किडनी स्टोन के कारण और लक्षण

सितम्बर 5, 2018

किडनी स्टोन यानी गुर्दे की पथरी के कई मामले आपने भी अपने आसपास जरूर देखे होंगे क्योंकि किडनी स्टोन होने की समस्या भले ही आम समस्या नहीं है लेकिन इससे ग्रस्त लोगों की संख्या बहुत है। भारत में करीब 11% आबादी इससे ग्रस्त है जिसमें महिलाओं की तुलना में पुरुषों में किडनी स्टोन की ये समस्या 3 गुना ज्यादा है। ऐसे में किडनी स्टोन के बारे में जानना आपके लिए भी फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि किडनी स्टोन के कारण और लक्षणों को जानकर आप इससे बचाव का रास्ता निकाल सकते हैं। तो चलिए, आज किडनी स्टोन के कारण और लक्षण के बारे में बात करते हैं–

किडनी स्टोन क्या है – किडनी स्टोन असल में यूरिनरी सिस्टम (मूत्रतंत्र) की एक बीमारी है जिसमें किडनी में छोटे-छोटे पत्थर जैसे कई टुकड़े जमा होने लगते हैं। इन टुकड़ों को ही पथरी या स्टोन कहा जाता है।

सामान्य तौर पर ये स्टोन्स यूरिन के जरिये शरीर से बाहर निकल जाते हैं लेकिन कई लोगों में ये पथरी बाहर निकलने की बजाये जमा होती जाती है और बहुत तकलीफ पैदा करती है। ये स्टोन कुछ खास तरह के सॉल्ट और मिनरल्स के जमा होने से बनती हैं। इसमें सबसे पहले स्टोन का छोटा टुकड़ा जिसे निडस कहा जाता है, बनता है जिसके चारों तरफ सॉल्ट जमा होता जाता है।

किडनी स्टोन के कारण कई हो सकते हैं जैसे–

कैल्शियम जैसे तत्वों की ज्यादा मात्रा – जब यूरिन में कैल्शियम, ऑक्जलेट, फॉस्फेट और यूरिक एसिड जैसे तत्वों की मात्रा इतनी ज्यादा बढ़ जाती है कि किडनी उन्हें यूरिन के जरिए शरीर से बाहर नहीं निकाल पाती है तो ये तत्व किडनी में जमा होना शुरू कर देते हैं और स्टोन का रूप ले लेते हैं। शरीर में इन तत्वों की मात्रा हमारे आहार के जरिये बढ़ जाती है जैसे खाने में पालक, अरबी के पत्ते, टमाटर, कुएं और बोरवेल के पानी की ज्यादा मात्रा का सेवन करने से।

पानी की कमी – कम मात्रा में पानी पीने से यूरिन भी कम आता है जिसके कारण ये हानिकारक मिनरल्स और सॉल्ट्स शरीर से बाहर नहीं निकल पाते और किडनी में जमा होने लगते हैं इसलिए पानी को पर्याप्त मात्रा में पीया जाना चाहिये।

यूरिन इन्फेक्शन – अगर यूरिन इन्फेक्शन बार-बार हो तो किडनी में स्टोन बनने का ख़तरा काफी बढ़ जाता है।

यूरिन को रोकना – किसी भी कारण से यूरिन को लम्बे समय तक रोके रखना भी स्टोन की समस्या को पैदा कर सकता है क्योंकि लम्बे समय तक यूरिन पास नहीं करने से हानिकारक तत्व शरीर से बाहर नहीं निकल पाते और स्टोन बनाने लगते हैं।

आनुवंशिकता – किडनी स्टोन होने का कारण आनुवंशिक भी हो सकता है यानी पेरेंट्स में किडनी स्टोन की समस्या रहने पर बच्चों को भी ये समस्या हो सकती है।

दवाएं – डाइयुरेटिक्स और ज्यादा कैल्शियम वाले एंटासिड लेने वाले लोगों के यूरिन में कैल्शियम की मात्रा ज्यादा हो सकती है जिसके कारण स्टोन भी बन सकता है।

आइये, अब जानते हैं किडनी स्टोन के लक्षण-

किडनी स्टोन का आकार अगर छोटा होता है तो आसानी से यूरिन के जरिये बाहर निकल जाता है लेकिन अगर ये स्टोन बड़े आकार का होता है तो ये यूरिनरी मार्ग को रोक देता है और बहुत दर्द उत्पन्न करता है। इसके अलावा ये लक्षण भी दिखाई देते हैं-

दोस्तों, किडनी स्टोन के कारण और इसके लक्षणों के बारे में आप जान चुके हैं इसलिए अपने आहार में किसी भी चीज़ की ज्यादा मात्रा का सेवन करने से बचें और पानी पर्याप्त मात्रा में पीएं और इन लक्षणों में से कोई लक्षण दिखाई देने पर तुरंत डॉक्टर से परामर्श लें ताकि आपको ये तकलीफ ज्यादा समय तक ना उठानी पड़े और आप स्वस्थ बने रहें।

हमने आपसे सिर्फ ज्ञानवर्धक जानकारी साझा की है। अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर ले। सदैव खुश रहे और स्वस्थ रहे।

“एंटीबायोटिक क्या होती हैं?”

शेयर करें