कुछ दवाएं खाली पेट और कुछ खाने के बाद ही लेना क्यों ज़रूरी होता है?

बीमार होने पर जब आप डॉक्टर के पास जाते हैं तो डॉक्टर कुछ दवाएं खाली पेट लेने के लिए कहते हैं और कुछ दवाओं को खाने के बाद लेने के लिए कहते हैं। लेकिन कभी-कभी आपके मन में ये ख्याल ज़रूर आता होगा कि ऐसा क्यों करना है? खाली पेट लें या खाने के बाद, दवा तो अपना असर दिखा ही देगी, लेकिन यही सोच हमें स्वस्थ करने की बजाए और ज़्यादा बीमार भी कर सकती है क्योंकि हर दवा को उसके बताये गए समय पर लेना ही ज़रूरी होता है तभी उससे फायदा होता है और नुकसान से बचाव भी। ऐसे में आप ये जानना चाहते होंगे कि ऐसा करने का क्या कारण है। तो चलिए, आज आपको बताते हैं कि कुछ दवाएं खाली पेट और कुछ खाने के बाद ही क्यों लेनी ज़रूरी होती है –

शरीर की संरचना, बीमारी और दवा में प्रयुक्त हुए सॉल्ट का अनुपात देखने के बाद ही डॉक्टर हर दवा को लेने के लिए अलग-अलग समय बताते हैं।

medicine2 कुछ दवाएं खाली पेट और कुछ खाने के बाद ही लेना क्यों ज़रूरी होता है?

खाली पेट – कुछ दवाएं पानी में जल्दी घुलती हैं, ऐसी दवाओं को खाने से पहले लेना सही होता है क्योंकि खाना खाने के बाद ये दवाएं लेने पर खाने के साथ मिलकर घुलने में काफी समय ले लेती हैं जिससे इनका पूरा असर नहीं हो पाता।

खाने के बाद – आपने गौर किया हो तो दर्दनिवारक दवाएं खाने के बाद लेने को कहा जाता है क्योंकि ये दवाएं पेट में एसिडिटी और अल्सर की समस्या पैदा कर सकती हैं इसलिए इन्हें खाली पेट लेने की बजाए खाने के कुछ समय बाद लिया जाता है। दर्दनिवारक दवाओं के अलावा बीमारी को ठीक करने वाली ऐसी कई दवाएं होती हैं जो अल्सर और एसिडिटी कर सकती हैं इसलिए इन सभी दवाओं को खाने के बाद लिया जाता है।

medicine कुछ दवाएं खाली पेट और कुछ खाने के बाद ही लेना क्यों ज़रूरी होता है?

खाने से आधा घंटा पहले – कुछ ऐसी दवाएं होती हैं जिन्हें खाने से आधे घंटे पहले लेने को कहा जाता है क्योंकि ऐसी दवाओं का असर इन्हें लेने के आधे से एक घंटे के बीच होता है और खाने से आधे घंटे पहले ये दवा ले लेने से अमाशय एक्टिव हो जाता है।

अभी तक भले ही डॉक्टर की कही ये बात आपको भी हैरान करती होगी कि कुछ दवाएं खाने से पहले लेनी है और कुछ दवाएं खाने के बाद। लेकिन अब आप भी जान चुके हैं कि इसका कारण क्या है और इन दवाओं को इनके सही समय पर लेना कितना ज़रूरी है इसलिए अपनी सेहत का इतना ख्याल रखिये कि आपको डॉक्टर के पास जाना ही ना पड़े और अगर कभी ऐसा हो भी जाए तो दवाओं को सही समय पर लेकर, जल्दी से स्वस्थ होने में खुद की मदद भी ज़रूर करिये।

हमने यह लेख प्रैक्टिकल अनुभव व जानकारी के आधार पर आपसे साझा किया है। अपनी सूझ-बुझ का इस्तेमाल करे। आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“सर्दियों में स्वस्थ रहने के लिए जरूर खाएं ये पौष्टिक आहार”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।