कोलकाता की पुलिस सफेद वर्दी क्यों पहनती है?

मार्च 14, 2018

खाकी वर्दी पुलिस की पहचान है आपने पुलिस को हमेशा खाकी रंग की पोशाक में ही देखा होगा क्योंकि वो पुलिस की यूनिफॉर्म होती है। लेकिन अगर आप कभी कोलकाता गए हों तो आपने देखा होगा की वहां की पुलिस खाकी रंग की नहीं बल्कि सफ़ेद रंग की वर्दी पहनती है। ऐसे में आप भी सोच रहे होंगे की जब पूरे देश में सभी जगह पुलिस की खाकी वर्दी लागू है तो कोलकाता की पुलिस की वर्दी सफ़ेद रंग की क्यों है? दरअसल इसके पीछे इतिहास और एक विशेष कारण है।

दरअसल आजादी से पहले हमारे देश पर अंग्रेजों की हुकूमत चलती थी। 1845 में अंग्रेजी शासन ने ही कोलकाता पुलिस का गठन किया था। उस समय ये विचार किया गया की कोलकाता की पुलिस की वर्दी का रंग क्या रखा जाये और फिर ये फैसला लिया गया की वहां की पुलिस की यूनिफॉर्म सफ़ेद रंग की होगी। इसके पीछे भी एक वजह थी और वो थी वहां का मौसम। दरअसल कोलकाता समुद्र के समीप बसा होने के कारण वहां के वातावरण में हमेशा नमी बनी रहती है और गर्मी काफी तेज होती है। ऐसे में पुलिस की वर्दी का सफ़ेद रंग का चुनाव इसलिए किया गया ताकि सूर्य की तेज किरणे सफ़ेद रंग से रिफ्लेक्ट हो जाये और ज्यादा गर्मी ना लगे। बस तभी से लेकर अब तक वहां की पुलिस का सफ़ेद रंग की वर्दी पहनना जारी है।

कोलकाता पश्चिम बंगाल की राजधानी है और आपको बता दें की पश्चिम बंगाल में दो तरह की पुलिस काम करती है जिनमे से कोलकाता की पुलिस की वर्दी ही सफ़ेद रंग की है बाकी पूरे बंगाल की पुलिस खाकी रंग की ही वर्दी पहनती है और वो इसलिए क्योंकि बंगाल पुलिस का गठन साल 1861 में किया गया था और बंगाल पुलिस के DGP सीधा राज्य सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपते हैं और बंगाल पुलिस खाकी रंग की वर्दी का इस्तेमाल करती है। इस वजह से कोलकाता और बाकी पुलिस की वर्दी में फर्क देखने को मिलता है।

“पुलिस की वर्दी का रंग खाकी क्यों होता है?”

Featured Image Source

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें