जिन्होंने आपको तिरंगा दिया शायद उन्हें आप नहीं जानते

तिरंगा जो हमारे देश की शान है जिसके आगे हम सब नतमस्तक हो जाते हैं। लेकिन क्या कभी आपने यह सोचने की कोशिश की है कि इस तिरंगे को किसने बनाया। आप में से शायद ही कोई होगा जो उनका नाम जानता हो। इसीलिए आज हमने तय किया है कि आपको उस व्यक्ति के बारे में पूरी जानकारी दें।

उस व्यक्ति का नाम है पिंगली वेकैया आपको बता देंगे 1921 में इसी व्यक्ति ने भारत का राष्ट्रध्वज बनाया था।

1916 से 1921 तक पिंगली ने 30 देशों के राष्ट्रीय ध्वज का अध्ययन किया।

सर्वप्रथम तिरंगे के अंदर तीन रंगों का इस्तेमाल किया गया था जिसमें लाल रंग हिंदुओं के लिए हरा रंग मुसलमानों के लिए और सफेद रंग अन्य धर्मों के लिए इस्तेमाल किया गया था। चरखें को प्रगति का चिन्ह मानकर झंडे में जगह दी गई थी।

1931 में जो प्रस्ताव पारित किया गया उसमें लाल रंग को हटाकर केसरिया रंग का इस्तेमाल किया गया।

22 जुलाई 1947 संविधान सभा में राष्ट्रीय ध्वज को सर्वसम्मति से अपना लिया गया बाद में चरखे को हटाकर सम्राट अशोक का धर्मचक्र इस्तेमाल किया गया।

लेकिन इतनी महत्वपूर्ण योगदान के बाद भी पिंगली गुमनामी के अंधेरे में रहे 1963 में पिंडली का विजयवाड़ा के एक झोपड़ी में देहांत हो गया।

2009 में पिंगली वेंकय्या की याद में एक डाक टिकट जारी किया गया एवं जनवरी 2016 में केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने विजयवाड़ा के ऑल इंडिया रेडियो बिल्डिंग में उनकी प्रतिमा स्थापित की.

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment