जीवन का सक्सेस मंत्र

फरवरी 28, 2016

जीवन में खुशी, सफलता और आत्मीय शांति इतनी आसानी से प्राप्त नही होती. आपको इसके लिए मेहनत करनी पड़ती है. इन खुशियों को आपको पैदा करना पड़ता है. ऐसे में स्वयं की खुशी के लिए ज़रूरी अभ्यासों का पता लगाएं और उन्हें निरंतर करें. यह हम सभी जानते है कि मन की खुशी के लिए किया हुआ कार्य ही विचारों को जन्म देता है. अब यह हम पर ही निर्भर करता है की हम अपने विचारों को रचनात्मक कार्य में लगाते हैं या नकारात्मक कार्य में. जहां हमारा फोकस होता है, वहां पे क्रिएशन होता है और ब्रह्मांड की सारी शक्तियां हमारे कार्य को करने लगती हैं. अगर हमारा फोकस सकारात्मक कार्य पर है. लेकिन जैसे ही हमारा फोकस नेगेटिव हुआ वहां परमात्मा से कनेक्शन भी टूट जाता है और ब्रह्मांड की शक्तियां भी हमारा साथ नही देती. फलस्वरूप अशांति, दुःख, भय, चिंता जैसी नकारात्मक विचारों का जन्म होने लग जाता है. जिससे हम अपने आप से ही प्रश्न करने लग जाते है. कैसे खुद को परफेक्ट बनायें, कैसे खुद को प्रसन्न रखे, कैसे सफलता का मुकाम तय करे, कैसे कुछ अच्छे का अभ्यास करे? जानिए जीवन का सक्सेस मंत्र.

स्वयं के जीवन में महत्वपूर्ण क्षेत्रों में बेहतरीन नतीजे प्राप्त करने के लिए सबसे अच्छा और आसान उपाय है रोजाना कुछ अच्छे का अभ्यास करते रहना. अभ्यास भी ऐसे हो जो सकारात्मक मानसिकता को बनाएं रख सके. इन सकारात्मक विचारों में कुछ भी हो सकता है जैसे कि सुबह के समय डायरी लिखना, जिसमे आप अपनी भावनाएं, लक्ष्य, विचार और जीवन से जुड़ी हर अच्छी-बुरी यादों को संजोकर रख सकते है. आप चाहे तो आप दिन की शुरुआत टहलना, शारीरिक कसरत और संतुलित खान-पान से भी कर सकते है. कई लोग मधुर संगीत सुनने के साथ अपने दिन की शुरुआत करते है. तो कई महानुभवी सफलता सूत्र के लिए किताबों को पढ़ना पसंद करते है. आप इनमें से या इसके अलावा कुछ भी अच्छे का अभ्यास क्यों ना करें आपको एक नई उर्जा की अनुभूति दिन-प्रतिदिन दुगनी महसूस होगी, जिससे आपका जीवन बेहतर से बेहतरीन बनता जायेगा.

अब प्रश्न यह है कि सबसे अहम चीज़ों पर फोकस कैसे बनाएं रखें? इस प्रश्न को हम कुछ इस तरह समझते है-

”हर दिन ऐसे जियों जैसे कि वो दिन तुम्हारा आखरी दिन हो.”

इस विचार की सच्चाई को समझे कि जीवन बहुत छोटा सा है और यह कोई नही जनता कि कब इसका अंत हो जाए. इसलिए अपनी निजी प्राथमिकताओं में व्यस्त रहना एक बहुत ही अच्छा अभ्यास है. हर दिन सुबह उठते ही खुद से पूछियें, ‘अगर आज का दिन मेरे जीवन का अंतिम दिन होता तो मैं इसे कैसे जीता.’ यह कोई प्रेरक अभ्यास नही है, बल्कि यह अभ्यास आपको अपने दिन के प्रति अधिक प्रतिबद्ध और समर्पित बनाने में जरूर सक्षम है. हममें से अधिकांश व्यक्ति जीवन को आजादी से चलने देते है – जिसमें हम अपने जीवन रूपी कार के स्टियरिंग व्हील को पकड़कर सोते रहते है और दिन हफ्ते में, हफ्ते महीनों में और महीने सालों में कब बदल जाते है यह तब पता चलता है जब अंतिम सांसें जीवन में दस्तक दे रही होती है. फिर हम यह सोचते रह जाते है कि आख़िर सारा जीवन क्या करते हुए बित गया.

इसलिए रोज सोचिए, आज आपका आखरी दिन है. स्वयं को अपने जीवन के नाम समर्पित कर दीजिए. जोखिम से डरना छोड़िये. हर जोखिम को अवसर के रूप में देखिए. थियोडोर रूजवेल्ट के यह अनमोल विचार आपको प्रेरणा देंगे-

”इतिहास में कभी भी आसानी से जीवन जीने वाले किसी आदमी ने याद रखने लायक नाम नहीं छोड़ा है.”

संघर्ष का सामना कीजिए. जीवन के प्रति थोड़ा उदार भी बानिए. अपने सपने को सार्थक कीजिए. अपना सच कहिए. जीवन रूपी सौंगात के लिए ईश्वर के प्रति सम्मान व आभार व्यक्त कीजिए. यकीन मानियें इस दृष्टिकोण से आप आज जगमगायेंगे और कल, आज से भी ज्यादा सफलताओं की बुलंदिया छू लेंगे. फलस्वरूप, दुनिया आपको एक महान व्यक्तित्व के तौर पर सदा याद करती रहेगी.

अब यह आप पर निर्भर करता है कि आप आज क्या रचने वाले है? प्रभाव और विरासत दोनों ही हमारे पसंदीदा शब्दों में से एक है. महानता और सफलता के लिए कुछ ऐसा शुरू कीजिए, यह आपकी मृत्यु के साथ खत्म नही होगा, आपके द्वारा शुरू किया हुआ महान कार्य किसी के लिए विरासत तो किसी के लिए प्रभाव के रूप में जीवंत रहेगा. ओपरा विनफ्रे का यह अनमोल विचार जरूर आपकी मदद करेगा –

”अगर आपको अपने जीवन के लक्ष्य प्राप्त करने हैं तो आपको अपनी आत्मा से शुरुआत करनी होगी.”

इसलिए मरने की चिंता मत कीजिए और जीवन के बारे में सोचिए, उसकी परवाह कीजिए. आज के दिन आप क्या रचने वाले है? जीवन के प्रति आज आपका योगदान क्या रहेगा? आज आप कौन-कौन से डर को जीतने वाले है? आप आज कौन सी ग़लती को सुधारने वाले है? इस तरह आप अपने जीवन और कार्य प्रदर्शन के जरिए फर्क को पैदा करके अमर हो सकते है.

जीवन का सक्सेस मंत्र जरूर याद रखिए – ”सफलता का एक आसान फार्मूला है, आप अपना सर्वोत्तम दीजिये और हो सकता है लोग उसे पसंद कर लें.”

“20 ऐसे सुविचार जो हर किसी के जीवन में जोश भर दें”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें