Li-Fi तकनीक क्या है और क्या फर्क हैं Li-Fi और Wi-Fi में

इंटरनेट के इस दौर में हर किसी की जुबान पर Wi-Fi का नाम रहता है लेकिन बहुत जल्द Wi-Fi से भी एडवांस तकनीक हमारे सामने आने वाली है क्योंकि टेक्नोलॉजी बदलते देर नहीं लगती। अब तक वायरलेस नेटवर्क के लिए वाई-फाई का इस्तेमाल होता आया है लेकिन अब Wi-Fi से 100 गुना तेज़ Li-Fi का जमाना आने वाला है। ऐसे में ये जानना काफी फायदेमंद होगा कि Li-Fi तकनीक क्या है और ये Wi-Fi से किस तरह अलग है। तो चलिए, आज जानते हैं Li-Fi तकनीक के बारे में –

Li-Fi का पूरा नाम है – लाइट फिडेलिटी। इसका आविष्कार एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर हेराल्ड हास ने 2011 में किया । Wi-Fi की तरह ये भी एक वायरलैस नेटवर्किंग सुविधा है।

lifi4 Li-Fi तकनीक क्या है और क्या फर्क हैं Li-Fi और Wi-Fi में

Wi-Fi रेडियो फ्रीक्वेंसी पर आधारित है जबकि Li-Fi प्रकाश पर आधारित सर्विस है जो Wi-Fi के मुकाबले 100 गुना तेजी से डाटा का आदान-प्रदान कर सकती है। इस तकनीक में डेटा ट्रांसमिशन के लिए LED बल्ब का इस्तेमाल किया गया है यानी इस तकनीक में डेटा का ट्रांसफर विज़िबल लाइट कम्युनिकेशन के ज़रिये होता है।

इसके काम करने के तरीके को समझने के लिए आप अपने टीवी के रिमोट का उदाहरण ले सकते हैं क्योंकि ये तकनीक कुछ हद तक टीवी रिमोट की तरह की काम करती है। प्रयोगशाला में जांच के दौरान Li-Fi तकनीक ने प्रति सेकेंड 224 गीगाबाइट की स्पीड प्राप्त की यानी इस तकनीक के ज़रिये 1 जीबी से ज्यादा की 18 फिल्मों को 1 सेकंड में डाउनलोड करना संभव हो जायेगा।

Li-Fi तकनीक का बहुत बड़ा फायदा ये है कि ये Wi-Fi की तरह, दूसरे रेडियो सिग्नल के लिए अवरोध नहीं बनता है इसलिए इसका इस्तेमाल ऐसी जगहों पर बड़ी आसानी से किया जा सकेगा जहाँ रेडियो सिग्नल में अवरोध की समस्या आती है।

lifi2 Li-Fi तकनीक क्या है और क्या फर्क हैं Li-Fi और Wi-Fi में

इतनी सारी खूबियों वाली इस Li-Fi तकनीक में एक खामी भी है कि लाइट पर आधारित होने के कारण ये तकनीक Wi-Fi सिग्नल की तरह, दीवार या किसी ठोस वस्तु के आर-पार जाने में सक्षम नहीं होगी।

इतना सब जान लेने के बाद, आप ये तो समझ ही गए हैं कि Li-Fi के आते ही इंटरनेट की दुनिया एक बार फिर से पूरी तरह बदल जायेगी लेकिन इस तकनीक का आनंद लेने के लिए हमें थोड़ा इंतज़ार तो करना ही होगा, तब तक हमारी इंटरनेट की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए Wi-Fi है ना !

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“PAN कार्ड की गलतियों को घर बैठे इस प्रकार कर सकते हैं ठीक”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

अगर आप किसी विषय के विशेषज्ञ हैं और उस विषय पर अच्छे से लिख सकते हैं तो जागरूक पर जरुर शेयर करें। आप अपने लिखे हुए लेख को info@jagruk.in पर भेज सकते हैं। आपके लेख को आपके नाम, विवरण और फोटो के साथ जागरूक पर प्रकाशित किया जाएगा।
शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment