को दूर किया जा सकता है-

हरी पत्तेदार सब्ज़ियां – ब्रोकली, फूलगोभी, पत्तागोभी, पालक, शकरकंद और शलजम जैसी सब्ज़ियां खाने से शरीर में खून बढ़ता हैं।

चुकंदर – आयरन का एक बेहतरीन स्रोत है चुकंदर जिसे रोज़ सलाद या सब्ज़ी के रूप में खाया जाए तो शरीर में खून की कमी होने की समस्या हो ही नहीं सकती ।

फल – अनार, सेब, अंगूर और तरबूज जैसे फल खाने से शरीर में खून बढ़ता है और अनार का नियमित सेवन करने से एनीमिया में काफी फायदा मिलता है।

ड्राई फ्रूट्स – किशमिश, बादाम और खजूर का सेवन करके शरीर में आयरन की कमी को दूर किया जा सकता है।

आज भले ही एनीमिया एक आम समस्या बन गया है लेकिन इसका अर्थ ये नहीं है कि इससे होने वाले नुकसान कम हो गए हैं। इससे जल्द छुटकारा नहीं पाया जाए तो शरीर में खून की ज़्यादा कमी हो जाने पर खून चढ़ाने की नौबत भी आ सकती है और गंभीर स्थिति में हार्ट अटैक भी आ सकता है इसलिए इसकी गंभीरता को समझिये और आयरन युक्त पौष्टिक आहार को अपनाकर एनीमिया की समस्या को खुद से दूर रखिये और सेहतमंद रहकर स्वस्थ जीवनशैली का आनंद उठाइये।

हमने यह लेख प्रैक्टिकल अनुभव व जानकारी के आधार पर आपसे साझा किया है। अपनी सूझ-बुझ का इस्तेमाल करे। आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“खून के बारे में कुछ बेहद रोचक तथ्य”