जानिए कैसे पड़ा इन कंपनियों का नाम

हम कितनी ही ऐसी कंपनियों की वेबसाइट या प्रोडक्ट इस्तेमाल करते हैं जिनके नाम से तो हम भली भांति वाकिफ हैं मगर उनका मतलब शायद ही हम जानते होंगे। एक उदाहरण के तोर पर जैसे गूगल और यूट्यूब को ही ले लीजिए इनका इस्तेमाल तो हम करते हैं पर क्या इनका मतलब जानते हैं। तो चलिए इसी विषय पर हम आज आपको कुछ ऐसी ही कंपनियों के नाम के पीछे छुपा अर्थ बताने जा रहे हैं।

1. विकिपीडिया – विकिपीडिया के नाम का अर्थ इसके कार्य से बहुत मेल खाता है विकी का अर्थ होता है क्विक (जल्दी) और पेडिया का अर्थ होता है इनसाइक्लोपीडिया जिसका अर्थ होता है ऐसी जगह जहाँ हर बात की जानकारी मिल सके।2. ट्विटर – इस शब्द का वैसे कोई शाब्दिक अर्थ नहीं है पर इस शब्द को कंपनी के नाम के रूप में इस्तेमाल करने का मुख्य कारण था की कंपनी यह चाहती थी कोई ऐसा नाम हो जो इस तरह का हो की ज़ुबान पर चढ़ जाये।3. रेडिट – इस नाम को दो अंग्रेजी भाषा के शब्द रीड और इट को जोड़ के बनाया गया है जिसका अर्थ होता है इसे पढ़ें।4. गूगल – इस शब्द को मैथमेटिकल टर्म के अनुरूप रखा गया है जिसका अर्थ होता है 1 जिसके पीछे 100 शून्य लगे हों। इस नाम को इसलिए इस्तेमाल किया गया क्योँकि यह google के द्वारा किये गए काम को चिरतार्थ करता है।5. यूट्यूब – यू तुबे का अर्थ है आपका टीवी जो आप कही भी कभी भी चला सकते है। यहाँ तुबे शब्द को टीवी के लिए उपयोग में लिया गया है।6. फ्लिपकार्ट – फ्लिप कार्ट में फ्लिप का अर्थ है पेज बदलते रहे और कार्ट को शॉपिंग के लिए इस्तेमाल किया गया है।7. ईबे – यह नाम कंपनी के मुख्य नाम इको बे को छोटा करके रखा गया है।8. इंस्टाग्राम – इस नाम को 2 अंग्रेजी शब्दों में विभाजित किया है जो की इस प्रकार है इंस्टा मतलब तुरंत, ग्राम को टेलीग्राम की तेज़ी के रूप में इस्तेमाल किया गया है।9. फेसबुक – यह वेबसाइट हार्वर्ड विश्वविद्यालय के छात्रों की आपस में जानपहचान बढ़ाने के लिए बनायीं गयी थी जिसे बाद में आम जनता के लिए भी बनाया गया। इसके नाम का अर्थ है आपका चेहरा ही आपकी पहचान है।10. पिंट्रेस्ट – इस वेबसाइट का नाम पिनबोर्ड को ध्यान में रखते हुए रखा गया था। इसी वजह से इसकी कार्यप्रणाली भी वैसी ही है।