पायरिया क्या है?

जनवरी 14, 2018

चमचमाते दांत आपके चेहरे की खूबसूरती और व्यक्तित्व की आभा को बढ़ा देते हैं लेकिन अगर इन दांतों में चमक ना हो तो आपका प्रभावशाली व्यक्तित्व भी फीका लगने लगता है। दिन में कितनी ही बार हम कुछ ना कुछ खाया करते हैं लेकिन अगर खाने के बाद ढंग से दांतों की सफाई नहीं करते हैं तो दांतों से जुड़ी परेशानियां होना शुरू हो जाता है और सही देखभाल और साफ-सफाई के अभाव में दांतों की जो बीमारी सबसे पहले होती है उसका नाम है पायरिया। ऐसे में दांतों के इस रोग के बारे में आपको ज़रूर जानना चाहिए। तो चलिए, आज आपको बताते हैं पायरिया के बारे में–

पायरिया होने के कारण – हमारे मुँह के अंदर करीब 700 प्रकार के, करोड़ों बैक्टीरिया मौजूद होते हैं जो दांतों और मुँह को बीमारियों से बचाते हैं। लेकिन अगर मुँह, दांत और जीभ अच्छी तरह से साफ नहीं किये जाए तो बैक्टीरिया दांतों और मसूड़ों को नुकसान पहुँचाने लगते हैं।

इसके अलावा अगर शरीर में कैल्शियम की कमी हो या मसूड़ों में खराबी हो या दांत और मुँह की ठीक से सफाई ना की जाए तो दांतों में पायरिया रोग हो जाता है। इस रोग में दांतों को सहारा देने वाली जबड़े की हड्डियों को नुकसान पहुँचता है जिससे मसूड़े ख़राब और पिलपिले हो जाते हैं और उनमें से खून भी आने लगता है।

पायरिया के लक्षण-

दोस्तों, अब आप दांतों से जुड़ी इस बीमारी पायरिया के बारे में जान चुके हैं और अब जानते हैं इस बीमारी से बचाव के उपाय।

पायरिया से बचाव के उपाय-

इतना करने के बाद भी, अगर पायरिया हो जाए तो घबराये नहीं। इसका इलाज बहुत आसानी से हो जाता है इसलिए पायरिया के लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और इसका इलाज करा लें। इस इलाज के बाद भी दांतों की देखभाल करने का सही तरीका ही अपनाये ताकि आपके दांत हमेशा मजबूत और चमकदार ही बने रहें और आपके व्यक्तित्व का प्रभाव भी बरकरार रहे।

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“पेशाब से बदबू आने के मुख्य कारण”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

शेयर करें