इस पत्थर को 7 हाथी मिलकर भी नहीं ला सकते जानिए क्या है खास

हमारे देश में कई प्रकार के आश्चर्य देखने को मिल जाते हैं। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे पत्थर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे हिला पाना किसी के बस की बात नहीं है। एक बार को देखने पर आपको ऐसा लगेगा कि यह पत्थर गिर जाएगा लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। दक्षिण भारत के महाबलीपुरम में स्थित यह पत्थर हर व्यक्ति का ध्यान अपनी तरफ खींचता है।

यह पत्थर करीबन 1200 साल पुराना है और इसकी ऊंचाई करीबन 20 फीट है। यह पत्थर 5 फीट तक चौड़ा है और यह पत्थर एक आधार पर टिका हुआ है। जिसे देखने के बाद आप खुद हैरत में पड़ जाएंगे कि यह पत्थर गिर क्यों नहीं रहा।

या पत्थर एक ढलान पर टिका हुआ है और वैज्ञानिक भी इस बात को आज तक नहीं समझ पाए कि ऐसा क्यों है कि यह पत्थर अपनी जगह पर अडिग है इसके पीछे कई प्राकृतिक कारण भी हो सकते हैं।

1908 में यह पत्थर पहली बार खबरों में आया था जब गवर्नर ऑर्थर लवली ने इस पत्थर को पहली बार अजीब तरीके से खड़ा हुआ देखा था। उनको यह लगा कि यह पत्थर किसी दुर्घटना को अंजाम दे सकता है इसीलिए उन्होंने 7 हाथियों की मदद से इसे खिंचवाना चाहा लेकिन यह पत्थर टस से मस नहीं हुआ।

इस पत्थर से एक कथा जुड़ी हुई है जिसमें माना जाता है कि कृष्ण भगवान ने अपनी बाल अवस्था में यह पत्थर यहां गिरा दिया था। तभी से लोग इस पत्थर को कृष्ण की मक्खन गेंद के नाम से जानते हैं।

“हैरान कर देने वाले कुछ अनोखे और दिलचस्प तथ्य”
“स्वर्ण मंदिर से जुड़े रोचक तथ्य”
“पुलिस की वर्दी का रंग खाकी क्यों होता है? जानिए हैरान कर देने वाला सच”
“लद्दाख के मैग्नेटिक हिल से जुड़े कुछ अनसुने रहस्यमयी तथ्य”