बुखार आने का कारण

आइये जानते हैं बुखार आने के कारण। मौसम बदलने के साथ सर्दी-जुकाम होने लगता है और मौसम से ज़्यादा प्रभावित होने की स्थिति में बुखार भी आ जाता है। बुखार आने का कारण सिर्फ मौसम के बदलाव ही नहीं होते बल्कि कई प्रकार के संक्रमण भी शरीर के तापमान को बढ़ाकर हमें बीमार कर देते हैं।

ऐसे में ये जानना ज़रूरी है कि बुखार आने का कारण क्या होता है। तो चलिए, आज जानते हैं बुखार आने के कारण।

बुखार आने का कारण 1

बुखार आने का कारण

बुखार में शरीर का तापमान बढ़ जाता है जिसका कारण इन्फेक्शन होता है। हाइपोथैलेमस शरीर के तापमान को नियमित रखता है लेकिन जब पाइरोजेंस नामक केमिकल रक्त में संचरित हो जाता है तब यह रसायन मस्तिष्क के हाइपोथैलेमस हिस्से को प्रभावित करने लगता है जिसके कारण हाइपोथैलेमस के कुछ रिसेप्टर्स का कार्य बाधित हो जाता है और शरीर का तापमान बढ़ने लगता है। इसे डिफेंसिव मैकेनिज्म भी कहा जाता है।

बुखार के दौरान हमें काफी तकलीफ उठानी पड़ती है लेकिन यही बुखार हमारे शरीर के लिए फायदेमंद भी होता है।

बुखार से होने वाले फायदे

  • हमारे शरीर के तापमान पर कीटाणु अपना कार्य कर सकते हैं यानि हमारे शरीर को संक्रमित करके हानि पहुँचाने का कार्य। ऐसी में शरीर अपना तापमान बढ़ाकर ऐसे संक्रमणों से बचाव करता है।
  • बुखार की स्थिति में, शरीर का तापमान बढ़ने से कीटाणु द्वारा अपनी संख्या बढ़ाना आसान नहीं हो पाता।
  • बुखार आने पर हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता दुगुनी हो जाती है।
  • बुखार के समय हमारा शरीर इंटरफेरॉन नामक एंटीवायरल तत्व ज्यादा बनाने लगता है जो खतरनाक वायरस से शरीर की स्वस्थ पेशियों की सुरक्षा करता है।

ऐसे में बुखार की सामान्य अवस्था में उसे तुरंत दबाने के लिए कोई भी दवा और घरेलू नुस्खा करने से बचिए और बुखार को सामान्य रूप से शांत होने दीजिये।

बुखार आने का कारण 2

अगर आपको स्थिति असामान्य नज़र आये तो डॉक्टर से परामर्श लेकर ही दवा लें क्योंकि बुखार आने का कारण कोई भी संक्रमण हो सकता है।

उम्मीद है जागरूक पर बुखार आने का कारण कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

नकारात्मक सोच से छुटकारा कैसे पाएं?

जागरूक यूट्यूब चैनल