क्योँ जल्दी थक जाते हैँ आप ?

1628

मॉडर्न युग ने भले ही लोगोँ को आधुनिक सुविधाएँ देकर उनके काम को पहले से आसान बनाया हो लेकिन यह अपने संग बहुत सी परेशानियाँ लेकर भी आया है। आजकल बढते काम के दबाव मेँ लोग अपनी जीवनशैली को बद से बदतर बनाते जा रहे हैँ। जिसके कारण लोगोँ को जल्दी थक जाना, नींद न आना जैसी ढेरोँ परेशानियोँ का सामना करना पड रहा है। आपको भी अपने ऑफिस, बसोँ, ट्रेनोँ व मेट्रो मेँ लोग अक्सर झपकियाँ या उबासियाँ लेते हुए दिख जाएंगे। कुछ लोग तो दिन की शुरूआत मेँ ही ऊर्जावान नहीँ बल्कि बेहद सुस्त दिखाई देते हैँ। कुछ समय पहले तक जहाँ सिर्फ बुजुर्ग लोग ही जल्दी थक जाने की शिकायत करते थे, वहीँ वर्तमान समय मेँ, बच्चोँ से लेकर नौजवान तक हर कोई इस परेशानी का सामना कर रहा है। अगर आपका नाम भी ऐसे लोगोँ मेँ शुमार है जो बेहद जल्दी थक जाते हैँ और हमेशा सुस्त ही महसूस करते हैँ तो जानिए आपके हमेशा थके रहने के पीछे का असली कारण-

बीमारी का घर
आज मनुष्य का शरीर बीमारियोँ का घर बनता जा रहा है। आपको अपने आसपास ऐसे बहुत से लोग मिल जाएंगे जो हाइपोथाइराइड, मोटापा, कैंसर, ट्यूबरक्यूलोसिस आदि से ग्रसित होँ। इस प्रकार की गंभीर बीमारियाँ मनुष्य की सभी ऊर्जा को खत्म कर देती है, जिसके कारण उन्हेँ हमेशा थके रहने का अहसास होता है। इतना ही नहीँ, इस प्रकार की बीमारियाँ मनुष्य की नीन्द भी छीन लेती हैँ। हालांकि नीन्द न आना या कम नीन्द आना देखने मेँ कोई बीमारी नहीँ लगती। लेकिन वास्तव मेँ यह इतनी बडी बीमारी होती है कि इससे मनुष्य का जीवन अस्त-व्यस्त हो जाता है और वह हमेशा ही थका रहता है। इसलिए इसका सही समय पर निदान बेहद आवश्यक है। अगर आपको भी लगता है कि आप नीन्द न आने से परेशान है तो तुरंत विशेषज्ञ से सम्पर्क करेँ। हो सकता है कि आपको ओएसए अर्थात ऑब्स्ट्रेक्टिव स्लीप एप्निया हो। यह एक ऐसी बीमारी होती है जिसके कारण व्यक्ति को सारा दिन थकावट होती है।

जीवनशैली है जिम्मेदार
हमारी थकावट का एक मुख्य कारण हमारी जीवनशैली भी है। आज व्यक्ति बढते काम के बोझ तले दो-दो शिफ्ट करता है। साथ ही बच्चोँ से लेकर बडे सभी जंक फूड को बडे चाव से खाते है। इतना ही नहीँ, आज हर कोई दिनभर मोबाइल, टीवी या इंटरनेट पर ही लगा रहता है। जिससे हमारी सारी एनर्जी इन्हीँ चीजोँ मेँ खर्च हो जाती है और कुछ रचनात्मक कार्य करने के लिए हमारे पास ऊर्जा ही नहीँ बचती। वैसे दिन भर रहने वाली यह थकान न सिर्फ हमारे कार्य पर नकारात्मक असर डालती है, बल्कि इससे अक्सर मनुष्य को मेमोरी लॉस, मूड स्विंग, टेंशन, जैसी अनेकोँ परेशानियोँ का सामना करना पडता है।

“दिन की बेहतरीन शुरुआत चाहते है तो ये करिये”
“डर को काबू करने के उपाय”
“सोने से पहले करें ये 6 काम किस्मत चमक जाएगी”
“जानिए एक बेहतर दिनचर्या कैसी होनी चाहिए”

Add a comment